काविताओं की रसधारा में भीगे श्रोता

Auraiya Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
औरैया। साहित्य भारती सभागार में सोमवार को काव्य गोष्ठी हुई। इसमें जिले भर से आए कवियों ने काव्य रसधारा बहाई।
सबसे पहले कवि हरीशंकर मिश्रा ने रचना पढ़ी, हरा भरा गुलशन था मेरा वो कर खाकर तमाम कर दिया, ये तुमने क्या कर दिया मुझको तो बदनाम कर दिया। कवि आशीष मिश्रा ने अपनी बात कुछ यों कहीं, गणपति को तुम पूज रहे हो शिव से क्या हैरानी है, भारत माता सिसक रही है और हर आंख में पानी है। संचालन कर रहे गजलकार राजकुमार शुक्ल राज ने कहा, रात की बात आधी है, इसे पूरी तो होने दो, पास आओ मेरे प्रियवर खत्म दूरी तो होने दो, मुझे मदहोश कर डालो अपने आगोश में लेके । अनिरुद्ध त्रिपाठी ने कहा , तुम तो अमृत का घर पी गए चैन से, हमने सपने संजोए गरल के लिए, याद रखना न रखना तुम्हारी खुशी, हम न भूले तुम्हें एकपल के लिए। संस्था के महामंत्री आदित्य त्रिपाठी ने कहा, मेरा दिल तेरी धड़कन का अंतयवाषी है, तुम हो मेरे पास अमावस पूरणमासी है। अध्यक्षता कर रहे अमर सिंह भदौरिया ने कहा, पिया आ रहे कराने को गौनो, ननो को लगे बड़ो नैनो।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

ट्रक लूटकर भाग रहे थे बदमाश, पुलिस ने दबोचा

औरेया में पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने ट्रक लूट कर भाग रहे तीन शातिर बदमाशों को मुठभेड़ के बाद धर दबोचा। पुलिस ने बदमाशों के पास से तमंचा, कारतूस और चाकू बरामद की है।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper