जिले के 358 स्कूलों में टीचर ही नहीं

Bahraich Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
बहराइच। जिले की बुनियादी शिक्षा को नजर लग गई है। शासन और प्रशासन एक ओर शिक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने का राग अलाप रहा है, वहीं नई व्यवस्था से बुनियादी शिक्षा चरमराती नजर आ रही है। शासन की ओर से प्राथमिक शिक्षकों के स्थानांतरण की जारी सूची में बहराइच से गैर जनपदों को 506 शिक्षक स्थानांतरित हो रहे हैं। इनके स्थानांतरण से स्कूलों में ताला लटकने की नौबत आ जाएगी। 358 स्कूल पहले से ही शिक्षक विहीन हैं। 864 स्कूलों में शिक्षकों का संकट उत्पन्न हो जाएगा।
जिले की पैतींस लाख की आबादी पर कुल 2244 प्राथमिक विद्यालय हैं। इनमें 3 लाख 59 हजार 819 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। बेसिक शिक्षा विभाग के मानक के अनुरूप 40 छात्र पर एक शिक्षक की तैनाती होनी चाहिए। इसके तहत जिले के प्राथमिक स्कूलों में 8995 शिक्षकों की आवश्यकता है। लेकिन 2800 शिक्षक-शिक्षिकाएं तैनात हैं। शिक्षामित्रों की संख्या 3600 है। इसके बावजूद मानक पूरा नहीं हो रहा है। शिक्षामित्रों को भी जोड़ लें तो सिर्फ 6400 शिक्षक ही हैं। 2595 शिक्षकों की फिर भी कमी है। जिसके चलते 358 प्राथमिक विद्यालय शिक्षक विहीन हैं। हालांकि यह स्कूल शिक्षामित्रों के सहारे खुल रहे हैं। शासन ने हाल ही में 506 शिक्षकों का स्थानांतरण गैर जनपद किया है। ऐसे में एक साथ 506 स्कूलों में ताला लटकने की नौबत आ जाएगी।
मनमाने तरीके से की गई शिक्षकों की तैनाती
प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षक छात्र अनुपात गड़बड़ होने के लिए विभाग भी कम जिम्मेदार नहीं है। ऊंची पहुंच और रसूख के बल पर शहरी क्षेत्र के स्कूलों में 3 से 4 शिक्षक तैनात हैं। वहीं ग्रामीण अंचलों में तालाबंदी की नौबत है। पयागपुर के प्राथमिक विद्यालय सेमरियांवा में 146 छात्र नामांकित हैं। शिक्षक एक भी नहीं है। शिक्षमित्र रामदेव गिरि ही शिक्षण कार्य करते हैं। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय देवरिया में 95 बच्चे नामांकित हैं। यहां भी दो शिक्षामित्रों के सहारे स्कूल खुल रहा है। रुपईडीहा कस्बे में स्थित प्राथमिक विद्यालय प्रथम में 217 छात्र नामांकित हैं। यहां पर एक शिक्षक और दो शिक्षामित्र तैनात हैं। वहीं केवलपुर गांव में तीन शिक्षामित्रों के सहारे 150 छात्रों की पढ़ाई हो रही है। नगर क्षेत्र के पुलिस लाइन प्राथमिक विद्यालय में 218 छात्र हैं। यहां पर प्रधानाध्यापिका मीना श्रीवास्तव के अलावा तीन सहायक शिक्षक तैनात हैं। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय बड़ीहाट में 120 छात्र हैं। यहां एक प्रधानाध्यापिका, एक सहायिका और एक शिक्षामित्र की तैनाती है।
उच्चाधिकारियों को लिखा है पत्र : बीएसए
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हिफजुर्रहमान ने स्वीकार किया कि 506 शिक्षकों के तबादले से शिक्षकों की भारी कमी जिले में होगी। इस मामले में संयुक्त निदेशक से बातचीत हुई है। अन्य उच्चाधिकारियों को भी पत्र लिखा जा रहा है। बीएसए ने कहा कि समायोजन की सूची भी बंद स्कूलों व स्थानांतरित शिक्षकों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही है। जिससे कि पहले से मनमाने तरीके से तैनात शिक्षकों को व्यवस्थित किया जा सके।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018