लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Auraiya News ›   Brother carrying sisters wedding items died in a road accident in Auraiya

मातम में बदली खुशियां: 28 नवंबर को बहन की होनी है शादी, हादसे में हुई भाई की मौत, समय से नहीं मिला उपचार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, औरैया Published by: कानपुर ब्यूरो Updated Sun, 27 Nov 2022 11:00 AM IST
सार

सदर कोतवाली क्षेत्र में बहन की शादी का सामान ले जा रहे भाई की सड़क हादसे में मौत हो गई। इससे शादी की खुशियां मातम में बदल गईं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
 

अस्पताल में रोते बिलखते परिजन
अस्पताल में रोते बिलखते परिजन - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

औरैया जिले में सदर कोतवाली क्षेत्र के दिबियापुर रोड पर तहसील के पास शादी का सामान लेकर जा रहा लोडर बेकाबू होकर पेड़ से टकरा गया। हादसे में आगे बैठे एक युवक की मौत हो गई। मृतक बहन की शादी के लिए औरैया से लोडर में सामान लेकर कानपुर देहात के जसापुर, मंगलपुर जा रहा था।


सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव कब्जे में लेकर परिजनों को सूचना दी है। कानपुर देहात के जसापुर, मंगलपुर निवासी संदीप कुमार उर्फ टानू (30) पुत्र लालजीत शनिवार को औरैया में बहन की शादी में दिए जाने के लिए दहेज का सामान खरीदने आया था।

देर शाम आठ बजे के करीब वह एक लोडर किराए पर कर गांव जा रहा था। जैसे ही लोडर दिबियापुर मार्ग पर तहसील के सामने पहुंचा तभी चालक ने स्टेयरिंग से संतलुन खो दिया और लोडर एक पेड़ से जा टकराया। हादसे में लोडर के आगे बैठा संदीप बुरी तरह से घायल हो गया।

हादसा होने के बाद चालक लोडर छोड़ कर भाग गया। उधर से निकले राहगीरों ने हादसे की सूचना पुलिस को दी। कोतवाली पुलिस गंभीर रूप से घायल को लेकर अस्पताल पहुंची। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी पर पहुंचे परिजनों का बुरा हाल था।

परिवार के लोगों ने पुलिस को बताया कि मृतक बहन की शादी की तैयारियों में जुटा था। वह टाइल्स लगाने का काम करता है। उसके पांच वर्ष का बेटा मंगल व एक तीन माह की बेटी है। कोतवाली प्रभारी रवि श्रीवास्तव ने बताया कि शव को कब्जे में लिया गया है, तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

कल होनी है बहन की शादी, गम में बदली खुशियां
संदीप के पिता और चाचा की दो माह के अंतराल में मौत हो चुकी है। परिवार और बहन सत्तो की शादी की जिम्मेदारी संदीप पर थी। पिछले 15 दिनों से वह बहन की शादी की तैयारियों में जुटा था। हादसे की खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया। परिजनों ने बताया कि 28 नवंबर को बहन की शादी होनी है। घर पर सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं।

समय से मिलता उपचार तो बच सकती थी जान
जिस जगह पर हादसा हुआ वहां अंधेरा था। राहगीर गुजरते गए पर उन्हें हादसे का आभास नहीं हुआ। इसी बीच पैदल गुजर रहे राहगीरों की नजर लोडर से गिरे सामान पर नजर पड़ी, तो पास पहुंचे तो संदीप घायल मिला। जब तक अस्पताल भेजा जाता, उसने दम तोड़ दिया। वहीं, परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस तक शव भेजे जाने के लिए एम्बुलेंस न मिलने पर नाराजगी जताई।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00