संगम की सरजमीं पर नहीं उतर सके सीएम

Allahabad Updated Sun, 16 Dec 2012 05:30 AM IST
इलाहाबाद। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार को कुंभ मेले का निरीक्षण करने और अलोपीबाग फ्लाईओवर का लोकार्पण करने लखनऊ से तो चल दिए लेकिन धुंध ने उन्हें संगम की सरजमीं पर उतरने से रोक दिया। फाफामऊ से कुछ पहले छाए जबर्दस्त कोहरे के कारण विजिबिलिटी काफी कम हो गई। एयरफोर्स से संपर्क करने पर हेलीकॉप्टर न उतारने की सलाह दी गई और दो चक्कर लगाने के बाद सीएम का हेलीकॉप्टर लखनऊ लौट गया। मुख्यमंत्री के स्वागत में पलके बिछाए सपाइयों को जब मालूम हुआ कि सीएम लौट गए हैं तो कार्यकर्ताओं के चेहरे उतर आए। सीएम को इलाहाबाद में महाधिवक्ता एसपी गुप्ता और न्यायमूर्ति रवींद्र सिंह के निवास पर भी जाना था।
सीएम अखिलेश यादव को शनिवार सुबह 9.30 बजे हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइन मैदान पर उतरना था। लखनऊ में मौसम ठीक था लेकिन इलाहाबाद में गहरी धुंध छायी थी। सुबह 9 बजे विजिबिलिटी शून्य थी। धीमे-धीमे विजिबिलिटी बढ़नी शुरू हुई लेकिन हेलीकॉप्टर उतारने के लिए जितनी विजिबिलिटी चाहिए थी, उतनी नहीं मिल सकी। हालांकि आईजी, कमिश्नर, डीएम, डीआईजी सहित तमाम अफसर सुबह 9.30 बजे से ही मुख्यमंत्री के स्वागत में पुलिस लाइन पहुुंच गए थे। सपा के ज्यादातर विधायक भी पुलिस लाइन में मौजूद थे तो पुलिस लाइन के बाहर हजारों कार्यकर्ता अपने नेता के पहुंचने का इंतजार कर रहे थे। दोपहर 12 बजे सूचना आई कि सीएम हेलीकॉप्टर से इलाहाबाद के लिए निकल चुके हैं। लखनऊ से उड़े हेलीकॉप्टर में सीएम के साथ मुख्य सचिव और शासन स्तर के तमाम अफसर भी मौजूद थे। हेलीकॉप्टर 12.40 बजे पुलिस लाइन मैदान पर उतरना था लेकिन 12.30 बजे आसपास फाफामऊ से कुछ पहले हेलीकॉप्टर को धुंध ने घेर लिया। वायु सेना ट्रैफिक कंट्रोम रूम से हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं दी गई और हवा में दो बार गोल चक्कर काटने के बाद हेलीकॉप्टर लखनऊ लौट गया। पुलिस लाइन के अलावा अलोपीबाग फ्लाईओवर में भी सीएम के इंतजार में हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ इकट्ठा थी। लोकार्पण के लिए पूजा-पाठ की तैयारी हो चुकी थी। दोपहर 2 बजे तक सबको सूचना मिली गई कि सीएम नहीं आ रहे हैं। चर्चा है कि मुख्यमंत्री 19 दिसंबर को इलाहाबाद आ सकते हैं, क्योंकि उस दिन मुख्य सचिव के आने का कार्यक्रम पहले से निर्धारित है।
तैयारियों में ही बर्बाद हो गए लाखों रुपए
मुख्यमंत्री इलाहाबाद आए भी नहीं और उनके स्वागत एवं सुरक्षा की तैयारियों में ही लाखों रुपए खर्च कर दिए गए। सीएम की सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन ने जबर्दस्त तैयारियां कर रखी थीं। यहां तक कि दूसरे जिलों से फोर्स भी बुलाई गई थी। स्वागत के लिए सर्किट हाउस में सजाया-संवारा गया था। फ्लाईओवर को पानी से धुला गया था। फ्लाईओवर की ग्रिल फूल-मालाओं से पाट दी गई थी। मुख्यमंत्री के साथ कई मंत्रियों और शासन स्तर के अफसरों को भी आना था, सो सभी के ठहरने और उनके खानपान के लिए खास इंतजाम किए गए थे।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले पकड़े गए 83,753 बोगस स्टूडेंट्स

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू होने से ठीक पहले ये बात सामने आई है कि परीक्षा आवेदनों में करीब 84 हजार बोगस स्टूडेंट हैं।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper