यमुना का जलस्तर फिर बढ़ा

Baghpat Updated Wed, 22 Aug 2012 12:00 PM IST
बागपत। पिछले तीन चार दिनों में हुई बारिश का असर नदियों के जलस्तर बढ़ने के रूप में नजर आने लगा है। यमुना में भी मंगलवार को तेजी से जल की धारा तेज हो गई। हथनीकुंड बैराज से 32 हजार क्यूसेक पानी निकला जो शाम को यहां पहुंच गया। इसके बहाव में पक्का घाट के नजदीक बना लकड़ी का अस्थाई पुल एक बार फिर बह गया। इससे पहले जब यमुना में पानी आया था, तब भी यह पुल बह गया था। इसके अलावा नदी के आस पास रहने वाले लोगों में बेचैनी बन गई है कि कहीं यह जल स्तर और ना बढ़ जाए। वैसे पिछले दिनों 80 हजार क्यूसेक पानी आया था। दो साल पहले एक ही दिन में पांच लाख क्यूसेक से भी ज्यादा पानी नदी से होकर गुजर गया था, लेकिन लगातार खनन होने से स्थिति बिगड़ रही है। नदी समतल नहीं रह गई है जिसके चलते पानी आने पर आस पास के इलाकों में खतरा बन जाता है। सबसे ज्यादा परेशानी की बात ये है कि पानी आने पर बच्चे और युवक इसमें नहाने के लिए दौड़ते हैं। पिछली बार नहाते समय नौ युवक डूब गए थे जिनमें से पांच की मौत हो गई थी। यमुना के किनारे पर चेतावनी बोर्ड भी लगवाए गए हैं जिन पर लिखा है कि नदी में ना नहाएं लेकिन लोग मानते नहीं है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बागपत: पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ जवान गिरफ्तार

बागपत में पत्नी की हत्या के आरोप में बीएसएफ के जवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी जवान की पत्नी गीता की लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

23 जनवरी 2018