चुनाव परिणाम : राजनीतिक दलों की धुली प्रतिष्ठा

Auraiya Updated Mon, 23 Jul 2012 12:00 PM IST
औरैया। नगर पालिका परिषद औरैया के अध्यक्ष पद के चुनाव में मतदान से पूर्व जातीय ध्रुवीकरण के चले फैक्टर से सत्तारुढ़ दल सहित राष्ट्रीय दलों की हैसियत हांसिए पर सिमट कर रह गई है। पांच माह पहले विधान सभा चुनाव में शहर के मतदाताओं के बूते पर विधान सभा फतह करने वाली सत्तारुढ़ दल समाजवादी को पालिकाध्यक्ष के चुनाव परिणाम ने बड़ा झटका दिया है। वहीं प्रदेश व केंद्र में अपनी सरकार का सपना संजोए भाजपा प्रत्याशी की शर्मनाक पराजय ने उसके रसूख को कम किया है। केंद्र में सत्तासुख भोग रही कांग्रेस पार्टी तो इस चुनाव में उम्मीदवार ही ढूंढे नहीं मिला। पालिकाध्यक्ष के मतदाताओं ने पूरी तरह से बायकाट कर दिया।
निकाय चुनाव 2012 में नगर पालिका परिषद, औरैया के अध्यक्ष पद की कुर्सी पर काबिज होने के लिए प्रदेश की मौजूदा सपा सरकार सहित भाजपा एवं लोक जनशक्ति पार्टी में दल का प्रत्याशी खड़ा कर बाहर से समर्थन दिया था। जबकि केंद्र की मौजूद सरकार कांग्रेस पार्टी को प्रत्याशी न मिलने के कारण चुनाव से पूर्व ही बाहर का रास्ता देखना पड़ा था।
विधान सभा की तर्ज पर पालिकाध्यक्ष की कुर्सी फतह करने के लिए अपने समर्थित प्रत्याशी को जिताने के लिए समाजवादी पार्टी के भी सपने पुरी तरह से चकनाचूर हो गए। पार्टी समर्थित प्रत्याशी ओमप्रकाश गुप्ता जो मौजूदा समय में पार्टी के जिला महासचिव भी हैं, को जिताने के सो प्रयास निरर्थक साबित हुए। अपने प्रत्याशी के पक्ष में वोट मांगने उतरे सांसद, विधायक और स्वयं जिलाध्यक्ष सहित तमाम पदाधिकारियों ने ऐंड़ी चोटी का जोर लगाया। पर बिजली मुद्दे पर रुष्ट मतदाताओं ने समाजवादी पार्टी समर्थित प्रत्याशी को पूरी तरह से नकार दिया।
यही हाल प्रदेश व केंद्र में सत्तासुख पाने का सपना संजाऐ भारतीय जनता पार्टी के साथ हुआ। पालिकाध्यक्ष के चुनाव में एक तरह से बिना मुद्दों के उतरे पार्टी प्रत्याशी लाल जी कुशवाहा आम वोट लेशमात्र को भी हांसिल नहीं कर सके। इतना जरूर है पार्टी की कार्यकर्ता और लीगी मतदाताओं बदौलत पालिकाध्यक्ष के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को तहत 434 वोट ही मिल सके। जबकि लोक जनशकित पार्टी भी इस चुनाव में कोई खास नहीं कर सकी। इल के प्रत्याशी पप्पू की शर्मनाक पराजय हुई। उनको इस चुनाव में मात्र 67 वोट ही मिले। इससे भी खराब स्थिति केंद्र में सत्तासीन कांग्रेस पार्टी की रही। पालिकाध्यक्ष के चुनाव में जहां अन्य राजनीतिक दलों ने अपने उम्मीदवारों को चुनाव में उतारा इसके उलट कांग्रेस पार्टी को अध्यक्ष की कुर्सी के लिए कोई सक्षम उम्मीदवार ही ढूंढे नहीं मिला। जबकि बहुजन समाज पार्टी की ओर से पहले ही पालिकाध्यक्ष के चुनाव में सम्मलित न होने का ऐलान कर दिया गया था।

दावेदारों के नाम कुल मिले मत
रिचा पोरवाल 59
रत्ना देवी उर्फ शशि शर्मा 970
गुड्डी उर्फ रामसती राजपूत 1320
प्रतिभा 266
नरेंद्र कौर 13,957
अभिषेक 231
सतीश चंद्र 336
अनिल शर्मा 68
लालजी 434
हरिओम 194
प्रेमचंद्र 802
ओम प्रकाश 1124
पप्पू 48
उमाशंकर 107
गवेंद्र सिंह 67
राज्यपाल सिंह 222
अब्दुल सत्तार 63
मु. निहाल 733
राजकिशोर 162
अनूप गुप्ता 13,639
मिथलेश 78

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

जिन्होंने मथुरा और गोरखपुर में काम रोक दिए वो हज सब्सिडी क्या देंगे: अखिलेश यादव

गुरुवार को औरैया पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे। पूर्व सीएम पार्टी कार्यकर्ता की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करने आये थे।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper