दो सगे भाईयों समेत तीन को हुआ जेल और जुर्माना

Varanasi Bureau Updated Fri, 08 Dec 2017 12:21 AM IST
आजमगढ़। अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट नंबर 12 अवधेश कुमार की अदालत में गुरुवार को तीन अभियुक्तों को तीन वर्ष की कैद के साथ दो-दो हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। जब कि एक आरोपी विश्वनाथ की मुकदमा कार्रवाई के दौरान मौत हो चुकी थी। तीनों आरोपियों पर मंडई में आग लगाकर जलाये जाने का आरोप है।
घटना जीयनपुर थाना क्षेत्र के रामपुर गांव की है। रामपुर गांव निवासी इंद्रजीत पुत्र सहदेव ने आठ अगस्त 1997 को स्थानीय थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें उसने बताया था कि उसे आवास बनाने के लिए जमीन का पट्टा मिला था, उस पर मड़ई रखे हुए था। रंजीश के चलते गांव के विश्वनाथ पुत्र शाहजाद, सुरेश पुत्र जगदीश, रामाधार और लल्लन पुत्रगण सर्वजीत ने घटना के एक दिन पूर्व रात लगभग 11 बजे आग लगा दिया। इस मामले में जीयनपुर थाना पुलिस ने चारो आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल किया। इस मामले में कुल दो गवाह इंद्रजीत और सुबाष परीक्षित किए गए। अदालत ने उभय पक्षों के तर्को को सुनने के बाद नामजद दो सगे भाईयों समेत तीन को दोषी पाते हुए उक्त सजा का निर्धारण किया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बिजली कनेक्शन काटने पर SDO की हुई पिटाई

आजमगढ़ में बिजली बिल वसूल करने गए बिजली विभाग के SDO की जमकर पिटाई हो गई।

23 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls