अंशुल हत्याकांड की मास्टर माइंड थी मीना

Auraiya Updated Thu, 31 May 2012 12:00 PM IST
औरैया। अंशुल की हत्या की साजिश उसकी ननद ने ही अपने पिता के साथ मिलकर रची थी। हत्या के बाद अंशुल के ससुर ने हत्यारों को बाकी की रकम दी थी।
शहर के मोहल्ला बघाकटरा निवासी देवदत्त मिश्रा की एनआरआई पुत्रवधू अंशुल मिश्रा की हत्या के लिए पूरी साजिश उसकी ननद मीना द्विवेदी ने रची थी। सुपारी किलर से उसने ही 50 हजार रुपए देकर सौदा किया था। हत्यारों ने बिजनौर व अन्य स्थानों पर अंशुल की हत्या का प्रयास किया लेकिन कामयाब नहीं हो सके। बाद में ससुर देवदत्त मिश्रा के सहयोग से ससुराल में ही 27 जुलाई 2011 को उसकी हत्या की गई। हत्या के बाद देवदत्त ने एक लाख 53 हजार रुपए हत्यारों को दिए थे। घटना को लूट बताने के लिए हत्यारे देवदत्त मिश्रा, अंशुल की सास व पति को बांधकर डालने के बाद फरार हो गए थे। उस समय घर में मीना नहीं थी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बगैर जांच के नौकर रखने वाले सावधान, औरैया में लूट की फिराक में धरे गए पांच बदमाश

दुकानों या घरों में नौकर रखने वाले जरा सावधान हो जाएं। बिना जांच पड़ताल के रखे गए नौकर आपकी जान के दुश्मन बनकर आपकी संपत्ति भी लूट सकते हैं। औरैया पुलिस ने एक ऐसे ही मामले का खुलासा कर एक व्यापारी के नौकर के चेहरे का नकाब उतार फेंका है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls