उल्लास और श्रद्धा के साथ विसर्जित हुईं दुर्गा प्रतिमाएं

AmbedkarNagar Updated Fri, 26 Oct 2012 12:00 PM IST
अंबेडकरनगर। जय माता दी के जयकारों के बीच बुधवार को जनपद मुख्यालय सहित अन्य कई क्षेत्रों में दुर्गा प्रतिमाओं का श्रद्धा पूर्वक विसर्जन हुआ। भक्ति गीतों की धुन पर नाचते गाते श्रद्धालुओं ने पूरे आदर सत्कार व हृदय में आस्था का सैलाब लिए मां दुर्गा की प्रतिमाओं को नदी की आगोश में समा दिया। दुर्गा प्रतिमाओं की शोभायात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई समस्या न हो, इसके लिए कई जगह लोगों ने चाय पान व अन्य खाद्य सामग्रियों का स्टाल लगा रखा था।
बुधवार को प्रात: से ही अकबरपुर नगर में स्थापित दुर्गा प्रतिमा पंडालों के पट खुल गए थे। इनके समक्ष यज्ञ कुंड बनाया गया। पूजा समितियों के कार्यकर्ताओं ने पूरे विधिविधान से हवन पूजन किया। दोपहर बाद दुर्गा प्रतिमाओं को ट्रैक्टर ट्रालियों पर रखकर भव्य सजावट की गई। सायं होते-होते चारों तरफ भक्तिमय गीतों की धुन गूंजने लगी। सभी प्रतिमाएं शहजादपुर पूर्वी नाका पर एकत्र हुईं। यहां एसपी गोविंद अग्रवाल के नेतृत्व में हवन पूजन हुआ। इसके बाद प्रतिमाओं की भव्य शोभायात्रा निकली, जिसने नगर के विभिन्न मार्गों का भ्रमण किया। इसका नेतृत्व केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति अध्यक्ष रामशबद यादव, रामअशीष मिश्र व मनोज गुप्ता आदि ने किया। इस बीच श्रद्धालुओं ने जगह-जगह जुलूस को रोककर मां की आरती उतारी। कई जगह छतों से महिलाओं ने फूलों की वर्षा भी की। विभिन्न मार्गों का भ्रमण करते हुए सभी प्रतिमाएं पुरानी तहसील तिराहा के निकट स्थित गायत्री मंदिर के पीछे तमसा तट पर पहुंची। यहां मां के जयकारों के बीच श्रद्धालुओं ने दुर्गा प्रतिमाओं को नदी की बहती हुई धारा में यह कहते हुए प्रवाहित किया कि दुर्गा मां अगले बरस फिर आना। विसर्जन का यह सिलसिला गुरुवार भोर तक चलता रहा। कुल 167 प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। स्थिति पर नजर रखने के लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी यहां मौजूद रहे। टांडा प्रतिनिधि के अनुसार नगर के मोहल्ला मुबारकपुर व आसपास स्थापित प्रतिमाओं का काली घाट पर बुधवार को विसर्जन हुआ। श्रद्धालु भजन कीर्तन के साथ नाचते गाते विसर्जन स्थल तक पहुंचे। यहां पूजा पाठ एवं आरती कर मां दुर्गा की प्रतिमाएं पवित्र पावन सरयू में विसर्जित की गईं। इसके अलावा आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों की प्रतिमाओं का विसर्जन डुहिया गांव स्थित तामेश्वरनाथ महादेव पर देर रात्रि तक होता रहा। श्रीराम विवाह सेवा समिति के संरक्षक पंडित मनोज दुबे, शिव नरायन जायसवाल, हीरालाल मोदनवाल आदि की देखरेख के बीच शांतिपूर्वक विसर्जन का कार्य हुआ। टांडा नगर व आसपास की प्रतिमाओं का विसर्जन गुरुवार को नगर के राजदेव घाट पर हुआ। मालीपुर प्रतिनिधि के अनुसार मालीपुर व आसपास के क्षेत्रों की प्रतिमाओं का विसर्जन सुरहुरपुर में हुआ। कटेहरी प्रतिनिधि के अनुसार स्थानीय व आसपास के क्षेत्र की प्रतिमाओं का विसर्जन पूरी श्रद्धा के साथ श्रवणक्षेत्र में हुआ। जलालपुर प्रतिनिधि के अनुसार कई दिनों तक चले उल्लास व पूजा अर्चना के बाद भव्य जुलूस के बीच क्षेत्र में दुर्गा प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। शोभायात्रा में लोग नाचते गाते चल रहे थे। तमसा नदी के तट पर बाद में जलालपुर क्षेत्र की 88 व जैतपुर थाना क्षेत्र की 152 मूर्तियां विसर्जित की गईं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper