कुंभ में भड़की आग, छह टेंट खाक, 19 लोग झुलसे

Allahabad Updated Sat, 26 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
महाकुंभ नगर। कुंभ मेले में सेक्टर 11 में शुक्रवार शाम कल्पवासियों के शिविर में आग भड़क उठी। गैस रिसाव से लगी आग की चपेट में आकर एक के बाद एक छह टेंट लपटों से घिर गए। फायर ब्रिगेड के साथ शिविर में ठहरे लोगों ने आग पर काबू पाने की भरसक कोशिश की लेकिन भारी नुकसान हो गया। आग की चपेट में आकर 19 लोग झुलस गए। इनमें कई महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। अग्निकांड से खलबली मच गई। झुलसे लोगों को एंबुलेंस से पहले मेला सेंट्रल हॉस्पिटल और वहां से शहर में स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय रेफर किया गया।
विज्ञापन

शाम करीब पांच बजे की घटना है। सेक्टर 11 में त्रिवेणी मार्ग स्थित साकेत धाम आश्रम और बड़े भक्तमाल आश्रम के पीछे कल्पवासियों के शिविर में आग भड़क उठी। गैस सिलेंडर में लीकेज के कारण फैली आग से वहां कोहराम मच गया। शिविर में चीख-पुकार होने लगी। साकेत धाम आश्रम के प्रबंधक अवधेश दिवेदी और स्वामी राम शुभगदास जी महाराज खुद आग बुझाने में जुट गए। कुछ देर बाद गंगा प्रसार फायर स्टेशन से दमकल दस्ता आ गया। आग की भयावहता को देखते हुए दो और फायर स्टेशन से दमकल गाड़ियां वहां मंगा ली गईं।

दमकल कर्मियों ने काफी मशक्कत की मगर देखते ही देखते आठ टेंट पूरी तरह नष्ट हो गए। उनमें रखे सारे सामान, पैसे, कपड़े, राशन, सब्जियां, बैग, अटैचियां भी जल गए। आग बुझाने की कोशिश में 19 लोग झुलस गए। तीन बच्चे भी आग की चपेट में आ गए। इस बीच, उसी क्षेत्र में मौजूद कमिश्नर देवेश चतुर्वेदी भी शिविर में आ गए। उन्होंने स्वास्थ्य महकमे को एलर्ट किया। इसके बाद मौके पर एक दर्जन एंबुलेंस पहुंच गईं। झुलसे लोगों को एंबुलेंस से सेंट्रल हॉस्पिटल भेजा गया। वहां प्राथमिक उपचार के बाद सभी झुलसे लोगों को शहर में स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में बर्न वार्ड के लिए रेफर किया गया।
00000000000
जलता गैस सिलेंडर फेंका दूसरे शिविर में
महाकुंभ नगर। घटनाक्रम के बारे में साकेत धाम के प्रबंधक आचार्य अवधेश दिवेदी और प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि साकेतधाम के पीछे कौशल किशोर दास जी महाराज के शिविर में सिलेंडर में गैस रिसाव से आग लगी थी। आग नहीं बुझी तो उधर से सिलेंडर उठाकर साकेत धाम के कल्पवासियों के शिविर में फेंक दिया। राजजरूपपुर की राजकुमारी मिश्रा उस वक्त अपने टेंट में बैठकर नाती अनुराग मिश्र और बहू संध्या के साथ कथा सुन रही थीं। जलता सिलेंडर टेंट में गिरते ही तेजी से आग फैली। हल्ला मचा तो लोग पानी, बालू लेकर दौड़े लेकिन देखते ही देखते राजकुमारी मिश्रा और बेसिक शिक्षा के बाबू प्रदीप मिश्र समेत छह टेंट चल गए। प्रबंधक आचार्य अवधेश ने बताया कि तीन कल्पवासियों और तीन फेमिली टेंट आग की चपेट में आकर जले हैं। हादसे में नगदी, गहने, कपड़े, राशन समेत कई गाड़ियां, बर्तन भी जल गए। कई लाख की क्षति हो गई।
0000000000
ये आए अग्निकांड की चपेट में
0आग में सृजल 4 वर्ष, श्रीयश 6 वर्ष, भूमि 8 वर्ष, विनोद 35 वर्ष, प्रभा देवी 48 वर्ष, नितेश 32 वर्ष, बबलू जायसवाल 42 वर्ष, शकुंतला देवी 65 वर्ष, रानी गुप्ता 62 वर्ष, कमला देवी 60 वर्ष, पुष्पा देवी 60 वर्ष, रमा 50 वर्ष, मुन्नी जायसवाल 60 वर्ष, सुखराजी देवी 35 वर्ष, जमुना प्रसाद 68 वर्ष, बैद्यनाथ 26 वर्ष, गंगा देवी 50 वर्ष झुलसे हैं। इनमें पांच लोग 50 फीसदी से ज्याजा जले हैं। उनकी हालत गंभीर है।
000000000000
गंभीर झुलसे लोग भेजे जाएंगे दिल्ली
महाकुंभ नगर। आग की चपेट में आकर झुलसे 19 लोगों में पांच लोगों की हालत गंभीर बताई गई है। वे 50 फीसदी से ज्यादा झुलसे हैं। सपा सांसद रेवती रमण सिंह ने कमिश्नर से कहा है कि हादसे में 50 प्रतिशत से ज्यादा झुलसे लोगों को बेहतर इलाज की खातिर दिल्ली में सफदरगंज अस्पताल भेजा जाए। उस अस्पताल में खास बर्न वार्ड है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X