बच्चे के पोलियो की चपेट में आने की आशंका

Bahraich Updated Sat, 27 Oct 2012 12:00 PM IST
रिसियामोड़ (बहराइच)। एक ओर पोलियो उन्मूलन के लिए स्वास्थ्य महकमा प्रतिरक्षण अभियान चला रहा है, वहीं दूसरी ओर रिसिया कस्बे में पोलियो का केस मिलने से हड़कंप मच गया है। मोहल्ला शास्त्रीनगर निवासी एक बालक के पोलियो की चपेट में आने की आशंका है। चिकित्सक ने उसका स्टूल परीक्षण के लिए दिल्ली व लखनऊ भेजा है। रिसिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से बालक को जिला चिकित्सालय रिफर किया गया है।
रिसिया कस्बे के मोहल्ला शास्त्री नगर निवासी हरीशंकर गुप्ता व्यवसाई हैं। इनका पुत्र अतुल कुमार (10) शुक्रवार सुबह जब जगा तो वह उठ नहीं पा रहा था। उसने पैर में दर्द होने की शिकायत की। पिता हरिशंकर ने पैर में मालिश की फिर भी लाभ नहीं हुआ। इस पर आनन-फानन में उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रिसिया पहुंचाया गया। यहां पर डॉक्टरों ने परीक्षण कर उसे संदिग्ध पोलियो से ग्रस्त पाया। इस पर स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधीक्षक डा. आरके कुरील ने अतुल का स्टूल सैंपल लिया। जिसे परीक्षण के लिए किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज, लखनऊ व नई दिल्ली भेजा गया है। डा. कुरील ने बताया कि बालक को जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया है। जिला अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ डा. केके वर्मा की मौजूदगी में इलाज चल रहा है। डा. वर्मा ने बताया कि अतुल के दोनों पैरों में कमजोरी के कारण ताकत नहीं लग रही है। उन्होंने कहा कि अभी पोलियो की पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन लक्षण जरूर हैं। रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

पोलियो नहीं, होगा एएफपी : सीएमओ
मुख्य चिकित्साधिकारी डा. हरिप्रकाश का कहना है कि पोलियो की तीन श्रेणियां होती हैं। इनमें एक्यूट फ्लोसिड पैरालिसिस, एक्यूट मेलाइसिस और पोलियो शामिल हैं। इस समय पोलियो नहीं हो रहा बल्कि एक्यूट फ्लोसिड पैरालिसिस के केस सामने आ रहे हैं जिसमें नसों की कमजोरी से शरीर का एक अंग प्रभावित होता है। उन्होंने कहा कि स्टूल टेस्ट परीक्षण के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट मिलने पर ही इसकी पुष्टि की जा सकेगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018