पटरी पर नहीं लौट रही सफाई व्यवस्था

Allahabad Updated Tue, 21 Jan 2014 05:43 AM IST
इलाहाबाद। शहर में सफाई व्यवस्था पटरी पर नहीं लौट रही है। बकाया रकम का एक हिस्सा मिलने के बाद सफाई कार्य में लगी कंपनी एडब्ल्यूपी ने कुछ वार्डों में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन और डंपिंग ग्राउंड से कूड़ा उठाने का काम शुरू कर दिया है लेकिन ज्यादातर मोहल्ले गंदगी से पटे हैं और नालियां बजबजा रही हैं। इसके पीछे कर्मचारियों की कमी को कारण बताया जा रहा है लेकिन विकल्प के तौर पर करीब 350 सफाई मजदूरों को ठेके पर रखा गया। हालांकि सफाई मजदूरों की यह संख्या बेहद कम है। नतीजा है कि कई मोहल्लों में नियमित रूप से सफाई नहीं हो पा रही है, जबकि कूड़ा भी रोज नहीं उठ रहा है। नाले-नालियों की नियमित सफाई न होने का नतीजा है कि दो दिन लगातार हुई बारिश से भारी जलभराव हो गया। शहर में कूड़ा उठाने के काम में लगी कंपनी एडब्ल्यूपी ने बकाया रकम ने मिलने पर अक्तूबर में काम बंद कर दिया था। डंपिंग ग्राउंड से कूड़ा उठाना और डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन बंद हुआ तो शहर में सफाई व्यवस्था ध्वस्त हो गई। डंपिंग ग्राउंड और मोहल्लों में कूड़े का ढेर लगने लगा तो नगर निगम ने अपने श्रोत से सफाई का बीड़ा उठाया लेकिन पूरी तरह कंपनी पर आश्रित हो चुके नगर निगम को इसमें खास सफलता नहीं मिली। फिर चाहे शहर के पॉश इलाके सिविल लाइंस, अशोक नगर, जार्जटाउन, लूकरगंज हों या फिर चौक, कटरा, बहादुरगंज, मुट्ठीगंज, मीरापुर, करेली, अल्लापुर, कीडगंज, रामबाग जैसे घनी आबादी वाले मोहल्ले, हर जगह सड़क, गलियों में कूडे़ का अंबार लग गया। सबसे खराब हालत टैगोर टाउन की है। यहां रहने वाले राकेश श्रीवास्तव का कहना है कि कर्नलगंज इंटर कॉलेज के ठीक पीछे कई-कई दिनों तक कूड़ा पड़ा रहता है। बारिश और जलभराव की वजह से कूड़े से दुर्गंध उठने लगी है। पूर्व पार्षद नयन श्रीवास्तव का कहना है कि हाशिमपुर रोड पर चिल्ड्रेन अस्पताल के पास सीवर लाइन महीनों से जाम है। चिल्ड्रेन अस्पताल के अलावा चौराहे पर निजी अस्पताल और दवा की दुकानें हैं, जिसमें बड़ी संख्या में मरीज पहुंचते हैं लेकिन चौराहे पर कीचड़, कूड़ा और सीवर का पानी भरने से लोगों को राह चलना मुश्किल है। बघाड़ा, करनपुर, एलनगंज और एलआईसी कॉलोनी का भी यही हाल है। बघाड़ा की सीता देवी और करनपुर के लालचंद्र का कहना है कि यहां के नाले-नालियां बरसों से साफ नहीं हुए। बाढ़ के दौरान इन मोहल्लों में पानी भरने पर बड़ी मात्रा में नालों में मलबा भी भर गया लेकिन उसे आज तक साफ नहीं कराया गया। इसी तरह कटरा में मनमोहन पार्कचौराहा, विश्वविद्यालय मार्ग, लक्ष्मी चौराहा, एसएसपी ऑफिस के पास कूड़े के ढेर के कारण लोग परेशान हैं। कटरा बाजार के साथ गलियों का भी बुरा हाल है। यहां की नालियों की सफाई आखिरी बार कब हुई, शायद सफाई कर्मियों को भी याद नहीं होगा। नया कटरा, ममफोर्डगंज की सड़क, गलियों में भी स्थिति कमोबेश ऐसी ही है। हालांकि नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पीके सिंह का कहना है कि नगर आयुक्त के निर्देश पर सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने का प्रयास लगातार किया जा रहा है। अफसरों का कहना है कि एडब्ल्यूपी ने 15 वार्ड में काम शुरू कर दिया है। इसके अलावा निगम की ओर से 350 सफाई कर्मचारी ठेके पर रखे गए हैं, जिन्हें जरूरत के हिसाब से कार्य में लगाया जाता है।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper