‘कुपोषण व आत्महत्या का है मोदी मॉडल’

AmbedkarNagar Updated Mon, 05 May 2014 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
अंबेडकरनगर। गुजरात मॉडल सिर्फ झूठ का पुलिंदा है। वहां बदहाली का आलम पसरा है। देश को ऐसा मॉडल नहीं चाहिए, जहां पर महिलाएं कुपोषण का शिकार हों और किसान आत्महत्या कर रहे हों। अकबरपुर नगर के कटरिया बाग में रविवार को सपा प्रत्याशी राममूर्ति वर्मा के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने मोदी पर जमकर हमला बोला। कहा कि उनका झूठ जनता के बीच बेनकाब हो रहा है। देश के विकास में मुसलमानों का अहम योगदान रहा है, लेकिन वे पूरी तरह उपेक्षा का शिकार हैं। देश की सुरक्षा के लिए मिसाइल का निर्माण जहां डॉ. अब्दुल कलाम ने किया हैं, वहीं बनारसी साड़ी उद्योग, फिरोजाबाद में चूड़ी उद्योग, मुरादाबाद में पीतल के बर्तन उद्योग और लखनऊ में चिकन कपड़ा उद्योग में मुसलमानों की बढ़-चढ़कर भागीदारी होती है। उन्हेें जिस प्रकार से सहूलियतें मिलनी चाहिए, नहीं मिल रहीं हैं। आजम यदि मुसलमानों के हक की बातें करते हैं, तो तमाम लोगों को यह नागवार गुजरता है।
विज्ञापन

प्रसिद्ध समाजवादी डॉ. राममनोहर लोहिया का जिक्र करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी डॉ. लोहिया के बताए आदर्शों पर चलते हुए सभी वर्ग के लोगों को न सिर्फ बराबर का सम्मान दे रही है, वरन उनके उत्थान के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं भी चला रही है। नरेंद्र मोदी गुजरात का झूठा मॉडल का हवाला देते हुए देशवासियों को गुमराह कर रहे हैं। असलियत यह है कि अभी भी गुजरात में आठ हजार से अधिक गांव ऐसे हैं, जहां पेयजल की व्यवस्था नहीं है। तमाम महिलाएं कुपोषण का शिकार हैं, तो समुचित व्यवस्था न मिलने पर किसान आत्महत्या कर रहे हैं। बेरोजगारों के पंजीयन पर रोक है, तो डीजल, पेट्रोल व सीएनजी अन्य प्रदेशों से काफी महंगा है। वर्ष 2001 में नरेंद्र मोदी ने आमजनता से वादा किया था कि शीघ्र ही प्रदेश में मेट्रो ट्रेन का संचालन प्रारंभ हो जाएगा। आज तक ऐसा नहीं हुआ। तीन माह पूर्व अखिलेश सरकार ने घोषणा की, तो निर्माण कार्य भी प्रारंभ कर दिया गया।
बसपा व कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि दोनों पार्टियां सिर्फ भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती हैं। प्रदेश में 60 सीटें मिलने का दावा करते हुए कहा कि केंद्र में सपा की सरकार बनने पर 70 वर्ष से अधिक उम्र के अधिवक्ताओं को पेंशन दी जाएगी। यदि किसी अधिवक्ता की मृत्यु 70 वर्ष से पहले होती है, तो उनके परिवारीजनों को पांच लाख रुपये की सहायता राशि दी जाएगी। छात्र-छात्राओं को मुफ्त में उच्च शिक्षा ग्रहण कराई जाएगी। बुनकरों का बकाया बिजली बिल माफ किया जाएगा। मुसलमान युवकों को सरकारी नौकरी में आरक्षण दिया जाएगा, तो कमजोर वर्ग की जातियों को अनुसूचित जाति का दर्जा दिलाया जाएगा। पत्रकार कल्याण समिति का गठन कर पत्रकारों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। दहेज उत्पीड़न के नाम पर जो फर्जी मुकदमे दर्ज कराए जाते हैं, उसकी जांच कराई जाएगी। यदि मामला गलत पाया गया, तो केस दर्ज कराने वालों के ही विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन, स्वास्थ्य राज्यमंत्री शंखलाल मांझी, महिला आयोग अध्यक्ष लीलावती कुशवाहा, जिलाध्यक्ष रामशकल यादव, प्रत्याशी राममूर्ति वर्मा व विधायक अभय सिंह आदि मौजूद रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us