घटाव पर घाघरा, देवारा अंचल में कटान तेज

Azamgarh Updated Sat, 29 Sep 2012 12:00 PM IST
लाटघाट। सगड़ी तहसील क्षेत्र में घाघरा नदी के घटने पर भी बाढ़ पीड़ितों की मुसीबत बरकार है। देवारा अचल नगर में कटान तेज हो जाने से किसानों की खेती योग्य जमीन घाघरा में समाती जा रही है। लगभग एक किमी. के रेंज में कटान होने से किसानों में हड़कंप मचा है। बाढ़ से घिरे चक्की गांव में मलेरिया का प्रकोप बढ़ जाने से लोगों का जीना दूभर हो गया है।
बता दें कि घाघरा नदी अब खतरे के निशान से खिसक कर लगभग 46 सेमी. नीचे चली गई है। चक्की, देवारा अचल नगर सहित दर्जन भर से अधिक पुरवे अभी भी घाघरा की बाढ़ के साथ ही कटान का भी दंश झेल रहे हैं। देवारा अचल नगर के गरीब दूबे पुरवा निवासी सुरेंद्र, जगई, झिनई, रामसरन दूबे पुरवा निवासी शीला, रामबाज, सालिक, देवारा अचल सिंह पुरवा निवासी विनोद, रामजनम, देवारा गोपाल दूबे पुरवा निवासी सतिराम, रामनाथ, चंद्रभान, देवारा भिक्षुक का पुरवा निवासी छत्रधारी, तूफानी की खेती योग्य जमीन घाघरा की लहरों से कट रही है। किसानों ने बताया कि एक किमी. केरेंज में प्रति दिन लगभग एक एकड़ जमीन घाघरा निगल रही है। इधर बरामदपुर, टेकनपुर, सहनूपुर गांव में ग्रामीण जहां वायरल फीवर से बेहाल हैं, वहीं चक्की गांव में मलेरिया का प्रकोप बढ़ गया है। चक्की गांव में श्रीराम यादव, हरीश, रूपा, ज्योति, अरुण यादव, आशीष, अंसिका, अवधेश, नीतू सहित दर्जनों बच्चे मलेरिया से पीड़ित होकर बेड पर पड़े हैं। इलाज के लिए गांव में विभाग की टीम के न जाने से मलेरिया और बढ़ता जा रहा है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बिजली कनेक्शन काटने पर SDO की हुई पिटाई

आजमगढ़ में बिजली बिल वसूल करने गए बिजली विभाग के SDO की जमकर पिटाई हो गई।

23 दिसंबर 2017