धनाभाव के चलते ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य ठप

Azamgarh Updated Mon, 14 May 2012 12:00 PM IST
आजमगढ़। बेलईसा रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज का निर्माण शुरु होते ही जनपदवासियों का चेहरा खिल उठा था। लेकिन चार वर्ष बाद भी निर्माण कार्य न पूरा होने से वही लोग अब दुखी हैं। जबकि निर्माणदायी संस्था कभी बजट का रोना तो कभी मजदूर न होने का दुखड़ा सुना रही है। दूसरी तरफ मार्ग परिवर्तन की वजह से प्रतिदिन हजारों यात्रियों को अधिक समय और पैसा खर्च करके यात्रा पूरी करनी पड़ रही है।
आजमगढ़-वाराणसी मुख्य मार्ग पर स्थित बेलईसा रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज न होने की वजह से प्राय: लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। खासतौर से ट्रेन आते समय लोगों को आधा-आधे घंटे तक परेशानी झेलनी पड़ती थी। कई-कई बार वीआईपी और वीवीआईपी लोगों को भी इस मुसीबत का सामना करना पड़ता है। उपरोक्त समस्याओं के मद्देनजर वर्ष 2007-08 में बेलईसा रेलवे क्रासिंग के पास ओवरब्रीज का निर्माण कार्य शुरू हुआ। साढ़े उन्नीस करोड़ रुपए की लागत से तैयार होने वाले इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की जिम्मेदारी सेतु निगम को सौंपी गई। निर्माण कार्य शुरू होने के महज दो माह बाद ही काम बंद हो गया। इस मामले में जब अधिकारियों ने रुचि दिखाई तो सेतु निगम वाहनों का आवागमन होने की बात कहते हुए मामले से पल्ला झाड़ लिया।तत्त्कालीन मंडलायुक्त और डीएम के निर्देश पर यातायात व्यवस्था फिर सिधारी हाल्ट के पास से घुमाकर छतवारा मोड़, हुसैनगंज होते हुए करवा दिया गया। मार्ग परिवर्तन के बाद निर्माण कार्य शुरू हुआ। इसी बीच घटिया सामग्री प्रयोग होने की सूचना पर तत्कालीन मंडलायुक्त मधुसुदन रायजादा ने निरीक्षण किया। कार्यों में गुणवत्ता के साथ-साथ किसी भी दशा में 31 दिसंबर 2011 तक निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिया था। बावजूद इसके निर्माण कार्य आज तक पूरा होने की बात तो दूर रही। कार्य ही ठप हो गया। सेत निगम के डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर के एस चौरसिया का कहना है कि बजट के अभाव में निर्माण कार्य ठप है। शासन को और बजट के लिए पत्र भेजा गया है। क्योंकि स्वीकृत धनराशि का पूरा बजट अभी तक नहीं मिल सका है। इस संबंध में जिलाधिकारी प्रांजल यादव ने कहा कि जल्द ही सेतु निगम के अधिकारियों से इस संबंध में वार्ता की जाएगी।
इनसेट
रेलवे भी अड़ा रही हैं टांग
आजमगढ़। बेलइसा रेलवे क्रासिंग पर निर्माणाधीन ओवरब्रीज में दो पावा रेलवे विभाग को भी बनाना है। लेकिन रेलवे विभाग के कानों में जू तक नहीं रेंग रहा। जबकि निर्माण कार्य पूरा करने के लिए कई बार अधिकारियों को ज्ञापन तक सौंपा जा चुका है।
सूत्रों की मानें तो पिछले दिनों आजमगढ़ रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने पहुंचे डीआरएम ने भी इसे जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया था। लेकिन उदासिनता के चलते अभी तक कोई ठोस पहल नहीं हो सकी। जिसकी वजह से सेतु निगम भी अपने कार्य को पूरा करने में लापरवाही बरत रहा है। क्योंकि निगम का मानना है कि हम अपना कार्य पूरा करके ही क्या करेंगे। जब तक रेलवे विभाग रेलवे पटरी के दोनों तरफ पावा नहीं खड़ा करेगी। ओवरब्रीज का निर्माण होकर भी बेकार पड़ा रहेगा।
इनसेट
लोनिवि मंत्री को सौपेंगे ज्ञापन
आजमगढ़। ओवरब्रीज का निर्माण न होने से नाराज आजमगढ़ विकास संघर्ष समिति के लोग काफी नाराज हैं। संस्था के अध्यक्ष एसके सत्येन का कहना है कि कई बार अधिकारियों को ज्ञापन और धरना प्रदर्शन के बावजूद निर्माण कार्य आज तक पूरा नहीं हो सका। इसलिए पंद्रह दिन के भीतर अविसंस के सदस्यों का एक शिष्टमंडल लोक निर्माण मंत्री से मुलाकात करके उनसे ओवरब्रीज के जल्द से जल्द कराने की मांग संबंधी ज्ञापन सौंपेगा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

बिजली कनेक्शन काटने पर SDO की हुई पिटाई

आजमगढ़ में बिजली बिल वसूल करने गए बिजली विभाग के SDO की जमकर पिटाई हो गई।

23 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper