मात्र 37 को ही मिला 100 दिन का काम

AmbedkarNagar Updated Sun, 26 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
अंबेडकरनगर। केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी मनरेगा का लाभ पात्रों को दिलाने के लिए प्रशासन तनिक भी गंभीर नहीं है। प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही का आलम यह है कि नया वित्तीय वर्ष प्रारंभ हुए लगभग पांच माह बीतनेे को हैं, लेकिन अब तक 786 ग्राम पंचायतों में दो लाख पांच हजार 106 जॉब कार्डधारकों के सापेक्ष मात्र 37 पात्रों को ही 100 दिन का रोजगार मिल सका है। जलालपुर व रामनगर विकास खंड में एक भी जॉब कार्डधारक को 100 दिन का कार्य नहीं मिला है। जबकि भियांव, जहांगीरगंज व कटेहरी विकास खंड में मात्र एक-एक जॉब कार्डधारक को ही 100 दिन का रोजगार मिल पाया है।
गरीबों को रोजगार दिलाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना चलाई गई। इस योजना का लाभ बीपीएल कार्ड धारकों को दिए जाने का प्राविधान रखा गया। योजना के तहत पात्रों का जॉबकार्ड बनाकर उन्हें 100 दिन का रोजगार देने तथा कार्य के बदले 125 रुपये प्रतिदिन के अनुसार भुगतान करना है। योजना प्रारंभ होने से विशेषकर महिलाओं में अधिक खुशी दौड़ गई। कारण यह कि उन्हें कार्य के लिए दूरदराज के गांव तक नहीं जाना पड़ता। मगर अपने ही गांव में रोजगार मिलने की उम्मीद बांधे ग्रामीणों को समय बीतने के साथ ही मायूसी हाथ लगने लगी। दरअसल पात्रों को 100 दिन का रोजगार दिलाने एवं मजदूरी भुगतान के लिए प्रशासनिक अधिकारी कभी भी गंभीर नहीं दिखे। नतीजतन अधिकांश पात्र जहां 100 दिन का रोजगार पाने के लिए भटक रहे हैं, वहीं उन्हें मजदूरी भुगतान के लिए भी संबंधित अधिकारियों व ग्राम प्रधानों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।
जिले में पात्रों को योजना का लाभ दिलाने के लिए विभाग कतई गंभीर नहीं है। नया वित्तीय वर्ष प्रारंभ हुए पांच माह बीतने को हैं, लेकिन दो लाख पांच हजार 106 जॉबकार्डधारकों के सापेक्ष मात्र 37 मजदूरों को ही 100 दिन का रोजगार मिल सका है। इसमें अकबरपुर विकास खंड में 28,219 के सापेक्ष 17 लोगों को 100 दिन का रोजगार मिल सका है। इसी प्रकार बसखारी विकास खंड में 21,244 के सापेक्ष तीन लोग, भीटी विकास खंड में 19, 018 के सापेक्ष आठ, टांडा ब्लॉक में 18,080 के सापेक्ष छह, भियांव में 23,642, कटेहरी में 20,270 व जहांगीरगंज में 21,015 जॉब कार्डधारकों के सापेक्ष मात्र एक-एक लोगों को ही 100 दिन का रोजगार मिला है। रामनगर में 24,328 व जलालपुर में 29,290 के सापेक्ष एक भी जॉब कार्डधारक को 100 दिन का रोजगार नहीं मिल सका है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kullu

मई माह बारिश,आंधी-तूफान से 3.84 करोड़ की चपत

मई माह बारिश,आंधी-तूफान से 3.84 करोड़ की चपत

21 मई 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen