भारी घाटे में चल रहा बीएसएनएल प्रयागराज और कौशाम्बी में बेचेगा अपनी अरबों की संपत्ति

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज Published by: विनोद सिंह Updated Sun, 29 Aug 2021 06:01 PM IST

सार

दरअसल भवनों से लेकर एक्सचेंज बूथों, टेलीफोन से जुड़े उपकरणों का अब कोई प्रयोग नहीं रह गया है। इसलिए उसकी उपयोगिता न के बराबर रह गई है। नई तकनीक के आने से  लगातार घाटे में जा रहे बीएसएनएल की वजह से नया संकट खड़ा हुआ है। 
BSNL LOGO
BSNL LOGO - फोटो : amarujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बीएसएनएल ने प्रयागराज और कौशाम्बी में मौजूद अपनी अरबों रुपयेे की संपत्ति को बेचने की तैयारी कर ली है। केंद्र सरकार के आदेश के बाद एक दर्जन से अधिक भवनों और तकरीबन 45 हजार स्क्वायर मीटर भूमि चिह्नित कर ली गई है। इसे बेचने के लिए जल्द ही सूचना जारी कर दी जाएगी। इससे पहले केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की ओर से बेसिक कीमत तय करते हुए इसकी बोली लगाई जाएगी। ज्यादा बोली लगाने वाले को ही भूमि और भवन दिया जाएगा। दर्जन स्थानों पर बने भवन किराए पर भी दिए जाएंगे। कई भवनों को किराए पर देने के लिए सरकारी विभागों से अनुबंध भी कर लिया गया है।
विज्ञापन

BSNL
BSNL
दरअसल भवनों से लेकर एक्सचेंज बूथों, टेलीफोन से जुड़े उपकरणों का अब कोई प्रयोग नहीं रह गया है। इसलिए उसकी उपयोगिता न के बराबर रह गई है। नई तकनीक के आने से  लगातार घाटे में जा रहे बीएसएनएल की वजह से नया संकट खड़ा हुआ है। हालत यह हो गई है कि बीएसएनएल अपने कर्मचारियों का वेतन तक नहीं दे पा रहा है जिससे नौकरी का संकट भी खड़ा हो गया है। बीएसएनएल के पास फोर जी जैसी सेवा तकनीक भी नहीं है, जिससे वह ज्यादा उपभोक्ताओं को जोड़कर  कमाई कर सके। 

केंद्रीय मुख्यालय से निर्देश आने के बाद उन भवनों और उनसे जुड़ी संपत्तियों को बेचने का निर्णय लिया गया है। - एनके यादव, उप मुख्य अभियंता, बीएसएनएल

demo
demo
इन स्थानों पर बने भवनों और भूमि की होगी बिक्री
बीएसएनएल जीएम कार्यालय के बगल स्थित सीटीओ कंपाउंड की 14300 स्क्वॉयर मीटर, झलवा में 21 हजार मीटर, अल्लापुर में 5800 स्क्वॉयर मीटर, टीपीनगर में 5700 स्क्वॉयर मीटर, मीरापुर एडीए कॉलोनी में 245 स्क्वॉयर मीटर, मेजा में 1188 स्क्वॉयर मीटर, लालगोपालगंज में 2500 स्क्वॉयरमीटर, हंडिया में 840 स्क्वॉयर मीटर भूमि शामिल हैं। इन स्थानों पर भवन भी बने हुए है। सबसे अधिक भूमि झलवा में है। सर्किल रेट के हिसाब से इसकी कुल कीमत 48 करोड़ रुपये से अधिक है।

जिन भवनों को दिया जाएगा किराए पर
नवाब यूसुफ रोड पर स्थित सीटीओ कार्यालय का पांचवां और छठा फ्लोर, एमजी मार्ग पर स्थित भवन का 240 स्क्वायर मीटर क्षेत्रफल का भूतल और प्रथम तल, अल्लापुर स्थित टीई भवन और सीएससी द्वितीय तल, मम्फोर्डगंज स्थित टीई भवन का प्रथम तल, झूंसी कार्यालय का प्रथम तल, कालिंदीपुरम कार्यालय का प्रथम तल और मंझनपुर कार्यालय का द्वितीय तल शामिल है। इसके पहले महाप्रबंधक कार्यालय के छठे तल और पांचवें तल को ईडी और टेक्सटाइल विभाग से अनुबंध करके दिया जा चुका है। वहीं मंझनपुर में भी जीएसटी को एक भवन सौंपा जा चुका है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00