विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

आजम को औरत के आंसुओं की सजा मिल रही है: जयाप्रदा

पूर्व सांसद जयाप्रदा ने गुरुवार को विभिन्न स्थानों पर जनसभाएं कीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि आजम को औरत के आंसुओं की सजा मिल रही है।

18 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रयागराज

शुक्रवार, 18 अक्टूबर 2019

नरेंद्र गिरि ने कहा, दावा छोड़ें मुसलमान

प्रयागराज। देश की सर्वोच्च अदालत की ओर से अयोध्या प्रकरण पर फैसला सुरक्षित करने के बाद अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने काशी, मधुरा सहित अन्य विवादित स्थलों से भी दावा छोड़ने की अपील की है। परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि मुगलों के शासन काल में देश के अनेक हिंदू मंदिरों को तोड़कर मस्जिद बनाई गई थी। ऐसे में देश के सभी मुसलमानों से अनुरोध है कि वह मथुरा और काशी सहित ऐसे सभी विवादित स्थलों पर से अपना कब्जा छोड़ कर उसे हिंदुओं को सौंप दें। वैसे भी इस्लाम में ऐसी किसी विवादित जगह पर मस्जिद बनाना और नमाज पढ़ना नाजायज माना जाता है। सो अनुरोध है कि मुस्लिम समाज ऐसे स्थलों को हिंदुओं को स्वेच्छा से सौंप दे, इससे देश की एकता और आपसी भाईचारा बनाए रखने में मदद मिलेगी। ... और पढ़ें

पेट्रोल के साथ मिला पानी, आक्रोशित लोगों ने घेरा पेट्रोलपंप

पेट्रोलपंप पर तेल भरवाकर निकले बाइक सवार और कार सवार लोग अचानक परेशानी में आ गए। गाड़ियों ने धोखा दिया तो वह मिस्त्री के पास पहुंचे। मिस्त्री ने देखने के बाद बताया कि टंकी में पेट्रोल के साथ पानी है। इस पर आक्रोशित लोग पेट्रोल पंप पहुंचने लगे। लोगों ने पेट्रोल पंप पर हंगामा शुरू किया तो कर्मचारी वहां से भाग निकले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को वहां से हटाया।
महेशगंज थाना क्षेत्र के बैरागीपुर में कुंडा निवासी गया प्रसाद जायसवाल का एस्सार पेट्रोल पंप है। गुरुवार को पेट्रोल भरवाने वाले लोग परेशानी में पड़ गए। दर्जनों लोगों की बाइक और कारें जगह-जगह बंद हो गईं। बाद में पता चला कि पेट्रोल में पानी होने के चलते गाड़ियों में दिक्कत आ रही है।
गुरुवार को पेट्रोल लेने आए क्षेत्र के सजनलाल, लल्लन यादव, अजय, अजीत, सतीश अभिषेक, राज आदि आक्रोशित होकर पंप पर पहुंच गए और हंगामा करने लगे। पेट्रोल पंप मैनेजर हिमांशु शुक्ला ने पंप को बंद करा दिया।
इस दौरान पेट्रोल पंप पर काम करने वाले सेल्समैन भी भाग निकले। घटना की सूचना पर महेशगंज पुलिस भी मौके पर पहुंची और जांच का आश्वासन देकर भीड़ को वहां से हटाया। इस बारे में टंकी संचालक का कहना है कि पेट्रोल में पानी मिलाया जाना संभव नहीं है। यह नमी की वजह से अंदर पानी जमा हो सकता है।
... और पढ़ें

डॉ. विक्रम ने इविवि में ज्वाइन किया

प्रयागराज। धार्मिक भावनाएं भड़काने वाला बयान देने के आरोप में घिरे इविवि के शिक्षक डॉ. विक्रम लंबी छुट्टी के बाद बृहस्पतिवार को विश्वविद्यालय लौट आए और विभाग में ज्वाइन भी कर लिया। साथ ही पुलिस प्रशासन की ओर से उनकी सुरक्षा के लिए दो गार्ड भी उपलब्ध कराए गए हैं। मध्यकालीन इतिहास विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. विक्रम पर आरोप है कि एक सेमिनार के दौरान उन्होंने धार्मिक भावनाएं भड़काने वाला बयान दिया था। सोशल मीडिया पर बयान वायरल होने के बाद उन्हें फोन और सोशल मीडिया पर धमकी मिलने लगी।
लगातार धमकियां मिलने घबराए डॉ. विक्रम को आशंका थी की उनके साथ भीड़ हिंसा जैसी कोई घटना हो सकती है। इसी आशंका में वह 26 अगस्त को लंबी छुट्टी पर चले गए और तकरीबन 50 दिनों तक शहर से बाहर रहे। बृहस्पतिवार को उन्होंने इविवि ज्वाइन किया, साथ ही उन्होंने कक्षाएं भी लीं। डॉ. विक्रम ने सुरक्षा मुहैया कराने के लिए इविवि को भी एक पत्र लिखा था, जिसके जवाब में इविवि प्रशासन की ओर से कहा गया कि यह उनका व्यक्तिगत मामला है, इस संबंध में जिला एवं पुलिस प्रशासन से बात करें। इसके बाद डॉ. विक्रम एसएसपी से मिले। एसएसपी की ओर से उनको दो सुरक्षागार्ड उपलब्ध करा दिए गए हैं। डॉ. विक्रम ने अब भी अनहोनी की आशंका जताई है।
... और पढ़ें

UPTET 2019: एक नवंबर से कर सकेंगे आवेदन, जानें कब होगी परीक्षा

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP TET 2019) में शामिल होने के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है। इस परीक्षा के लिए विज्ञापन जारी होने, आवेदन करने से लेकर परीक्षा की तारीख तक की जानकारी आधिकारिक रूप से दे दी गई है। उत्तर प्रदेश बेसिक शइक्षा विभाग ने टीईटी का कार्यक्रम जारी किया है।

ऐसा रहेगा आवेदन का पूरा शेड्यूल

  • उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए 31 अक्तूबर 2019 तो विज्ञापन (आधिकारिक अधिसूचना) जारी किया जाएगा। 
  • इसके बाद 1 नवंबर 2019 से उम्मीदवार इसके लिए आवेदन कर सकेंगे। 
  • आवेदन की अंतिम तारीख 20 नवंबर 2019 तय की गई है। अभ्यर्थी 21 नवंबर तक आवेदन शुल्क जमा कर सकेंगे और 22 नवंबर को पूरे किए गए आवेदन का प्रिंट ले सकेंगे।  
  • 12 दिसंबर 2019 तक प्रवेश पत्र (Admit card) वेबसाइट पर अपलोड कर दिए जाएंगे।
ये भी पढ़ें : UPPSC परीक्षा में हुए बड़े बदलाव, अरबी-फारसी समेत पांच विषय हटे, जानें और क्या बदला

कब होगी परीक्षा और कब आएंगे परिणाम

... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

गलत लोकेशन देने पर इंस्पेक्टर सिविल लाइंस लाइन हाजिर

थाने में मौजूद रहकर गलत लोकेशन बताना व अफसरों को गुमराह करना इंस्पेक्टर सिविल लाइंस को भारी पड़ा। एसएसपी ने बृहस्पतिवार रात इंस्पेक्टर राकेश चौरसिया को लाइन हाजिर कर दिया। हालांकि एसएसपी का कहना है कि प्रशासनिक आधार पर पुलिस व्यवस्था के कुशल संचालन के लिए यह कार्रवाई हुई।

करेली में बृहस्पतिवार रात हुई फायरिंग की घटना के बाद 11.30 बजे के करीब एसएसपी खुद मौके पर पहुंचे थे। वहां से लौटते वक्त वह सिविल लाइंस थाने के सामने से होकर गुजरे। इस दौरान थाने में खड़ी सरकारी जीप देखकर वह चौंक गए। सूत्रों की मानेें तो इसके बाद उन्होंने कंट्रोल को निर्देश देकर इंस्पेक्टर की लोकेशन पता कराई। जिस पर इंस्पेक्टर की ओर से बताया गया कि वह गश्त पर हैं। यह पूछने पर कि सरकारी वाहन तो थाने में खड़ा है, उनका कहना था कि वह प्राइवेट गाड़ी से गश्त कर रहे हैं।

जांच कराई गई तो पता चला कि उन्होंने गलत जानकारी देकर उच्चाधिकारियों को गुमराह करने की कोशिश की। जिसके बाद उन्हें लाइन हाजिर कर दिया गया। सूत्रों की मानेें तो इससे पहले भी रात्रिगश्त को लेकर उन्हें कई बार चेताया गया था लेकिन उनके रवैये में कोई सुधार नहीं हुआ। जिसके बाद उन पर यह कार्रवाई की गई।

रात्रिगश्त को लेकर इंस्पेक्टर सिविल लाइंस को पहले भी चेताया गया था। बृहस्पतिवार को भी 11.30 बजे सरकारी वाहन थाने में खड़ा मिला। पहले भी उन्हेें चेतावनी दी जा चुकी थी। पुलिस व्यवस्था के कुशल संचालन के लिए प्रशासनिक आधार पर उन्हें लाइन हाजिर किया गया है।

अन्य भी कई थानेदार करते हैं खेल

आवास या कार्यालय में बैठकर गलत लोकेशन देने के खेल में कई अन्य इंस्पेक्टर भी शामिल हैं। अक्सर ऐसा होता है कि चालक व हमराही सरकारी वाहन लेकर गश्त करते हैं जबकि थाने के प्रभारी आराम फरमाते हैं। कंट्रोल से लोकेशन पूछे जाने पर चालक व हमराही लोकेशन बताकर शांत बैठ जाते हैं। सूत्रों की मानें तो कुछ मामलों में शिकायत भी कंट्रोल तक पहुंची लेकिन उच्चाधिकारियों तक बात न पहुंचने के कारण कार्रवाई नहीं हुई। हालांकि इंस्पेक्टर सिविल लाइंस पर हुई कार्रवाई के बाद प्रभारियों में हड़कंप मचा है।
... और पढ़ें

असलम खान हत्याकांड- सपा नेता और दो स्मैक तस्करों समेत पांच पर रिपोर्ट

मीरगंज/फतेहगंज पश्चिमी। पूर्व सपा नगराध्यक्ष असलम खान की हत्या के मामले में उनकी पत्नी की तहरीर पर सपा नेता हरीश कातिब और दो स्मैक तस्करों समेत पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट की गई है। रिपोर्ट में राजनीतिक रंजिश बताई गई है, जबकि असलियत में स्मैक के धंधे से जुड़ा मामला बताया जा रहा है। दो ग्रुप एक दूसरे पर वर्चस्व बनाने में लगे थे। इसी को लेकर वारदात को अंजाम दिया गया।
फतेहगंज पश्चिमी के मोहल्ला भोलेनगर सराय निवासी असलम खान बुधवार शाम अपने मेडिकल स्टोर पर कुछ लोगों के साथ बैठे थे, तभी बाइक से आए दो लोगों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। गुरुवार को उनकी सभासद पत्नी शबनम निहाल खान ने रिपोर्ट कराई। इसमें कहा गया है कि बाइक से मोहल्ला लोधीनगर निवासी सपा नेता हरीश कातिब, सराय निवासी शराफत हुसैन और उसका भतीजा रिफाकत दो अज्ञात लोगों को लेकर आए। इन लोगों ने उनके पति पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। पेट में गोली लगने से वह कुर्सी से गिर गए। बरेली के एक हॉस्पिटल में ले जाने पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। बताया कि दो साल पहले नगर पंचायत चुनाव के दौरान उनके पति ने मौजूदा चेयरमैन का समर्थन किया था। हरीश कातिब चुनाव हार गया था। तभी से वह उनके पति से खुन्नस मानता था। उसने कुछ दिन पहले ही उनके पति को जान से मारने की धमकी दी थी। पुलिस ने आरोपियों की तलाश में दबिश देनी शुरू कर दी है। हमलावरों के कुछ करीबी उठाए गए हैं। गुरुवार को सपा नेता का शव लाया गया तो हुजूम लग गया। शाम को शव सुपुर्दे खाक कर दिया गया।

हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है। कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया है। परिवार राजनीतिक रंजिश को वजह बता रहा है। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही सही वजह पता लगेगी। - डॉ. संसार सिंह, एसपी देहात
... और पढ़ें

अब मीरगंज में नवजात बच्ची को खेत में फेंका

मीरगंज। अपने कलेजे के टुकड़े को सीने से लगाने के बजाय एक मां ने उसे खेत में फेंक दिया। करीब तीन दिन की नवजात बच्ची तौलिये में लिपटी गन्ने के खेत में मिली। पास में दो डिस्पोजल गिलास और दूध की थैली पड़ी थी। एक ग्रामीण ने बाइक से आए दो युवक और लाल साड़ी पहनी युवती को वहां से जाते देखा। उसने पीछा भी किया, लेकिन वो लोग जा चुके थे। फिलहाल एक नि:संतान दंपती ने बच्ची को अपना लिया है। हालांकि पुलिस का कहना है कि मामले की रिपोर्ट एसडीएम को भेजी जाएगी। इसके बाद ही नवजात की देखरेख और अपनाने वालों के बारे में विचार किया जाएगा।
मामला गुरुवार दोपहर बाद नेशनल हाईवे से गांव मीरनगर नौगवां जाने वाले मार्ग का है। नौगवां गांव के मोनू शर्मा ने वहां से गुजरते वक्त देखा कि एक बाइक से दो युवक और एक लाल साड़ी पहनी युवती गन्ने के खेत में एक थैली लिए खड़े हैं। आशंका होने पर वह खेत की तरफ बढ़े तो वो लोग थैली रखकर वहां से निकल गए। खेत में पहुंचने पर देखा कि वहां एक नवजात बच्ची तौलिये में लिपटी पड़ी थी और भूख से तड़प रही थी। पास में डिस्पोजल गिलास और दूध की थैली रखी थी। माजरा समझ में आने के बाद मोनू बच्ची को उठाकर तत्काल थाने पहुंच गए। यहां से एक महिला महिला पुलिस कर्मी उसे लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची और उसका चिकित्सक से परीक्षण कराया। डॉक्टरों के अनुसार नवजात बच्ची करीब तीन दिन की है। एसएसआई बलवान सिंह ने बताया कि मामले की रिपोर्ट एसडीएम को भेजी जाएगी। वहां से जो निर्णय होगा उसी के अनुसार नवजात के बारे में निर्णय लिया जाएगा। हालांकि अभी उसकी देखरेख दंपती को दी गई है।
नवजात को देख खुशी से झूम उठे दंपती
खेत में मिली बच्ची को एक नि:संतान दंपती ने अपनाया है। दंपती का कहना है कि वह उसका पालन पोषण करेंगे। नवजात कन्या को तड़पते छोड़ने की सूचना पर गांव गुगई निवासी राजू भारती व उसकी पत्नी रचना भारती सीएचसी पहुंचीं थीं। बच्ची मिलने पर वह खुशी से झूम उठे। उन्होंने पुलिस से अपनाने की बात कही तो पुलिस ने कानूनी प्रक्रिया पूरी होने का हवाला दिया।
... और पढ़ें

माघ मेला में नहीं होंगे आश्रयालय

माघ मेला में नहीं होंगे आश्रयालय
0 पांच सेक्टर में बसने वाले मेला में टेंट सिटी पर भी ग्रहण
प्रयागराज। माघ मेला में कुंभ जैसे आयोजन नहीं होंगे। सुविधाएं भी पूर्व की तरह ही मिलेंगी। यानी, स्नानार्थियों को आश्रयालय की सुविधा भी नहीं मिलेगी। हालांकि इस बार आश्रलायल की सुविधा देने की तैयारी थी। पांच सेक्टर में बसने वाले मेला में टेंट सिटी की योजना पर भी ग्रहण लगता दिख रहा है। हालांकि, सफाई और शौचालय की व्यवस्था कुंभ जैसी ही होगी।
माघ मेला को इस बार कुंभ की तर्ज पर आयोजित करने की योजना थी। कुंभ जैसी सुविधाएं दिए जाने की भी कवायद शुरू की गई थी। इसमें आश्रयालय, टेंट सिटी समेत कई योजनाएं प्रस्तावित थीं। इस मकसद से पांच के बजाय आठ सेक्टर में मेला बसाने का निर्णय लिया गया। साथ ही अलग-अलग विभागों की ओर से 150 करोड़ रुपये से अधिक के प्रस्ताव भेजे गए थे लेकिन बजट पर अड़ंगा लग गया है। अब पांच सेक्टर में मेला आयोजित होगा। इसके अलावा सुविधाएं भी पूर्व में की भांति दी जाएंगी। मंडलायुक्त डॉ.आशीष गोयल का कहना है कि मिनी कुंभ जैसी कोई बात नहीं है। सेनीटेशन से संबंधित कुछ सुविधाएं बढ़ेंगी, जो 2018 के माघ मेला में भी थीं। स्नानार्थियों के लिए आश्रय स्थल बनाने या अन्य कोई नई सुविधा शुरू करने की योजना नहीं है।
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ के सीएम की सुरक्षा में भारी चूक, धक्कामुक्की

कांधरपुर में आयोजित कांग्रेस की जनसभा में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सुरक्षा में भारी चूक हुई। सीएम की सुरक्षा को लेकर प्रशासन और पुलिस पूरी तरह से लापरवाह बनी रही। जनसभा स्थल से एक किलोमीटर दूर खेत में धान की फसल के बगल मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर उतरने के लिए हेलीपैड बनाया गया था।
वहां ईंट तक नहीं बिछाई गई थी। पुलिसकर्मी चारों तरफ खेत में खड़े नजर आए। जनसभा स्थल पर भी भारी लापरवाही दिखी। मंच पर चढने और उतरने के दौरान उत्साही कार्यकर्ता धक्कामुक्की करने लगे। इससे मुख्यमंत्री को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा।
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कांधरपुर में आयोजित जनसभा के लिए हेलीपैड बगल में ही बनाया गया था, लेकिन बाद में प्रशासन ने इसके लिए अनुमति नहीं दी। इस पर बाजार से एक किमी पहले खेत में आननफानन में हेलीपैड तैयार किया गया। यहां भारी अव्यवस्था नजर आई। हेलीपैड के आसपास एक ईंट भी नजर नहीं आईं।
चारों तरफ खेत में पुलिसकर्मी खड़े नजर आए। यहां से कार से मुख्यमंत्री जनसभा स्थल तक पहुंचे। इस दौरान भी पुलिस लापरवाह नजर आई। मुख्यमंत्री की गाड़ी के दोनों तरफ पुलिसकर्मी रस्सी लेकर सुरक्षा करते नजर आए। बैरिकेडिंग तक नहीं की गई थी। सीएम गाड़ी से उतरकर किसी तरह मंच पर पहुंचे।
सभा खत्म होने के बाद सीएम मीडिया के सवालों का जवाब देने के बाद अपनी गाड़ी की तरफ बढ़े तो उनसे हाथ मिलाने को लेकर धक्कामुक्की होने लगी। इससे वह असहज नजर आए। इस दौरान पुलिसकर्मी तमाशबीन बन रहे।
सीएम की जनसभा होने के बाद भी वहां एएसपी रैंक का कोई अफसर मौजूद नहीं था। सभास्थल सडक़ किनारे खेत में बनाया गया था। बगल में फसल भी बोई गई थी। मंच के आगे तो पुलिसकर्मी दिखे, लेकिन पीछे कोई नजर नहीं आया।
ोहडौर के कांधरपुर बाजार में आनन फानन में नया हेलीपैड बनाने को बैरीकेटिंग करते मजदूर।
ोहडौर के कांधरपुर बाजार में आनन फानन में नया हेलीपैड बनाने को बैरीकेटिंग करते मजदूर।- फोटो : PRATAPGARH
... और पढ़ें

असिस्टेंट प्रोफेसर भूगोल का परिणाम घोषित

प्रदेश में डीजे बजाने पर रोक बरकरार

प्रयागराज। डीजे बजाने की अनुमति नहीं देने के इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीमकोर्ट की रोक सिर्फ याचिका दाखिल करने वाले डीजे संचालकों के लिए है। यह अन्य डीजे संचालकों पर लागू नहीं होगा। बागपत के सचिन कश्यप और 11 अन्य डीजे संचालकों ने हाईकोर्ट के आदेश के विरुद्ध सुप्रीमकोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दाखिल की थी।
याचिकाकर्ताओं के वकील का कहना था कि हाईकोर्ट ने सुशील चंद्र श्रीवास्तव व अन्य द्वारा अपनी समस्या को लेकर दाखिल याचिका पर सामान्य निर्देश जारी किए हैं। यह जनहित याचिका नहीं थी। याचीगण भी इन निर्देशों से प्रभावित होंगे, जबकि वह हाईकोर्ट के समक्ष याचिका में पक्षकार नहीं थे। याचीगण की दलील को ध्यान में रखते हुए सुप्रीमकोर्ट ने सिर्फ याचिकाकर्ता के लिए हाईकोर्ट के आदेश के पैरा तीन पर रोक लगाई है। जबकि, ध्वनि प्रदूषण को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा दिए गए अन्य निर्देश यथावत लागू रहेंगे। ऐसी स्थिति में कानून के विपरीत डीजे बजाने पर अब भी कार्रवाई हो सकेगी। हाईकोर्ट ने अपने आदेश के पैरा तीन में डीजे बजाने से होने वाले ध्वनि प्रदूषण के कारण अधिकारियों को डीजे की अनुमति नहीं देने का आदेश दिया है।
... और पढ़ें

श्यामा प्रसाद में कोई नामांकन दाखिल नहीं

प्रयागराज। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के संघटक कॉलेज श्यामा प्रसाद मुखर्जी पीजी कॉलेज में छात्र परिषद चुनाव में नामांकन के लिए कोई विद्यार्थी आगे नहीं आया। कॉलेज की ओर से 17 अक्तूबर को नामांकन दाखिल करने की तिथि तय की गई थी। ऐसे में कॉलेज प्राचार्य डॉ. अरुण प्रकाश ने चुनाव के पूर्व में तय सभी कार्यक्रम निरस्त कर दिए हैं।
वहीं ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज में छात्र परिषद के चुनाव को लेकर 18 अक्तूबर को नामांकन दाखिल किया जाएगा, जबकि नाम वापसी 21 अक्तूबर को होगी। 23 अक्तूबर को प्रात: 8.30 से 12.30 के बीच मतदान होगा। इसी क्रम में इलाहाबाद डिग्री कॉलेज में 16 अक्तूबर को नामांकन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।
बृहस्पतिवार को नामांकन के खिलाफ आपत्ति मांगी गई थी। प्राचार्य डॉ. अतुल कुमार सिंह ने बताया कि किसी नामांकन के खिलाफ आपत्ति नहीं आई। वहीं सीएमपी डिग्री कॉलेज में बृहस्पतिवार को आपत्ति, नामांकन पत्रों की जांच और आपत्तियों का निराकरण किया जाना था, वहां दो नामांकन के खिलाफ आपत्ति आई थी। आपत्ति कर्ता का नाम स्पष्ट नहीं होने के चलते कॉलेज प्रशासन ने आपत्ति खारिज कर दी।
... और पढ़ें

दुर्गा पूजा में चंदा वसूली को लेकर हुई मारपीट में घायल युवक की मौत

गांव में दुर्गापूजा और रामलीला के आयोजन को लेकर हुई चंदा वसूली के विवाद को लेकर नवमी की रात दो पक्षों में हुई मारपीट में घायल एक युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने बीच सडक़ पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया। बाद में आरोपियों की गिरफ्तारी और आर्थिक सहायता के आश्वासन पर ढाई घंटे बाद चक्काजाम समाप्त हुआ।
संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के बेहलामई निवासी रामकैलाश उर्फ छुट्टन (36) पुत्र श्रीनाथ और उसका भाई राजकुमार उर्फ गुड्डन प्रत्येक साल गांव में दुर्गा पूजा और रामलीला का आयोजन करते थे। इस बार गांव में महादेव इंटर कालेज के नाम से विद्यालय चलाने वाले राजकुमार पटेल निवासी भरिस्ता थाना संग्रामगढ़ ने दूसरी जगह नव दुर्गा पूजा की प्रतिमा स्थापित कर रामलीला का मंचन कराया था। नवमी की शाम विसर्जन के दिन दोनों पक्षों में चंदा वसूली को लेकर विवाद हो गया।
इसमें दोनों तरफ से जमकर मारपीट हुई। इसमें रामकैलाश उर्फ छोटन और दूसरे पक्ष से रामसुमेर पटेल पुत्र महादेव को चोट आई थी। गंभीर रूप से घायल रामकैलाश उर्फ छोटन को परिजनों ने संग्रामगढ़ अस्पताल से रेफर कर दिया गया था।
उसका इलाज प्रयागराज में एक निजी नर्सिंगहोम में चल रहा था। मंगलवार को इलाज के बाद रामकैलाश छुट्टन को लेकर परिजन घर लौटे तो रात में उसकी मौत हो गई। गुरुवार को सुबह ग्रामीणों और परिजनों ने शव को नई बाजार में रखकर हीरागंज-बाबागंज मार्ग जाम कर दिया।
साथ ही पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करनी शुरू कर दी। सूचना पर एसडीएम मोहनलाल गुप्ता और सीओ लालगंज रमेश कुमार मौके पर पहुंचे। इसके बाद आर्थिक सहायता और आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस पर ढाई घंटे बाद चक्का जाम खत्म हुआ औ पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
संग्रामगढ़ पुलिस ने मृतक के भाई राजकुमार उर्फ गुड्डन की तहरीर पर गांव के ही अपना दल नेता राजकुमार पटेल, संतलाल पटेल, जयप्रकाश साहू और सूबेदार पटेल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।
बिना अनुमति हुई दुर्गा पूजा और रामलीला
कुंड। संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के बेहलामई गांव में हर साल राजकुमार उर्फ गुड्डन और उसका भाई राम कैलाश उर्फ छोट्टन 9 दिन तक दुर्गा पूजा और रामलीला का आयोजन करते हैं ।अबकी बार राजनीतिक कारणों से गांव के ही रामसुमेर पटेल और उसके भांजे राजकुमार पटेल के विद्यालय महादेव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के नाम से स्कूल संचालित करता है।
उसने बिना अनुमति के गुटबाजी करते हुए दुर्गा प्रतिमा स्थापित की और रामलीला का मंचन भी किया। थानाध्यक्ष संग्रामगढ़ तुषारदत्त त्यागी का कहना है कि सिर्फ राजकुमार उर्फ गुड्डू द्वारा रामलीला और दुर्गा पूजा की अनुमति ली गई थी। दूसरे पक्ष द्वारा कोई अनुमति नहीं ली गई थी।
बाबागंज-हीरागंज मार्ग पर जाम लगाए बेहलामई गांव के लोग।
बाबागंज-हीरागंज मार्ग पर जाम लगाए बेहलामई गांव के लोग।- फोटो : PRATAPGARH
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree