विज्ञापन
विज्ञापन

खेत न छोड़ने से आहत किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

auraiya Updated Tue, 18 Jun 2019 12:45 AM IST
मृतक किसान द्वारा छोड़ा गया सुसाइड नोट। अमर उजाला
मृतक किसान द्वारा छोड़ा गया सुसाइड नोट। अमर उजाला - फोटो : amarujala
ख़बर सुनें
अछल्दा (औरैया)। शर्तिया बैनामा का पैसा चुकता करने के बाद भी 15 बीघा जमीन वापस न मिलने से आहत किसान ने घर के अंदर फांसी लगाकर जान दे दी। किसान की पत्नी ने बंशी गांव के राशन कोटा डीलर व उसके बहनोई समेत एक अन्य के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस को घटनास्थल से एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें मृतक किसान ने दो लोगों को आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है। आरोपियों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
अछल्दा थाना क्षेत्र के बंशी गांव निवासी किसान गोपाल दीक्षित (35) पुत्र बाबूराम ने रविवार की देर रात अपने मकान की दूसरी मंजिल पर स्थित अपने कमरे में अंगौछे के सहारे पंखे में लटककर आत्महत्या कर ली। सोमवार को सुबह जब पत्नी प्रीति ऊपर कमरे में गई तो पति का शव फांसी पर लटकते देखा। घटना से घर में कोहराम मच गया। पत्नी की सूचना पर अछल्दा थाना पुलिस व एएसपी कमलेश दीक्षित मौके पर पहुंचे और घटनास्थल की जांच पड़ताल की। पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें किसान ने अपनी मौत का जिम्मेदार राजेंद्र डीलर व उसके बहनोई सुरेश चंद्र मिश्रा निवासी इटावा को जिम्मेदार ठहराया है। प्रीति ने अपर पुलिस अधीक्षक से बताया कि आज से पांच साल पहले पति गोपाल दीक्षित ने बंशी गांव निवासी कोटा डीलर राजेंद्र से तीन लाख रुपये लिए थे, कोटा डीलर ने किसान को तीन लाख रुपये देने के एवज में किसान के 15 बीघा खेत का शर्तिया बैनामा कराया था। डेढ़ साल पहले तीन लाख रुपये कोटा डीलर को वापस कर दिए थे। लेकिन कोटा डीलर 15 बीघा खेत नहीं छोड़ रहा था। इस साल भी आरोपी ने उनके खेत को जोत भी लिया था। जिससे क्षुब्ध होकर पति गोपाल ने यह कदम उठाया है।
प्रीति ने अछल्दा थाने में बंशी गांव निवासी कोटा डीलर राजेंद्र, कोटा डीलर के बहनोई सुरेश चंद्र मिश्रा निवासी इटावा, और सुनील शाक्य पुत्र महादेव निवासी महाराजपुर के खिलाफ तहरीर दी है। अपर पुलिस अधीक्षक कमलेश दीक्षित ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आरोपियों की गिरफ्तारी के आदेश दिए है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।



घर में मचा रहा कोहराम, पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल
अछल्दा (औरया )। किसान गोपाल दीक्षित की आत्महत्या के बाद उसके परिवार बेसहारा हो गया। मृतक गोपाल की 2005 में ग्राम कमारा निवासी प्रीती दीक्षित के साथ विवाह हुआ था। उसके तीन बच्चे हैं। जिसमें 12 वर्ष का लड़का अंश, सात वर्ष की पुत्री अनन्या तथा पांच वर्ष का पुत्र वैभव है। मृतक किसान खेती कर अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। ग्रामीणों ने बताया कि गोपाल दीक्षित के पिता राम बाबू दीक्षित के कोई संतान नहीं थी। उन्होंने ग्राम कनमऊ कंचौसी निवासी रामप्रकाश द्विवेदी के पुत्र गोपाल दीक्षित को गोद लिया था। तब से वह उनका पुत्र था। घटना को लेकर पत्नी प्रीति का रो-रोकर बुरा हाल है। पत्नी का कहना है कि अब वह किसके सहारे जिंदगी गुजारेगी। गांव और परिवार की महिलाएं उसे ढांढस देतीं रही।




 

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति हेतु गुरुपूर्णिमा पर चढ़ाएं शिरडी साईं बाबा को महाप्रसाद- 16 जुलाई 2019
Astrology

अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति हेतु गुरुपूर्णिमा पर चढ़ाएं शिरडी साईं बाबा को महाप्रसाद- 16 जुलाई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Auraiya

शव घर पहुंचते ही परिजनों में मचा कोहराम

शव घर पहुंचते ही परिजनों में मचा कोहराम

16 जुलाई 2019

विज्ञापन

और पावरफुल होगी NIA, वोटिंग के बाद लोकसभा में NIA संशोधित विधेयक 2019 बिल पास

आतंकवाद के खिलाफ और सख्त कार्रवाई करने के उद्देश्य से लोकसभा में गरमागरम बहस के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी संशोधित विधेयक 2019 पारित हो गया है।

15 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election