जब जमीं के चांद ने देखा गगन का चांद

अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद Updated Thu, 20 Oct 2016 01:30 AM IST
Gagan saw the passing of the moon Phoebe
allahabad
इलाहाबाद। अखंड सौभाग्य की मंगलकामना के साथ सुहागिनों ने बुधवार को करवा चौथ का व्रत रखा। दिन भर के निर्जला व्रत के बाद चांद उगने पर उसे चलनी से देखकर अर्घ्य दिया। पति की लंबी उम्र के लिए प्रार्थना की। घर की बड़ी-बूढ़ियों के पांव छूकर उनका आशीर्वाद लिया। पति के पांव छुए और फिर पति के हाथ से कोई मीठी चीज और पानी पीकर व्रत पूरा किया। सुहागिनों के अतिरिक्त ऐसी युवतियों ने भी अपने भावी पति के आयुष्य और मंगल कामना के लिए व्रत रखा, जिनका विवाह तय हो चुका है। 
पूरा दिन तो तैयारियों में बीता लेकिन शाम ढलने के साथ ही बेताबी से चांद के उगने का इंतजार होने लगा। घर के किसी सदस्य ने चांद दिखने पर आवाज लगाई तो सुहागिनें चहक उठीं। दिन भर के व्रत को पूर्णता मिलने की खुशी में सुहागिनों के चेहरे खिल उठेे। पूजा के स्थान को विशेष रूप से सजाया गया। चांद को अर्घ्य से पहले गणपति और शिव-पार्वती की पूजा की गई। परंपरा के अनुसार किसी ने फूल या पीतल के करवे से तो किसी ने मिट्टी के करवे से पूजा की। अनेक सुहागिनों ने पीतल या फूल के उसी करवे से पूजा की जिससे उन्होंने पहली बार व्रत की शुरुआत की थी। 
जिनका पहला करवाचौथ रहा, ऐसी सुहागिनें सबसे ज्यादा उत्साहित रहीं। करवा चौथ व्रत के मद्देनजर सुहागिनें दुल्हन की तरह सजीं। सोलह शृंगार किया और हथेलियों पर मेहंदी रचाई। अपनी-अपनी परंपरा के अनुसार किसी ने रात में बारह बजे से पहले तो किसी ने सुबह चार बजे उठ कर सरगी खाई। करवा चौथ को लेकर सुबह से ही घरों में जोरशोर से तैयारियां चलती रहीं।  पूजा के साथ-साथ तरह-तरह के पकवान बनाए गए। व्रत पर्व पर खासकर दाल के फरे, कढ़ी, चावल, पकौड़ी, पूड़ी-कचौड़ी, खीर पकाई गई। शाम को मिठाई की दुकानों पर भी भीड़ रही। पतियों अपनी पत्नी की पसंद की मिठाई खरीदी। 

खास रही ज्वेलरी, चूड़ी, कड़े
व्रत के लिए कपड़ों और ज्वेलरी की खरीद की तैयारी कई दिनों पहले से ही शुरू हो गई थी। इसके बावजूद बुधवार को भी बाजारों में भीड़ रही। करवा, सींका, फल, फूल, मिठाई सहित पूजा का सामान तो खरीदा ही गया, कपड़े और ज्वेलरी की खरीद भी होती रही। दरअसल कई दिनों बाजार में चक्कर लगाने के बाद भी जिन्हे अपनी मनपसंद मैचिंग की चीजें नहीं मिल सकी थीं, उन्होंने व्रत के दिन उसे फाइनल किया। चूड़ी, कड़े, ज्वेलरी सभी कुछ खास रहा। रात की पूजा के लिए किसी ने घर पर ही सोलह शृंगार किया तो किसी ने तैयारी के लिए पार्लर में बुकिंग करा रखी थी।

हथेलियों पर रचाया पति का नाम
हथेलियों पर मेहंदी रचाने के लिए बाजारों में अपनी बारी के लिए होड़ रही। वैसे तो तमाम सुहागिनों ने एक या दो रोज पहले ही हथेलियां रचा ली थीं लेकिन अनेक सुहागिनों ने व्रत वाले दिन ही हथेलियां रचाईं ताकि हथेलियां चमक ती रहें। सिविल लाइंस सहित मीरापुर से लेकर तेलियरगंज और दारागंज से लेकर प्रीतमनगर तक मेंहदी लगवाने के लिए सुहागिनों में होड़ मची रही। किसी ने मारवाड़ी मेहंदी लगवाई तो किसी ने अरेबियन। मेंहदी की डिजाइन के बीच सुहागिनों ने पति का नाम भी रचवाया। 

वेब कैम से भी निहारा मुखड़ा
करवा चौथ पर जिनके पति शहर में नहीं थे उन्होंने अपना व्रत पूरा करने के लिए टेकभनोलाजी का भरपूर इस्तेमाल किया। पूजा करने के बाद वैब कैमरा, वीडियो कालिंग के जरिए पति को देखकर व्रत पूरा किया। वहीं जिनके पास वैब कैमरे की सुविधा नहीं थी, उन्होंने पति की फोटो देखकर अपने व्रत को पूरा किया।

मंदिरों, फ्लैट्स, पार्कों में सामूहिक पूजा
करवाचौथ की पूजा घरों के साथ ही शिव मंदिरों, फ्लैट्स और पार्कों में भी सामूहिक रूप से की गई। जुटीं सुहागिनों ने चांद निकलने के बाद अर्घ्य दिया, इससे पहले सामूहिक रूप से शिवपार्वती और गणेश की पूजा की, मंगल गीत गाए।

Spotlight

Most Read

Rohtak

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए उमड़े लाखों श्रद्धालु

मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए लाखों श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंच चुके हैं। संगम तट पर चल रहे माघ मेले के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए हुए हैं।

16 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper