‘एड्स व हर मुश्किल से बचाती है जागरूकता’

AmbedkarNagar Updated Wed, 07 Nov 2012 12:00 PM IST
अंबेडकरनगर। एड्स से बचाव के लिए जागरूकता अिभयान के तहत मंगलवार को प्रात: साढ़े सात बजे अकबरपुर रेलवे स्टेशन पहुंची रेड रिबन एक्सप्रेस ट्रेन का गर्मजोशी से स्वागत हुआ। आयोजित समारोह में वक्ताओं ने इसे जीवन धारा बताते हुए इसका लाभ उठाने का आह्वान किया गया। भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच बड़ी संख्या में लोगों ने पहले दिन एड्स जागरूकता के साथ ही टीबी व अन्य रोगों को लेकर भी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की।
कई दिनों से चल रही तैयारियों के बीच रेड रिबन एक्सप्रेस ट्रेन अकबरपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 3 पर मंगलवार प्रात: साढ़े सात बजे पहुंची। खचाखच भरे प्लेटफार्म पर डीएम निधि केसरवानी ने रेड रिबन एक्सप्रेस ट्रेन का फीता काटकर शुभारंभ किया और इसके बाद एसपी व अन्य अधिकारियों के साथ ट्रेन में पहुंचकर आवश्यक जानकारी प्राप्त की। वहां उन्होंने हेल्प लाइन पर फोन कर उसका परीक्षण किया, तो वहीं अन्य जानकारी भी प्राप्त की। डीएम ने कहा कि सजगता से ही हम ऐसे रोगों पर नियंत्रण पा सकते हैं। जागरूकता पर जोर देते हुए डीएम ने कहा कि यह एक ऐसा माध्यम है, जो हमें हर मुश्किलों से बचाता है। कहा कि यह जनपद एचआईवी की जांच पॉजिटिव मिलने के मामले में अन्य जनपदों से काफी आगे है। हालांकि स्थिति अभी खतरनाक श्रेणी तक नहीं पहुंची है, लेकिन इसमें कमी लाने की तरफ गंभीर होना होगा। सचेत होकर ही हम इसका मुकाबला कर सकते हैं। इसमें यह ट्रेन व ऐसे अन्य आयोजन महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में सफल होंगे। एसपी गोविंद अग्रवाल ने कहा कि ट्रेन में मिली सीख को दूसरों तक भी पहुंचाने का संकल्प यहां आए लोगों को लेना होगा। सीएमओ डॉ. एके श्रीवास्तव ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री की मंशा के अनुरूप इस जिले में लगातार बेहतर सेवाएं उपलब्ध हो रही हैं।
रेड रिबन एक्सप्रेस के सीईओ मोहनीश कुमार ने बताया कि ट्रेन जहां जहां भी गई है, वहां इसे लेकर व्यापक उत्साह देखने को मिला है। यह अत्यंत सकारात्मक संकेत है। उन्होंने ट्रेन के भ्रमण आदि को लेकर विस्तार से प्रकाश डाला। इस मौके पर सीडीओ भरतलाल राय, स्वास्थ्य मंत्री के प्रतिनिधि आफताब अहमद, डिप्टी सीईओ निर्मल तिवारी, जिला प्रभारी एड्स कंट्रोल सोसाइटी प्रीती पाठक, कोआर्डिनेटर दयानंद, डीआईओएस अनूप कुमार, बीएसए दलसिंगार यादव समेत कई अन्य विभागों के अधिकारी मुख्य रूप से मौजूद रहे।
जांच में एक एचआईवी पॉजिटिव मिला
रेड रिबन एक्सप्रेस में पहले दिन कुल 324 लोगों की एचआईवी जांच की गई। इसमें एक जांच पॉजिटिव निकली। डिप्टी सीईओ निर्मल तिवारी ने बताया कि मंगलवार को 324 लोगों ने स्वेच्छा से जांच कराई। इसमें से एक केस पॉजिटिव मिला। उसकी काउंसलिंग की गई। 166 लोगों की जनरल हेल्थ चेकअप भी किया गया। इसके अलावा 396 लोगों ने काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लिया। ट्रेन में कुल पांच बैच में लोगों को प्रशिक्षण दिए गए। इसमें आशा बहू, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों समेत कुल 396 लोगों ने भाग लिया।
134वां स्टेशन है अकबरपुर
इस वर्ष चली रेड रिबन एक्सप्रेस ट्रेन ने अकबरपुर पहुंचने से पहले 133 स्टेशन का भ्रमण पूरा कर लिया था। 12 जनवरी 2012 को नई दिल्ली से चली यह ट्रेन अगले वर्ष 12 जनवरी को वापस नई दिल्ली पहुंचेगी। इस दौरान कुल 167 स्टेशन व 23 राज्य का दौरा पूरा हो चुका होगा। यूपी के रूप में 18वें राज्य में पहुंची यह ट्रेन अब 134वें स्टेशन अकबरपुर पर पहुंची है। प्रदेश के कुल 22 स्टेशनों तक ट्रेन को पहुंचना है। प्रथम चक्र की यात्रा में 7 जिले पूरे हो चुके हैं। द्वितीय चक्र की यात्रा में कुल 13 जिले तक ट्रेन को जाना है। इसमें से गोरखपुर, बस्ती व गोंडा होकर ट्रेन अंबेडकरनगर पहुंची है। यहां से ट्रेन फैजाबाद, अमेठी, रायबरेली, लखनऊ, कानपुर, झांसी, आगरा, मथुरा व चंदौसी जाएगी। अंतिम चरण 1 दिसंबर से प्रारंभ होगा। इस चरण में यह ट्रेन प्रदेश के दो जिलों सहारनपुर व मेरठ तक पहुंचेगी।
10 डिब्बे की है रेड रिबन एक्सप्रेस
रेड रिबन एक्सप्रेस ट्रेन 10 डिब्बों की है। इसमें पहले डिब्बे में रोड प्लान के साथ ही एचआईवी को लेकर बेसिक जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। दूसरे डिब्बे में जांच व इलाज के तौर तरीकों के साथ ही फोन उठाते ही यौन जनित रोगों के लक्षण की जानकारी दी जा रही है। इसके लिए एलसीडी के साथ ही विभिन्न प्रकार के मॉडल का भी प्रयोग किया जा रहा है। तीसरा डिब्बा युवाओं को नशे से दूर रहने व संयमित जीवन अपनाने की सीख देने का केंद्र बना हुआ है। चौथे डिब्बे में एनएचआरएम से संबंधित विभिन्न योजनाओं की जानकारी है। पांचवें डिब्बे को अलग-अलग बैच के प्रशिक्षण के लिए निर्धारित किया गया है। छठवां डिब्बा काउंसलिंग व एचआईवी जांच के लिए है। दो डिब्बे स्टाफ के लिए हैं, जबकि दो अन्य जनरेटर के लिए।

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper