विज्ञापन

धनतेरस के लिए बाजार गुलजार

Lucknow Bureau Updated Sun, 04 Nov 2018 10:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बहराइच। धनतेरस सोमवार को है। बाजार सज गए हैं। सराफा बाजार चमक रहा है। विभिन्न उत्पाद नए ट्रेंड में लोगों को लुभा रहे हैं। वाहन और इलेक्ट्रॉनिक्स बाजार में आज ग्राहकों की भीड़ जुटेगी। व्यवसायियों को लगभग 10 करोड़ रुपये के कारोबार की उम्मीद है।
विज्ञापन
धनतेरस के मौके पर खरीदारी की परंपरा है। लोग तैयारियों में जुटे हैं। शहर के चौक बाजार, छावनी, घंटाघर, स्टीलगंज तालाब, पीपल चौराहा मार्केट में दुकानें दुल्हन की तरह सजी है। सबसे ज्यादा रौनक सराफा और बर्तन की दुकानों पर है। व्यवसायी और खरीदार दोनों को इंतजार है भोर होने का।

सराफा व्यवसायी पंकज रस्तोगी का कहना है कि चांदी के सिक्कों और बर्तनों की मांग धनतेरस में अधिक रहती है। पुराने सिक्कों के साथ गणेश लक्ष्मी के सिक्के भी उपलब्ध हैं। आगरा और राजकोट में निर्मित चांदी और सोने के आभूषण व बर्तन की मांग अधिक है।

बर्तन व्यवसायी टीसू सिंह ने बताया कि स्टील, फूल, पीतल और गिलट के बर्तन अलग-अलग रेंज में धनतेरस की बिक्री के लिए तैयार हैं। कटोरी व अन्य बर्तन 35 रुपये से 350 रुपये प्रति पीस के रेंज में उपलब्ध हैं। लोटा फूल 400 से 800 रुपये प्रति किलो बिक रहा है।

फूल की थाली 1150 रुपये प्रति पीस है। स्टील गिलास 45 से 80 रुपये में बिक रहे हैं। उन्होंने कहा कि बर्तन कानपुर, बनारस और लखनऊ से मंगाए गए हैं। प्रति वर्ष धनतरेस के मौके पर बनारस और कानपुर के बर्तनों की मांग अधिक रहती है। चम्मच से लेकर बड़े बर्तन विभिन्न मूल्यों में उपलब्ध हैं।

व्यवसायी राजेश का कहना है कि इस वर्ष बीते वर्ष की अपेक्षा महंगाई 10 से 15 फीसदी बढ़ी है। इसका असर भी बाजार पर पड़ सकता है। इलेक्ट्रॉनिक व वाहन बाजार ग्राहकों को लुभाने के लिए ऑफर दे रहे हैं। कोई भारी डिस्काउंट का बोर्ड लगाए है तो कोई किस्तों पर सामान मुहैया कराने का दावा कर रहा है। व्यापारियों के मुताबिक इस बार 10 करोड़ से अधिक का कारोबार होने की उम्मीद है।

दो करोड़ के सराफा कारोबार की उम्मीद
वरिष्ठ सराफा व्यवसायी पंकज रस्तोगी ने बताया इस बार व्यवसाय बेहतर होने की उम्मीद है। सराफा व्यापार मंडल के पूर्व अध्यक्ष राकेश वर्मा ने बताया कि इस समय सोने और चांदी के भाव सामान्य स्तर पर है। धनतेरस पर खरीदारी अधिक होने की उम्मीद नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष अनुमान के मुताबिक दो करोड़ से अधिक का सराफा का व्यवसाय हो सकता है।

चांदी से बने सामान कीमत (रुपये)
पांच ग्राम चांदी का डालर - 300
पुराना चांदी का सिक्का - 800
नया सिक्का (गणेश लक्ष्मी) - 425
चांदी के नोट -350 से 600 तक

ढलुवा सिक्कों से करें परहेज
सराफा व्यवसायी राकेश कुमार ने बताया कि विक्टोरिया के पुराने सिक्कों को ढलुवा बनाकर बाजार में बेचा जा रहा है। इन सिक्कों की पहचान यह है कि किनारे पर खांचा नहीं होता। शुद्धता भी कम होती है। उन्होंने बताया कि पुराने विक्टोरिया के सिक्के 91.60 प्रतिशत शुद्ध होते हैं।

बर्तनों का मूल्य (रुपये प्रति किलो)
बर्तन वर्तमान बीते वर्ष
बाल्टी 210 180
परात 240 200
रैक 220 200
डोल्ची 280 250
गिलास व थाली 350 300

इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों पर लुभावने ऑफर
व्यवसायी मनीष मल्होत्रा ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों पर आकर्षक ऑफर दिए जा रहे हैं। उपभोक्ता ऑनलाइन वस्तुओं की कीमत देखकर खरीदारी कर रहे हैं। ऐसे में ऑनलाइन से कम रेट पर टीवी, फ्रिज समेत अन्य सामान ग्राहकों के लिए उपलब्ध हैं। अचानक स्मार्ट टीवी की डिमांड बढ़ी है।

लोग घर के अंदर बैठकर इस टीवी पर वीडियो कॉलिंग करना चाहते हैं। वाशिंग मशीन की डिमांड अधिक है। रेफ्रिजरेटर, वाटर प्यूरीफायर की भी डिमांड अधिक है। विशेषज्ञों की मानें तो दो करोड़ से अधिक का इलेक्ट्रॉनिक बाजार का कारोबार रहेगा।

वाहनों की जमकर होगी खरीदारी
वाहन बाजार सजकर तैयार है। टीवीएस कंपनी के मालिक ने बताया कि बाइक की बुकिंग हो रही है। कोटेशन बनवाने के लिए लोगों की काफी भीड़ लगी है। इससे लग रहा है कि धनतेरस के दिन बड़े पैमाने पर खरीदारी होगी। यही स्थिति सुजकी, बजाज व चार पहिया वाहनों के शोरूम की है। वाहन विशेषज्ञों के मुताबिक वाहन का कारोबार भी जिले में कम से कम पांच करोड़ से अधिक का रहेगा।

सिर्फ 1.57 घंटा रहेगा मुहूर्त
पंडित नारायण शरण दीक्षित ने बताया कि इस बार धनतेरस पर सामान खरीदने का शुभ मुहूर्त सिर्फ एक घंटे 57 मिनट के लिए होगा। यह मुहूर्त धनतेरस के दिन सोमवार को शाम 6.20 बजे से शुरू होकर रात 8.17 बजे तक ही रहेगा। इस दिन धन के देवता भगवान कुबेर और माता लक्ष्मी की पूजा की जाएगी।

ऐसे पाएं लक्ष्मी की कृपा
धनतेरस के मौके पर लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए गोधूलि बेला में घी का दीपक आंगन के बीच जलाकर रखना होगा। आंगन में दीपक रखने से पूर्व कड़वा तेल का चौमुखी दीपक जलाकर चौराहे पर रखें। जहां पर दीपक रखना होगा वहां पर हल्दी का चौका लगा दें। इससे दरिद्रता का नाश होगा। इसके बाद घर के आंगन में दिया जलाएं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Lucknow

खेत पर गई महिला को जिंदा चबा गया बाघ, क्षत-विक्षत शव मिला

बहराइच के कतर्नियाघाट रेंज के जंगल में खेत पर गई एक महिला को बाघ जिंदा चबा गया। काफी देर तक महिला के देर तक घर न लौटने पर जब खोजबीन शुरू हुई तो उसका क्षतविक्षत शव बरामद हुआ।

9 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

यूपी के बहराइच में 45 दिनों के अंदर 70 बच्चों की मौत

उत्तर प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के योगी सरकार के दावे बहराइच में फेल होते नजर आ रहे हैं। यहां 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत रहस्यमयी बुखार की वजह से हो चुकी है।

21 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree