राप्ती निगल गई कई एकड़ कृषि भूमि

Bahraich Updated Tue, 14 Aug 2012 12:00 PM IST
श्रावस्ती। जिले में राप्ती का जलस्तर तो घट रहा है लेकिन कटान तेज हो रही है। बीते 24 घंटे में राप्ती कई एकड़ कृषि भूमि को काट कर अपनी धारा में मिला चुकी है। कछार में बसे ग्रामीण एक एक कर भूमिहीन हो रहे हैं।
राप्ती नदी के घट रहे जलस्तर के चलते इसकी धारा तेजी से अपने किनारों को काट रही है। इसके चलते जमुनहा क्षेत्र के कलकलवा प्राथमिक विद्यालय व वीरपुर लौकिहा स्थित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय सहित अर्द्ध निर्मित ग्राम सचिवालय कटान की जद में है। कलकलवा में राप्ती 30 एकड़, बरगदहा व रामपुर में 40-40 एकड़, बांसगड़ी में 60 एकड़, दयाली में 25 एकड़ एवं वीरपुर लौकिहा में करीब 15 एकड़ कृषि भूमि काट चुकी है। वहीं मजगवां, तिलकपुर, मनिकाचौक, सुजानडीह, इमिलिया, अमवा, मुजेहना, अतरपरी, जिवनारायणपुर, बगहा, बिराहिमपुर सहित करीब 28 गांवों में राप्ती लगभग 50 एकड़ कृषि भूमि फसलों सहित अपनी धाराओं में मिला चुकी हैं। दिन प्रतिदिन राप्ती की कटान से भूमिहीन हो रहे कछार के ग्रामीणों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। अपर जिला अधिकारी आरके सिंह बताते हैं कि हल्का लेखपाल व राजस्व निरीक्षक मौके की निगरानी कर रहे हैं। इसके साथ ही वह स्वयं व जिलाधिकारी भी मौका मुआयना कर रही हैं।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018