नई तकनीक से फसलें लगाने पर जोर

Auraiya Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
दिबियापुर (औरैया)। कृषि विज्ञान केंद्र परवाहा में पांचवीं वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक में मुख्य अतिथि डा. लाखन सिंह ने सुझाव दिया कि बासमती धान की केस स्टडी तैयार कर प्रस्तुत करें। उन्होंने किसानों की समस्याओं का हर स्तर पर समाधान करने के लिए कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों को बधाई का पात्र बताया।
केंद्र के अध्यक्ष गुरुसेवक सिंह ढिल्लो ने कृषकों से अपील की कि केंद्र के वैज्ञानिकों से सलाह लेकर नई तकनीक से विभिन्न फसलें लगाएं।जिला औरैया के उपनिदेशक कृषि डा. बनारसीदास ने टेंटीं, वन करेला के उत्पाद एवं संरक्षण पर बल दिया। कृषि विज्ञान केंद्र इटावा के कार्यक्रम समन्वयक डा. शंकर सिंह ने सुझाव दिया कि पूरे देश में प्रसिद्ध औरैया, इटावा जिले की पहचान जमुनापारी बकरी एवं भदावरी नस्ल की भैंस के संरक्षण पर कार्य करें। भूमि सुधार निगम के इटावा, औरैया जिला प्रभारी डा. रामलखन यादव ने कहा कि 1993 से 2007 तक भूमि सुधार का पहला एवं दूसरा चरण चला। वर्ष 2010 से 2015 तक तृतीय चरण चलाया जा रहा है। इसमें जिले के विभिन्न ग्रामों में भूमि चयनित कर उनका उपचार किया जा रहा है। वर्तमान में इटावा औरैया जनपदों की 400 हेक्टेयर भूमि का उपचार कर रहे हैं। केंद्र के प्रभारी अधिकारी डा. अनंत कुमार ने केंद्र की प्रगति आख्या एवं वार्षिक कार्ययोजना को प्रस्तुत किया। इसके बाद डा.गोयल ने मृदा विज्ञान, डा. संदीप कुमार सिंह ने सस्य विज्ञान, डा. बृज विकास सिंह ने पशुपालन, डा. आईपी सिंह ने उद्यान, डा. फूल कुमारी ने गृह विज्ञान की प्रगति आख्या एवं वार्षिक कार्ययोजना को समिति के सदस्यों के समक्ष प्रस्तुत किया। जनपद के विभिन्न विभागों से डा. सुरजीत सिंह सचान, राजीव शुक्ला, जोगेश्वर दयाल, अपर कृषि जिला अधिकारी एवं एलडीएम महेंद्र सिंह समेत आधा सैकड़ा कृषक मौजूद रहे। बैठक का समापन मुख्य सलाहकार हरपाल सिंह ने धन्यवाद देकर किया। वरिष्ठ कृषि अधिकारियों एवं वैज्ञानिकों को कृषि विज्ञान केंद्र परवाहा में भ्रमण कराया गया।

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान ने बॉर्डर से सटी सारी चौकियों को बनाया निशाना, 2 नागरिक की मौत

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जिन्होंने मथुरा और गोरखपुर में काम रोक दिए वो हज सब्सिडी क्या देंगे: अखिलेश यादव

गुरुवार को औरैया पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे। पूर्व सीएम पार्टी कार्यकर्ता की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करने आये थे।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper