हिंदू-मुस्लिम विवाह के पैरोकार थे राजा महेंद्र

Azamgarh Updated Mon, 01 Dec 2014 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
लखनऊ। दुनिया को ‘एक ग्राम’ की नजर से देखने वाले राजा महेंद्र प्रताप ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि एक दिन उन्हें जमीन के टुकड़े में समेट दिया जाएगा। सोमवार को राजा महेंद्र की 128वीं जयंती पर पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय परिसर में रैली या सेमिनार भले न हो पर उनके नाम पर हो रही सियासत ने उनके कुछ करीबियों को हस्तक्षेप करने पर मजबूर कर दिया।
राजा महेंद्र के बेहद करीबी स्वर्णकेतु भारद्वाज कहते हैं कि शर्म की बात है कि लोग राजा महेंद्र को चंद एकड़ जमीन के टुकड़े से बांध दे रहे हैं। वे एएमयू की सिर्फ तीन एकड़ जमीन तक ही सीमित नहीं थे। उनका व्यक्तित्व कहीं विशाल था।
राजा महेंद्र पर हो रही सियासत से क्षुब्ध भारद्वाज कहते हैं, ‘लोगों को पता होना चाहिए कि राजा ने वृृंदावन का अपना महल और उसकी 250 एकड़ जमीन पर देश में टेक्निकल एजुकेशन के लिए 1907 में प्रेम महा विद्यालय की स्थापना करवाई।’
भारद्वाज सवाल उठाते हैं कि क्या ये लोग प्रेम महा विद्यालय में उनकी जयंती नहीं मना सकते। इन्हें मथुरा के केसरी घाट पर उनकी समाधि की बदहाल सूरत नहीं नजर आती। क्या इनको नहीं पता कि राजा महेंद्र ने अलीगढ़ के ही टीकाराम कॉलेज में हिंदू-मुस्लिम विवाह की बात रखी थी? पत्रकारिता के दौरान राजा महेंद्र के काफी करीबी रहे भारद्वाज फिलहाल, लखनऊ के इंदिरा नगर में एक किराए के कमरे में रहते हैं।
अफगानिस्तान में बनवाई थी आजाद सरकार
बकौल भारद्वाज, ‘उनका योगदान महात्मा गांधी या सुभाष चंद्र बोस से कतई कम नहीं था।
उन्होंने ही अफगानिस्तान में आजाद हिंद सरकार बनवाई थी और मौलवी बरखतुल्ला को प्रधानमंत्री बनाकर खुद राष्ट्रपति बने थे। उनके क्रांतिकारी विचारों के चलते रूस के राष्ट्राध्यक्ष लेनिन से उनकी अच्छी दोस्ती थी। लेनिन ने राजा को सोने की कुर्सी भी भेंट की थी।’

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Chandigarh

दो नेता मिलकर चला रहे देश और पार्टी, यशवंत और शत्रुघ्न सिन्हा ने लगाए आरोप

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जो-जो वायदे किए थे, वे सभी जुमले साबित हो रहे हैं

20 मई 2018

Related Videos

VIDEO: इस एसपी विधायक ने ‘जिन्ना विवाद’ पर बीजेपी को दिया ये 'विवादित' नाम

समाजवादी पार्टी विधायक नफीस अहमद ने आजगमगढ़ में जिन्ना विवाद में कूदते हुए एक विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि संघी लोग हमें देशभक्ति ना सिखाएं। बीएचयू में धरना हिंदू दे रहे थे।

5 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen