धुंध का आगोश में डूबी रही आजमगढ़ की सुबह

ब्यूरो,अमर उजाला,आजमगढ़ Updated Fri, 10 Nov 2017 11:57 PM IST
The morning of Azamgarh, steeped in haze of mist
धुंध - फोटो : अमर उजाला
आजमगढ़।  धुंध का असर दूसरे दिन भी जिले में बना रहा। शुक्रवार सुबह लोगों की नींद खुली तो वो कोहरे की चादर में जकड़े हुए थे। संदिग्ध धुंध से जहां जिला अस्पताल में पहुचने वाले सांस रोगियों की संख्या में इजाफा हो गया है।
वहीं, दृश्यता कम होने के कारण वाहनों की रफ्तार पर भी ब्रेक लग गया है। दिन में भी वाहनों की लाइटें जलती रहीं। 11 बजे धूप निकलने के बाद कोहरे का असर कम हुआ।

सरकारी स्कूलों में तो शुक्रवार को चेहलुम का अवकाश था, लेकिन प्राइवेट स्कूल खुले हुए थे। सबसे ज्यादा परेशानी स्कूल जाने वाले बच्चों और नौकरीपेशा लोगों को हुई। कोहरे के बीच में सिकुड़ते हुए बच्चे किसी तरह स्कूल पहुंचे।

पूर्वाह्न 11 बजे सूर्यदेव ने दर्शन दिए। इसके बाद कोहरा छंटना शुरू हो गया। इसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली। शाम को जल्द ही बाजार और अपना काम जल्दी निपटाकर घर लौट आए। शाम होते ही सड़कों पर चहल-पहल कम हो गई।

सांस और दिल के रोगियों का जिला अस्पताल में जमावड़ा
आजमगढ़। सांस और दिल के रोगियों पर ये संदिग्ध धुंध भारी पड़ने लगी है। जिला अस्पताल के एसआईसी डॉ. जीएल केशरवानी ने बताया कि पिछले दो दिन में सांस, दमा और दिल के रोगी बड़ी संख्या में जिला अस्पताल पहुंच रहे हैं।

दो दिन में 357 मरीजों का खुद इलाज कर चुके हैं। जिला अस्पताल में रोजाना 1300 से 1400 लोगों की ओपीडी होती है। पांच फीजीशियन हैं। दो दिन के भीतर ऐसे 700 लोग चेकअप के लिए जिला अस्पताल पहुंचे हैं।

सभी स्वेटर और मास्क पहनकर अस्पताल से बाहर निकलने की सलाह दी जा रही है। इन रोगों से पीड़ित लोगों को कोहरे के बीच घर से बाहर निकलने से परहेज करना चाहिए। ये धुंध पंजाब और हरियाणा की तरह खतरनाक तो नहीं है, लेकिन सांस और दिल के रोगियों के लिए इसमें भी खतरा बना रहेगा।

नाक में खुजली और एलर्जी की भी परेशानी रहेगी, क्योंकि वातावरण में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।

धूप निकलेगी तो मिलेगी राहत
आजमगढ़। कृषि वैज्ञानिक आरके सिंह ने बताया कि यदि इसी तरह से धूप खिलती है और हवा चलती है तो रवि की बुआई करने वालों किसानों को राहत मिलगी। कोहरा बरकरार रहने की स्थिति में तापमान गिरेगा जो रवि की फसलों की बुआई के लिए हानिकारक होगा। बुआई पिछड़ सकती है। हवा चलने और दूप निकलने से धुंध का असर कम हो सकता है।

ट्रेनों की लेटलतीफी शुरू
मेजवां। उत्तरी भारत में पड़ रहे कोहरे के चलते ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है। ट्रेनें ने 10 से 12 घंटा विलंब से से स्टेशनों पर पहुंच रही हैं। शुक्रवार को दिल्ली से आजमगढ़ आने वाली कैफियात एक्सप्रेस (12226) 12 घंटे लेट आजमगढ़ स्टेशन पर पहुंची। आजमगढ़ से दिल्ली तक जाने वाली कैफियात एक्सप्रेस (12225) सात घंटे विलंब से रवाना हुई।

इसके चलते यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। अधिक विलम्ब के कारण सरयू यमुना (14649) को निरस्त कर दिया गया। वहीं, सप्ताह में तीन दिन तक शाहगंज-आजमगढ़ के रास्ते चलने वाली अजमेर-किशनगंज एक्सप्रेस दस घंटा विलम्ब से चल रही है। ट्रेनों के अधिक विलम्ब से स्टेशनों पर आने के कारण शुक्रवार को आजमगढ़, खुरासन रोड और शांहगज स्टेशनों पर प्लेटफार्म पर अफरातफरी का माहौल बना रहा।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर को उतराखंड से मिलाने के दिए संकेत

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर को उतराखंड में मिलाने के संकेत दिए। उन्होंने कहा कि सहारनपुर को उत्तराखंड में मिलाने की मांग काफी समय से उठ रही है।

20 फरवरी 2018

Related Videos

दफ्तर में डांस करना पड़ा भारी, वीडियो हुआ वायरल

आजमगढ़ में वाट्सअप पर वायरल हुए एक वीडियो ने हड़कंप मचा दिया। बीआरसी केंद्र पल्हनी के इस वीडियो में बीआरसी के कर्मचारी फिल्मी गीतों पर नाचते हुए दिखाई दे रहे हैं।मामला जब बढ़ा तो दो कर्मचारियों की सेवा समाप्त कर दी गई है।

19 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen