मेले में झाम ही झाम, संतों ने किया चक्काजाम

Allahabad Updated Mon, 20 Jan 2014 05:43 AM IST
इलाहाबाद। बारिश थम गई लेकिन अपने पीछे ढेरों मुसीबतें छोड़ गई है। तमाम कोशिशों के बावजूद मेला क्षेत्र के बड़े हिस्से में जल निकासी पूरी तरह से नहीं की गई है। चौतरफा पानी से घिरे और अव्यवस्था से त्रस्त संतों का गुस्सा आखिर फूट पड़ा और रविवार सुबह उन्होंने मेला क्षेत्र में चक्काजाम कर दिया। संतों के गुस्से के आगे पुलिस को उल्टे पांव लौटना पड़ा। बाद में मेला प्रशासन के अफसरों ने संतों से बात की और व्यवस्था दुरुस्त करने का आश्वासन दिया तो जाम हटाया गया।
बारिश के कारण मेला क्षेत्र पहले से ही तालाब बना हुआ है। शनिवार को आधी रात के बाद गंगा का जलस्तर बढ़ने के कारण काली मार्ग और त्रिवेणी मार्ग के बीच के हिस्से में पानी तेजी से फैलने लगा और सुबह तक हालात काफी बदतर हो गए। सुबह कई शिविरों में पानी घुस गया और जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं की गई। इससे नाराज संतों ने रविवार सुबह साढ़े आठ बजे त्रिवेणी मार्ग पर झूंसी की तरफ चक्काजाम कर दिया। मेला क्षेत्र का यह सबसे प्रमुख और व्यस्त मार्ग है। चक्काजाम हो जाने से वहां हड़कंप मच गया। संतों का गुस्सा देख पुलिस को वहां से खाली हाथ लौटना पड़ा। चक्काजाम में शामिल संतों में अविमुक्तेश्वरानंद सहित प्रबल महाराज के यहां के लोग भी बड़ी संख्या में थे। हंगामा बढ़ने पर एक घंटे बाद प्रभारी अधिकारी मेला सुनील कुमार मिश्र और मेला प्रबंधक सुशील कुमार चौबे सहित स्वास्थ्य विभाग और जल निगम के अफसर मौके पर पहुंच गए। संतों को आश्वस्त किया गया कि दो घंटे के भीतर सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त कर दी जाएंगी। साथ ही मौके पर जेनरेटर लगाकर जल निकासी के लिए पंप भी चलवा दिए गए। अफसरों ने संतों के समक्ष अपनी मजबूरी भी बयां की कि यह प्राकृतिक आपदा है, सो इससे समस्या से निपटने में मेला प्रशासन का सहयोग करें। अफसरों से आश्वासन मिलने के बाद संतों ने तीन घंटे बाद चक्काजाम समाप्त कर दिया।
राशन न मिलने से नाराज कल्पवासियों ने रविवार को मेला क्षेत्र के सेक्टर-पांच में धरना-प्रदर्शन किया। कल्पवासियों का कहना था कि ज्यादातर को अब तक राशन कार्ड नहीं मिला और जिन्हें कार्ड जारी किए गए, उन्हें दुकान से राशन नहीं मिला।
मूसलाधार बारिश के कारण मेला क्षेत्र के हजारों शिविरों में पानी घुस गया और वहां रखा राशन पानी में भीगकर बर्बाद हो गया। राशन कल्पवासी अपने घर से लेकर आए थे। ज्यादातर कल्पवासियों को अब तक राशन कार्ड नहीं बना है, सो उन्हें मेला क्षेत्र में स्थित सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान से राशन भी नहीं मिल पा रहा है। अब तक तो जैसे-तैसे काम चल रहा था, लेकिन बारिश के कारण जब सबकुछ बर्बाद हो गया तो कल्पवासियों को राशन के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा। आखिर कल्पवासियों का गुस्सा फूट पड़ा और रविवार को सैकड़ों कल्पवासी मेला क्षेत्र के सेक्टर-पांच में धरना-प्रदर्शन करने लगे। बाद में अफसरों ने आश्वस्त किया कि जल्द ही सबके राशन कार्ड बना दिए जाएंगे और दुकानों से एपीएल दर पर राशन मुहैया कराया जाएगा। इस आश्वासन के बाद कल्पवासियों ने धरना-प्रदर्शन खत्म किया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018