एंबुलेंस सेवाओं के पहिए थमे

AmbedkarNagar Updated Mon, 20 Jan 2014 05:46 AM IST
अंबेडकरनगर। जिले में शनिवार देर रात अचानक 108 व 102 एंबुलेंस सेवाएं बाधित हो गईं। रविवार अपराह्न तक दोनों एंबुलेंस का संचालन प्रारंभ नहीं हो सका। बताया जाता है कि लखनऊ से ही सर्वर में कुछ खराबी आने से इनके संचालन प्रभावित हुआ। दोनों सेवाओं के न चलने से मरीजों व गर्भवती महिलाओं को विभिन्न प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ा।
मरीजों व विभिन्न दुर्घटनाओं में घायलों को उनके निकटतम चिकित्सालयों तक पहुंचाने वाली 108 एंबुलेंस सेवा के पहिए शनिवार देर रात अचानक ठप हो गए। लोग समाजवादी एंबुलेंस सेवा का लाभ पाने के लिए 108 पर फोन करते रहे, लेकिन फोन ही नहीं मिला। रविवार अपराह्न तक इस सेवा का संचालन नहीं हो सका। बताते चलें कि जिले को 11 एंबुलेंस 108 सेवा के तहत उपलब्ध कराई गई हैं। इसमें जिला चिकित्सालय में दो तथा एक-एक प्रत्येक विकास खंड को उपलब्ध कराई गई है। इन एंबुलेंस से मरीजों व विभिन्न दुर्घटनाओं में घायलों को तत्काल जिला चिकित्सालय सहित निकटतम चिकित्सालयों में पहुंचाने का कार्य किया जाता है। इसका लाभ लेने के लिए 108 पर फोन करना होता है। फोन करने के लगभग 20 मिनट बाद यह एंबुलेंस निर्धारित स्थान पर पहुंच जाती है। इसके अलावा एंबुलेंस में प्राथमिक उपचार की भी सुविधा होती है। यही नहीं शनिवार सुबह गर्भवती महिलाओं के लिए जिले को 102 एंबुलेंस सेवा की भी 11 एंबुलेंस उपलब्ध कराई गई थीं। इस एंबुलेंस सेवा का लाभ लेने के लिए भी 102 पर फोन करना होता है। शनिवार देर रात से लखनऊ स्थित इन सेवाओं के मुख्य सर्वर के नेटवर्क में आई खराबी के चलते दोनों सेवाएं ठप हो गईं। रविवार दोपहर तक नेटवर्क ठीक न होने से एंबुलेंस सेवाओं का लाभ लोगों को नहीं मिल सका। सेवा से जुड़े स्थानीय प्रोग्राम मैनेजर अनिल कुमार ने बताया कि लखनऊ में बीएसएनएल के नेटवर्किंग में आई गड़बड़ी के चलते ही सेवाओं पर प्रभाव पड़ा है। सीएमओ मेजर डॉ. बीपी सिंह के मुताबिक जिले में सभी सेवाएं सुचारु रूप से चल रही हैं। कहीं कोई समस्या नहीं है। नेटवर्क की समस्या लखनऊ से है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls