आग का गोला बनी मालगाड़ी

Bahraich Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
जरवलरोड (बहराइच)। हरियाणा के अशोधा से देवरिया के बैतलपुर जा रही मालगाड़ी के पेट्रोलियम वैगन (टैंक) में शुक्रवार तड़के आग लग गई। मालगाड़ी के डिब्बों में केरोसिन भरा हुआ था। यह हादसा जरवलरोड रेलवे स्टेशन के निकट हुआ। 16 डिब्बे आग की चपेट में आ गये। आग इतनी भयावह थी कि अप और डाउन रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गए है। गोरखपुर-लखनऊ प्रखंड पर ट्रेनों का आवागमन ठप हो गया है। सात ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं जबकि 25 ट्रेनों का मार्ग परिवर्तित किया गया है। सात जिलों के अग्निशमन कर्मियों ने आठ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। लखनऊ और गोरखपुर के रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। आग लगने का कारण पता नहीं चल सका है। घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। लखनऊ, गोंडा, गोरखपुर और बस्ती में कंट्रोल रूम गठित किया गया है। मौके पर अफरातफरी का माहौल है। आपाधापी में मालगाड़ी का सहायक चालक घायल हुआ है। उसे बाराबंकी जिला अस्पताल भेजा गया है।
हरियाणा के अशोधा रेलवे स्टेशन से पेट्रोलियम वैगन (टैंक) में केरोसिन लेकर एक मालगाड़ी देवरिया के लिए रवाना हुई थी। यह मालगाड़ी जब लखनऊ-गोरखपुर प्रखंड पर स्थित जरवलरोड में छतौनी पारा परशुरामपुर गांव के निकट रेलवे क्रॉसिंग संख्या 294 सी से गुजर रही थी तभी इंजन के चालक दल को तेज झटका महसूस हुआ। चालक रामप्रसाद और सह चालक शिवशंकर ने जब खिड़की से झांका तो मालगाड़ी बर्निंग ट्रेन नजर आई। केरोसिन भरे डिब्बों से आग की लपटें निकल रही थीं। तत्काल इमरजेंसी ब्रेक का प्रयोग कर चालकों ने ट्रेन रोकी लेकिन इस दौरान ट्रेन के पहिए पटरी से उतर गए। जल रहे वैगन भी ट्रैक पर ही गिर गए। आग की भीषण लपटें उठने लगीं। इस आपाधापी में सह चालक शिवशंकर चोटहिल हो गया। चालकों ने तत्काल आग लगने की सूचना कंट्रोल रूम को दी। आनन-फानन में लखनऊ-गोरखपुर प्रखंड पर सभी ट्रेनों को जहां की तहां रोक दिया गया। आग बुझाने के लिए लखनऊ, कानपुर, बहराइच, बाराबंकी, बलरामपुर, गोंडा, श्रावस्ती जिलों से दमकल वाहनों को बुलाया गया। आठ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दोपहर पौने 12 बजे आग पर काबू पा लिया गया। लखनऊ और गोरखपुर से रेलवे अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम मौके पर पहुंच गई है। 175 मीटर तक रेलवे ट्रैक आग से क्षतिग्रस्त हुआ है। जले डिब्बों को ठंडा करने के लिए पानी की बौछारें छोड़ी जा रही हैं। डीआरएम बीके यादव ने बताया कि इस हादसे के चलते सात ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया है जबकि 25 ट्रेनों के मार्ग को परिवर्तित किया गया है। हादसे में करोड़ों का नुकसान हुआ है।

जांच रिपोर्ट मिलने पर पता चलेगा हादसे का कारण व नुकसान : डीआरएम
मंडलीय रेल प्रबंधक बीके यादव ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद कहा कि आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है। छह सदस्यीय टीम गठित की गई है। सप्ताह भर में जांच रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही हादसे का कारण पता चल सकेगा। उन्होंने कहा कि 16 वैगन मेें कितना केरोसिन लोड था इसका पता कराया जा रहा है। इसके बाद ही क्षति का आंकलन हो सकेगा। फिलहाल करोड़ों की क्षति का अनुमान है।

कंट्रोल रूप गठित
डीआरएम बीके यादव ने बताया कि लखनऊ, गोंडा, बस्ती, बनारस, बाराबंकी और गोरखपुर में कंट्रोल रूम गठित किया गया है जिससे कि ट्रेनों के परिवर्तित मार्ग की जानकारी यात्रियों को मिल सके। निरस्तीकरण का भी पता चल सके।

Spotlight

Most Read

Meerut

दो सगी बहनों से साढ़े चार साल तक गैंगरेप, घर लौट आई एक बेटी ने सुनाई आपबीती

दो बहनों का अपहरण कर तीन लोगों ने साढ़े चार वर्ष तक उनके साथ गैंगरेप किया। एक पीड़िता आरोपियों की चंगुल से निकल कर घर लौट आई। उसने परिवार को आपबीती सुनाई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper