'My Result Plus

प्रेमी ने वंदना को उतारा था मौत के घाट

Azamgarh Updated Fri, 28 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
आजमगढ़। प्रेम की राह में कांटा बनने वाली जमाने की दुश्वारियां बर्दाश्त न होने पर प्रेमी युगलों द्वारा आत्मोत्सर्ग की राह पकड़ लेने की घटनाएं आए दिन कलेजा हिलाती रहती हैं। अपने मीत के साथ न जी पाने की कसक में सिधारी थाना क्षेत्र के घोरठ गांव में किराए के मकान में रहने वाली वंदना पत्नी बबलू ने भी अपने प्रिय के हाथों ही जान देने का फैसला कर लिया था। खुद की सटाकी फाड़ कर अपना पांव बांधते वक्त न तो उसके हाथ कांपे और न अपने मनमीत से गला कसवाते समय दिल। पर इसे अंजाम देने में हिल गया उसके मीत का ही कलेजा और अपनी जान देने के स्थान पर उसने वहां से भाग जाना बेहतर समझा। यह खुलासा हत्यारे ने पुलिस गिरफ्त में आने के बाद किया।
गुरुवार को पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त राकेश खरवार पुत्र विरेंद्र मऊ जिले के शहर कोतवाली क्षेत्र के भदेसरा गांव का निवासी है। हाइडिल कालोनी सिधारी पर मां के साथ रहता था। दो वर्ष पूर्व वंदना शर्मा से राकेश की जान पहचान हुई थी। इसके बाद दोनों एक-दूसरे से प्रेम करने लगे। यह बात वंदना की मां शांति देवी को नागवार लग रही थी। वह नहीं चाहती थी कि वंदना राकेश के साथ रहे।
इसलिए वंदना की मां ने उसकी शादी देवगांव कोतवाली क्षेत्र के बैरीडीह गांव निवासी मो. शादिक उर्फ बबलू पुत्र शब्बीर के साथ कर दी थी। एक माह पूर्व से बबलू आरटीओ कार्यालय के सामने किराए का कमरा लेकर वंदना के साथ रह रहा था। बबलू रोडवेज में अनुबंधित बस का चालक था इसलिए वह घर पर बहुत कम रहता था। इसी बीच राकेश का वंदना के घर आना-जाना होने लगा। वंदना राकेश को अपना मौसेरा भाई बताती थी। 22 दिसंबर को राकेश ने वंदना को अपने साथ भाग चलने को कहा, लेकिन वह तैयार नहीं हुई, बल्कि वंदना ने राकेश से कहा कि मुझे मारकर तुम भी फांसी लगाकर जान दे दो। एसपी के अनुसार राकेश ने बताया कि घटना के वक्त वंदना ने स्वयं अपनी सटाकी फाड़ी और पैर बांध लिया और राकेश से कहा कि अब मेरा गला कपड़े से कस दो। इसके बाद राकेश ने वंदना का गला घोंटकर उसे मौत के नींद सुला दिया। इसके बाद वह खुद भी मरना चाहता था लेकिन उसकी हिम्मत नहीं हुई और वह फरार हो गया। पुलिस ने गुरुवार की सुबह साढ़े दस बजे के आसपास उसे शाहगढ़ बाजार के पास से गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि मामले की गुत्थी सुलझाने में लगी सिधारी पुलिस और एसओजी टीम को डीआईजी ने 25 सौ रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

NH 24 पर बड़ा हादसा, कार में बैठे बच्चे की एक छोटी सी गलती ने सेकेंडों में ले ली 7 लोगों की जान

इस हादसे में तीन मासूम व दूल्हे के पिता समेत सात लोगों की मौत हो गई।

21 अप्रैल 2018

Related Videos

आजमगढ़ विकास भवन के बाहर प्रदर्शन, ‘लाश’ बन लेटे लोग

यूपी के आजमगढ़ में शनिवार को अलग ही नजारा दिखने को मिला। यहां मेंहनगर विकास खंड में जन कल्याण विकलांग सेवा समिति, भिखईपुर, के दिव्यांग एडीएम प्रशासन लवकुश त्रिपाठी के समर्थन में उतर गए।

8 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen