छह माह में नहीं हुआ कोई शिलान्यास

Azamgarh Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
आजमगढ़। सपा सरकार के छह महीने के कार्यकाल में विधानसभा चुनाव में किए गए लोकलुभावन घोषणापत्र को अमलीजामा पहनाने पर नजर डालें तो इन छह महीनों में जिले में एक भी शिलान्यास नहीं हुआ। इस अवधि में सिर्फ लोकलुभावन वादे ही पूरे होते नजर आए। अभी तक बेरोजगारी भत्ता को छोड़ अन्य योजनाओं की प्रक्रिया आधी अधूरी पड़ी है। उत्साही बेरोजगार और छात्र योजनाओं का लाभ पाने के लिए जहां मारा-मारी कर रहे हैं, वहीं किसान मायूस हैं। उन्हें मुफ्त में बिजली देने का वादा अभी भी हवा-हवाई ही है। कर्जमाफी का वादा भी फुस्स हो गया। विकास के नाम पर अभी तक लोहिया और समग्र गांवों को चिन्हित नहीं किया गया है। सड़क, शिक्षा ,स्वास्थ्य सुविधाएं अब भी बदहाल हैं। वृद्धा,विधवा,विकलांग पेंशन के लिए आज भी हजारों लोग दफ्तरों का चक्कर काट रहे हैं।
सपा ने विधानसभा चुनाव के दौरान कन्या विद्या धन,बेरोजगारी भत्ता दोबारा शुरू करने के साथ ही हाई स्कूल पास छात्रों को टैबलेट, इंटर पास को लैपटाप, रिक्शा चालकों को बैटरी चालित रिक्शा, किसानों को मुफ्त बिजली, कर्जमाफी, गरीबों के लिए आवास, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाएं और सस्ती करने सहित तमाम वादों के साथ ही जिले के विकास पर जोर दिया था। इनमें बेरोजगारी भत्ता का लाभ पाने के लिए अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री बनने से पूर्व ही बेरोजगारों की फौज रोजगार दफ्तर पर उमड़ पड़ी थी और छह महीने तक बेरोजगार आवेदन पत्र ही जमा करते रहे। अब शासन स्तर पर भत्ता देने की शुरूआत के साथ यह वादा लोगों को पूरा होता नजर आ रहा है। इधर जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय अभी भी कन्या विद्या धन, टैबलेट, लैपटाप देने के लिए विद्यालयों से लाभार्थियों की सूची एकत्र करने में जुटा है। जबकि नगरीय विकास अभिकरण (डूडा) तीन माह पूर्व ही रिक्शा चालकों को बैटरी चालित रिक्शा देने की योजना को अमल में लाने के लिए आधी-अधूरी सूची शासन को भेज कर रिक् शा वितरण का इंतजार कर रहा है। गरीबों के लिए अखिलेश सरकार की बसेरा योजना का अभी जिले में पता नहीं है। इधर लालगंज तहसील के ओघनी गांव निवासी किसान अभिमन्यु सिंह, जितेंद्र सिंह, खनियरा निवासी शोभनाथ, बडवापार निवासी विनोद सिंह, बरवा निवासी नरायन लाल,सरांवा निवासी प्रमेाद का कहना है कि सपा ने सत्ता में आने पर किसानों को लुभाने के लिए मुफ्त बिजली, कर्ज माफी की भी घोषणा की थी, इसके विपरीत किसानों को बिजली नहीं के बराबर मिल रही है। चार से पांच घंटे बिजली पर बिल चुकता करना मंहगा पड़ रहा है। मुफ्त बिजली और कर्ज माफी तो दूर बैंक का कर्जा वसूल करने के लिए खेती की जमीन की नीलामी करने पर जिला प्रशासन तुला हुआ है। सपा सत्ता में आने पर पूर्व के अंबेडकर ग्राम्य विकास योजना को बंद कर लोहिया और समग्र गांव योजना की शुरूआत की। इन दोनों योजनाओं के तहत गांवों का चयन अभी शासन स्तर पर लंबित पड़े हैं। अलबत्ता चक्रपानपुर स्थित मेडिकल कालेज को शुरू करने करने का काम जारी है। जिले की खस्ताहाल सड़कों के लिए करोड़ों की राशि अवमुक्त की गई, लेकिन अभी निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है।


शीघ्र शुरू होगा मेडिकल कालेज, चालू होगी चीनी मिल
आजमगढ़। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री बलराम यादव ने अखिलेश सरकार के छह माह पूरे होने पर कहा कि जिले के विकास के लिए तमाम योजनाएं प्रक्रिया में हैं। अक्टूबर माह से बेरोजगारी भत्ता, कन्या विद्या धन, टैबलेट, लैपटाप का वितरण शुरू हो जाएगा। इसी वित्तीय वर्ष में मेडिकल कालेज शुरू होने के साथ ही सठियांव चीनी मिल को भी चालू करने की सारी औपचारिकता पूरी कर ली जाएगी। इसके अलावा मेडिकल कालेज को फोर लेन सड़क से जोड़ा जा रहा है। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर बनाने के लिए एनआरएचएम के तहत एंबुलेंस सेवा और सीएचसी पर 50-50 बेड का महिला अस्पताल खोला जाएगा। यहीं नहीं कृषि विश्व विद्यालय खोलने के लिए जमीन की तलाश की जा रही है।


मुलायम और अखिलेश खुद जिले में लाएंगे सौगात
आजमगढ़। प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री वसीम अहमद ने सरकार के छह महीने पूरे होने पर जिले के विकास को लेकर कहा कि अभी तीन जुलाई को बजट पास हुआ है। मुख्यमंत्री अखिलेश ने बजट में आजमगढ़ को प्राथमिकता दिया है। जिला विकास में कहीं से भी पीछे नहीं रहेगा। अगले साल जिले में विकास दिखने लगेगा। बजट में कृषि विश्वविद्यालय, मेडिकल कालेज के लिए धन की व्यवस्था की गई है। सभी गांवों को सड़कों से जोड़ने का कार्य शुरू किया जाएगा। कब्रिस्तानों और श्मशान घाट की सुरक्षा के लिए निर्माण कार्य शुरू किए जा रहे हैं। उन्हाेंने कहा कि सपा के घोषणापत्र में शामिल 90 फीसदी कार्यों को अमल में लाने के लिए काम चल रहा है। बेरोजगारी भत्ता, कन्या विद्या धन, लैपटाप, टैबलेट वितरण की तैयारी अंतिम दौर में पहुंच गई है। खुद नेता जी मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद जिले में विकास की सौगात ले कर आएंगे।


किसानों के साथ बुनकरों की भी मिलेगी मुफ्त बिजली
आजमगढ़। समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि सरकार बिजली संकट को दूर करने के लिए पर्याप्त बिजली पैदा करने के लिए काम कर रही है। बिजली उत्पादन में प्रदेश को आत्म निर्भर हो जाने पर किसानों के साथ ही बुनकरों को भी मुफ्त बिजली दी जाएगी। किसानों और बुनकरों की कर्जमाफी की प्रक्रिया जारी है। किसानों के हित में पांच लाख का कृषक बीमा दुर्घटना लागू कर दिया गया है।
श्री यादव ने कहा कि चक्रपानपुर स्थित मेडिकल कालेज को शुरू करने के लिए शासन से धन अवमुक्त कर दिया गया है। इसके अलावा अतरौलिया में सौ बेड का अस्पताल प्रस्तावित है। जबकि नगर के महिला अस्पताल के उच्चीकृत करने के लिए मंजूरी दी गई है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बिजली कनेक्शन काटने पर SDO की हुई पिटाई

आजमगढ़ में बिजली बिल वसूल करने गए बिजली विभाग के SDO की जमकर पिटाई हो गई।

23 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls