विज्ञापन
विज्ञापन

जिंदा को साबित कर दिया मृतक, लेखपाल पर होगी एफआईआर

Varanasi Bureauवाराणसी ब्यूरो Updated Mon, 16 Sep 2019 11:33 PM IST
ख़बर सुनें
आजमगढ़/सगड़ी। ग्राम गोड़इतपट्टी निवासी रामअवतार और रामआधार को राजस्व अभिलेखों में फर्जी तरीके से मृतक दर्शाने की शिकायत जनसुनवाई के दौरान जिलाधिकारी से की गई थी। जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने एसडीएम सदर को उक्त प्रकरण की जांच करने के निर्देश दिए थे। जांच में आरोप सही पाए जाने पर कर्मचारी पन्नालाल और राजनरायन सिंह के खिलाफ तत्काल एफआईआओर करने के निर्देश कोतवाली जीयनपुर को दिए हैं।जांच के बाद प्रस्तुत की गई तहसीलदार की रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्राम अमलोनी के खाता संख्या 114 और ग्राम गोड़इतपट्टी के खाता संख्या 12 व 13, ग्राम कसड़ा आइमा के खाता संख्या 28 और 40, ग्राम कसड़ा खालसा के खाता संख्या 25 की जमीन रामआधार और रामअवतार की थी। तत्कालीन लेखपाल और राजस्व निरीक्षक ने रामअधार और रामअवतार को मृत दिखा दिया, जबकि दोनों जीवित थे। इससे जमीन शेष खातेदार इन्द्रजीत और राजेन्द्र पुत्र रामबली व रामदुलारी पत्नी रामबली का नाम हो गई। उन्होंने उक्त साढ़े तीन बीघे जमीन को बेच भी दी है।कोलकाता में रह रहे विकलांग रामावतार 15 अगस्त 2012 को गोड़इत पट्टी पहुंचे। मृतक संघ के लालबिहारी के साथ अपने जिंदा होने की लड़ाई लड़ी। वर्ष 2014 में उन्हें कागजात में जिंदा किया गया। राम अवतार ने 12 सितंबर को उक्त भूमि खरीदने वाले और बेचने वाले पर मुकदमा भी दर्ज कराया था। इसमें पुलिस ने बाद में फाइल रिपोर्ट लगा दी थी। जमीन पर कब्जा न मिने पर राष्ट्रपति के यहां गुहार लगाई थी। इसी शिकायत के आधार पर डीएम ने जांच कराई थी।
विज्ञापन
एसडीएम की रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्राम गोड़इतपट्टी, कसड़ा आइमा व कसड़ा खालसा पर गलत आदेश चार जुलाई 2019 को तत्कालीन लेखपाल पन्नालाल और राजस्व निरीक्षक राजनरायन सिंह ने किया था। ग्राम अमलोनी के संबंध में गलत आदेश छह जुलाई 2019 को तत्कालीन लेखपाल रामविजय शाही और राजस्व निरीक्षक राजनरायन सिंह ने किया था। पन्नालाल मण्डल परशुरामपुर तहसील सगड़ी में कार्यरत हैं। इनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई है। तत्कालीन लेखपाल रामविजय शाही सेवानिवृत्त हो चुके हैं और उनकी मौत हो चुकी है। तत्कालीन राजस्व निरीक्षक राजनरायन सिंह तहसील सदर से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। डीएम के निर्देश पर तत्कालीन राजस्व निरीक्षक राजनरायन सिंह पर विभागीय कार्रवाई के लिए भूलेख कार्यालय को भेजी गई है। दोषी कर्मचारी पन्नालाल और राजनरायन सिंह के खिलाफ एफआईआर के निर्देश कोतवाली जीयनपुर को दिए गए हैं। साथ ही डीएम ने एसपी को इस प्रकरण में 2014 में दर्ज मामले में पुनर्विवेचना तथा तत्कालीन विवेचक की जांच के आदेश दिए हैं। एसपी की ओर से भी जांच शुरू कर दी गई है।
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Azamgarh

झांसा देकर किया बलात्कार, वीडियो किया वायरल

झांसा देकर किया बलात्कार, वीडियो किया वायरल

17 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

चीन है नकल में माहिर, इन लग्जरी गाड़ियों को कॉपी कर बनाए सस्ते मॉडल

दुनिया की तमाम शानदार लग्जरी कारों के चीनी वर्जन मौजूद हैं, यहां तक कि चीन की निगाह से सबसे महंगी कारें बनाने वाली रॉल्स रॉयस भी नहीं बच सकी है। आइए देखते हैं अब तक चीन किन कारों की बना चुका है कार्बन कापी..

18 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree