महापंचायत में जयंत की हुंकार

Baghpat Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
बड़ौत। मलकपुर मिल में गन्ना भुगतान को लेकर चल रहे धरने के 48वें दिन रालोद के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद जयंत चौधरी महापंचायत में भाग लेने पहुंचे। उन्होंने कहा कि जब तक गन्ने का भुगतान नहीं हो जाता तब तक धरना जारी रहेगा। कहा कि चौधरी साहब किसानों के साथ हैं।
जयंत ने कहा कि गन्ने का भुगतान न होना गंभीर विषय है। 48 दिनों से चल धरने को लेकर अजित सिंह भी चिंतित हैं। कहा कि किसानों के संघर्ष के लिए रालोद हमेशा आगे रहा है और यह लड़ाई अब आरपार की लड़ाई होगी। उन्होंने कहा कि अब कोई बहाना चलने वाला नहीं है, किसानों को हर हाल में भुगतान मिलना चाहिए। कहा कि बसपा सरकार ने तो मिल बचने का काम किया था, अब सपा सरकार गन्ना भुगतान रुकवाने का काम कर रही है। उन्होंने इस मामले को संसद में उठाने का वादा किया। कहा कि प्रदेश में गन्ना मिलों पर किसानों का पांच सौ करोड़ रुपये बकाया है लेकिन सरकार उनकी आरसी तक जारी नहीं करवा रही है। एनसीआर क्षेत्र में बागपत का 33 प्रतिशत क्षेत्र आता है लेकिन जनपद के साथ अन्याय किया जा रहा है। इस संबंध में अजित सिंह ने मांग उठाई है और इसकी लड़ाई भी लड़ी जा रही है। उन्होंने कहा कि चौधरी अजित सिंह किसानों के साथ हैं। महापंचायत की अध्यक्षता चौधरी छोटा सिंह व संचालन लोयन प्रधान अनिरुद्ध ने किया। इस अवसर पर छपरौली विधायक वीरपाल राठी, रालोद नेता अश्वनी तोमर, जिला पंचायत अध्यक्ष योगेश धामा, जिलाध्यक्ष धनपाल गुर्जर, मंडल अध्यक्ष सुखवीर गठिना, मुनेश बरवाला, देश खाफ के मुखिया सुरेंद्र चौधरी, चौबीसी चौधरी बलजोर सिंह, वीरेंद्र राठी, रामकुमार चेयरमैन, संजीव शबगा, सत्यपाल राणा, प्रवीण तोमर, सुरेश राणा, महावीर सिंह, सतीश चौधरी, रणवीर सिंह, विवेक चौधरी, राजू तोमर आदि थे।


चेयरमैन के बोलते ही हंगामा
महापंचायत में जब गन्ना विकास समिति के चेयरमैन हरेंद्र सोलंकी बोलने को खड़े हुए तो किसानों ने हंगामा कर दिया। हरेंद्र सोलंकी ने कहा कि उन्होंने 85 गांवों के गन्ना क्रय केंद्रों के प्रस्ताव मंगा लिए है और लखनऊ भेजे जा रहे है लेकिन किसानों ने उनकी बात अनसुनी कर दी।

बारिश में डटे रहे किसान
भारी बरसात के बाद भी महापंचायत में किसानों की भीड़ नहीं टूटी। मिल परिसर में बारिश के दौरान किसान भीगते रहे और मिल के कांटों की छतों पर भी किसान खड़े रहे। वहीं जयंत का जगह-जगह भव्य स्वागत किया गया। उनके साथ प्रमोद पालीवाल, शीलचंद जैन, मनोज जैन, अजय गोयल, पुष्पेंद्र, अनिल जैन, अमित थे।

संसद में उठाया जाएगा मामला
महापंचायत के बाद जयंत ने पत्रकारों को बताया कि वे इस मामले को संसद में उठाएंगे। यह पूछे जाने पर कि रालोद के कुछ नेता दिखाई नहीं दे रहे है इस पर उन्हाेंने कहा कि उन्हें सब जानकारी है लेकिन इसका सबक यहां की जनता सिखाएगी।

नेताओं को मंच पर चढ़ने नहीं दिया
महापंचायत में आयोजकों ने उन्हीं नेताओं को मंच पर चढ़ने दिया जो उनके धरने में उनका साथ दे रहे थे। उन्हाेंने माइक पर ऐलान किया कि मंच पर कोई ऐसा नेता नहीं चढ़ेगा जो जयंत चौधरी को अपनी सूरत दिखाने आया है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायक के इस बयान से मुश्किल में पड़ सकते हैं केजरीवाल, कहा- '...ऐसे अधिकारियों को ठोकना चाहिए'

केजरीवाल के आवास पर मुख्य सचिव से हाथापाई मामले में फजीहत झेल रही आम आदमी पार्टी अपने एक विधायक के विवादित बयान से बड़ी मुश्किल में फंस सकती है।

24 फरवरी 2018

Related Videos

बागपत में ग्रामीणों और ठेकेदार के बीच पत्थरबाजी और फायरिंग

बागपत में दो पक्षों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई और फायरिंग हुई। रेत खनन के लिए रास्ता बनाने का विरोध कर रहे ग्रामीणों पर ठेकेदार पक्ष के गुट ने फायरिंग कर दी। जिसमें काफी लोग घायल हो गए।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen