जगदीशपुर हत्याकांड में सांसद रमाकांत दोषमुक्त

Azamgarh Updated Wed, 08 Aug 2012 12:00 PM IST
आजमगढ़। जिले के बहुचर्चित जगदीशपुर हत्याकांड मामले में आरोपी बनाए गए सांसद रमाकांत यादव समेत चार आरोपियों को अदालत ने संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया। फैसला सुनाए जाने के बाद सांसद ने इसे सत्य की विजय बताया। वहीं दूसरे पक्ष की पैरवी कर रहे राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष आमीर रशादी ने न्याय के लिए हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने को कहा।
मुकदमे के अभियोजन पक्ष के अनुसार बीते 12 अगस्त 2009 को फूलपुर थाना क्षेत्र के जगदीशपुर के समीप उलेमा कौंसिल और भाजपा समर्थकों के बीच हुए संघर्ष में गोली लगने से अब्दुल रहमान की मौत हो गई थी। इस दौरान सरायमीर थाना के पवई लाडपुर गांव निवासी जाहिद पुत्र मुश्ताक तथा फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के ऊदपुर गांव निवासी जाहिद पुत्र खालिद घायल हो गए थे। इस मामले में आमिर रशादी ने सांसद सहित चार के विरुद्ध हत्या और हत्या के प्रयास का मुकदमा फूलपुर कोतवाली में दर्ज कराया था। विवेचना के बाद पुलिस ने सांसद के साथ ओबैदुर्रहमान, घनश्याम उर्फ धंमशू, लालमनी यादव के विरुद्ध 20 नवंबर 2009 को आरोप पत्र दाखिल किया था। मुकदमे के परीक्षण के दौरान अभियोजन पक्ष की तरफ से मुकदमे के वादी आमिर रशादी, घायल जाहिद पुत्र मुश्ताक, फरहान अख्तर, परवेज अख्तर, डा. जीएस खान, अब्दुल कलाम, डा. रामकिशोर पटेल, डा. केएन पांडेय, एसआई तेज प्रताप सिंह, राजेंद्र प्रसाद, एसएचओ सूर्यभान सिंह, कांस्टेबिल दयानंद, नागेंद्र प्रसाद सिंह, कांस्टेबिल मुश्ताक अहमद, विधि विज्ञान प्रयोगशाला वाराणसी से ओम प्रकाश सिंह, कांस्टेबिल बसंत सरोज, ज्येष्ठ वैज्ञानिक लालमनि राम, डा. पीबी प्रसाद, रामदुलारे यादव, पुलिस अधीक्षक रमित शर्मा, सीओ शैलेंद्र कुमार राय और सीओ बबलू कुमार बतौर साक्षी परीक्षित किए गए। जिला सत्र न्यायाधीश एसके पांडेय ने अभियोजन और बचाव पक्ष के तर्को को सुनने के बाद आरोपी बने सांसद रमाकांत सहित चारों लोगों को संदेह का लाभ देेते हुए हत्या, हत्या के प्रयास के आरोपों से बरी कर दिया। इस मामले में अभियोजन पक्ष की तरफ से जिला शासकीय अधिवक्ता पीआर सरोज, प्राइवेट कौंसिल शिवधनी सिंह और बचाव की पक्ष की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता स्वामीनाथ यादव और आद्या प्रसाद दूबे ने मामले में अपने पक्षों को रखा था।




Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बिजली कनेक्शन काटने पर SDO की हुई पिटाई

आजमगढ़ में बिजली बिल वसूल करने गए बिजली विभाग के SDO की जमकर पिटाई हो गई।

23 दिसंबर 2017