अवकाश के दिन फिर दगा दे गए एटीएम

AmbedkarNagar Updated Thu, 29 Nov 2012 12:00 PM IST
अंबेडकरनगर। बैंकों की छुट्टी के समय नगर में स्थित एटीएम मशीनों का दगा दे देना जारी है। अक्सर नगर क्षेत्र में छुट्टी के दिन एटीएम उपभोक्ताओं को दगा दे जाते हैं। यही हाल बुधवार को भी गुरुनानक जयंती की छुट्टी के दिन भी रहा। नगर क्षेत्र में स्थित एसबीआई, पीएनबी व अन्य बैंकों के अधिकतर एटीएम ठप रहे। इससे पैसा निकालने की आस में पहुंचने वाले उपभोक्ताओं को निराशा ही हाथ लगी।
नगर क्षेत्र में कहने को तो एसबीआई के 6 एटीएम स्थापित हैं, लेकिन बुधवार को इनमें से महज दो एटीएम ही काम करते दिखे। रेलवे स्टेशन, फैजाबाद, शहजादपुर व पटेलनगर में स्थित एटीएम ठप रहा। इक्का दुक्का जो एटीएम चले भी तो धनाभाव के चलते बाद में वे भी ठप हो गये। देर शाम तक नगर में एचडीएफसी का एटीएम छोड़कर अधिकतर ठप हो गए थे। पीएनबी शाखा के बगल लगा एटीएम तो अक्सर उपभोक्ताओं को धोखा देता रहता है। बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा का एटीएम भी अधिक देर तक अपनी सुविधा मुहैया नहीं करा सका। नगर क्षेत्र के ओरियंटल बैंक व यूनियन बैंक के एटीएम भी ठप ही दिखे। शिवबाबा से पैसा निकालने के लिए फैजाबाद रोड स्थित एटीएम पर पहुंचे सूर्यप्रकाश तिवारी व जगन्नाथ ने बताया कि वे लगभग दो घंटे से धन निकालने के लिए परेशान हैं। बताया कि उन्हें एक वैवाहिक कार्यक्रम में भाग भी लेना है। पैसा न मिल पाने के चलते काफी दिक्कत उठानी पड़ रही है। इस उम्मीद से घर से निकले थे कि पैसा निकल जायेगा तो खरीदारी हो जायेगी। अब उधार से ही काम चलना पड़ेगा। एचडीएफसी एटीएम से पैसा निकालने के लिए लाइन में खड़े बेवाना के तीर्थराज व केदारनगर के निलेश मिश्र व कई अन्य ने बताया कि वे काफी देर से लाइन में खड़े हैं। बताया कि वे कई एटीएम का चक्कर भी लगा चुके हैं। ऐसे में पैसा मिल पाने की कम ही उम्मीद है, फिर भी लाइन में लगे हुए हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018