नहीं दुरुस्त हो पा रही वैक्सीन की कोल्ड चेन

Bahraich Updated Thu, 27 Sep 2012 12:00 PM IST
बहराइच। मासूमों और गर्भवती को निरोगी रखने के लिए इस समय विशेष टीकाकरण अभियान चल रहा है। दो दिन में 4800 बच्चों व 2500 गर्भवती का टीकाकरण हुआ है, लेकिन लापरवाही के बीच हो रहा टीकाकरण कभी भी स्वास्थ्य महकमे के साथ ही लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। वैक्सीन की कोल्ड चेन व्यवस्थित करने के लिए स्वास्थ्य केंद्रों को सिर्फ बिजली का ही भरोसा है। ऐसे में कभी भी वैक्सीन खराब हो सकती है। खराब वैक्सीन मासूम की जान के लिए खतरा बन सकते हैं। प्रशासन नहीं चेता तो जिले में भी गोंडा जैसी घटना हो सकती है।
जिले की 35 लाख की आबादी पर 14 विकास खंडों में स्थापित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कोल्ड चेन सेंटर स्थापित हैं। इन सेंटरों पर स्थापित फ्रिज को 24 घंटे संचालित करने के आदेश हैं, जिससे फ्रिज में रखी वैक्सीन की कोल्ड चेन बरकरार रहे, लेकिन अधिकांश स्वास्थ्य केंद्रों पर फ्रिज का संचालन बिजली के भरोसे हो रहा है।
ग्रामीण अंचलों में बिजली का रोस्टर एक सप्ताह दिन व एक सप्ताह रात का है। जिसके चलते अगर निरंतर बिजली रहे तो सिर्फ 12 घंटे की सप्लाई मिलती है। ऐसे में 12 घंटे बिना बिजली के समय बीतता है।
जबकि वैक्सीन के 0 डिग्री से हलका भी अधिक तापमान होने पर खराब होने की आशंका रहती है। इसके बावजूद पयागपुर नानपारा, मिहींपुरवा, कैसरगंज आदि स्थानों पर कोल्ड चेन व्यवस्थित रखने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था नहीं है। इस अव्यवस्था के बीच 24 सिंतबर से शुरू हुए विशेष टीकाकरण अभियान में अब तक पूरे जिले में 4800 बच्चों को बीसीजी व डीपीटी की वैक्सीन लगाई गई है। जबकि गर्भवती महिलाओं को टिटनेस का डोज दिया गया है।
बिना ग्लब्स के लग रहा इंजेक्शन
स्वास्थ्य महकमे के मानकों पर ध्यान दें तो इंजेक्शन लगाने के लिए अलग-अलग सिरिंज के साथ ग्लब्स की भी व्यवस्था होनी चाहिए, लेकिन बुधवार को पयागपुर, कैसरगंज, महसी, फखरपुर, जिला चिकित्सालय व नानपारा में बच्चों का वैक्सीनेशन तो होता दिखा, लेकिन किसी भी एएनएम ने ग्लब्स का इस्तेमाल नहीं किया। वरिष्ठ चिकित्सकों का मानना है कि बिना ग्लब्स पहने इंजेक्शन लगाने से व्यक्ति के बांह या हाथ में मौजूद विषाणु के फैलने का खतरा रहता है।
एएनएम के अभाव में 40 सेंटरों पर लटक रहा ताला
जिले के 14 विकास खंडों में 322 मातृ शिशु कल्याण केंद्र स्थापित हैं, लेकिन एएनएम के अभाव में जिले के 40 एएनएम सेंटराें पर ताला लटक रहा है। इनमें पयागपुर के सेंवढ़ा, सतपेड़िया, हटवा हरदास, महसी का सिसैया शामिल हंै। मिहींपुरवा में 19 एएनएम सेंटरों पर ताले लटक रहे हैं। यही स्थिति महसी, कैसरगंज, जरवल, हुजूरपुर और रिसिया क्षेत्रों की भी है।
चार घंटे में खराब हो जाती वैक्सीन
प्रभारी चिकित्साधीक्षक डॉ. एसके सिंह का कहना है कि वैक्सीन 0 डिग्री से निकाले जाने के बाद सामान्य मौसम में अधिकतम चार घंटे तक ही महफूज रह सकती है। उन्होंने कहा कि इसीलिए 8-10 बच्चों के एकत्रित होने पर वायल आइस बॉक्स से निकाला जाता है। उन्होंने बताया कि एक वायल में 8 बच्चों को बीसीजी और डीपीटी का टीका लगता है।
ऐसे करें वायल खराब होने की पहचान
प्रत्येक वैक्सीन वायल में मॉनीटर बना होता है। इस मॉनीटर के ऊपरी हिस्से में गोल सफेद घेरा रहता है। डॉ. एसके सिंह ने बताया कि यह सफेद घेरा जब हल्का बैगनी या कत्थई कलर का होने लगे तो समझना चाहिए कि वैक्सीन खराब हो चुकी है।
जनरेटर चला कोल्ड चेन व्यवस्थित करने के हैं निर्देश
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. हरिप्रकाश का कहना है कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर कोल्ड चेन व्यवस्थित करने के लिए जनरेटर स्थापित है। जनरेटर चलाने के भी निर्देश हैं। अगर जनरेटर नहीं चलवाया जा रहा है तो पता लगाकर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोल्ड चेन की स्थिति जांचने के लिए सभी उपमुख्य चिकित्साधिकारियों को दिशा निर्देश दिए गए हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह होंगे यूपी के नए डीजीपी, सोमवार को संभाल सकते हैं कार्यभार

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह यूपी के नए डीजीपी होंगे। शनिवार को केंद्र ने उन्हें रिलीव कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper