वैन चालक बेलगाम, खतरे में मासूमों की जान

Allahabad Updated Thu, 29 Nov 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। स्कूली वैन और विक्रम चालक बेलगाम हो चले हैं। मासूमों की जान खतरे में है। स्कूली वैन ‘खतरे की वैन’ बनकर नौनिहालों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रही है। पुलिस की आंखों पर पट्टी है तो स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों ने खुद पर लापरवाही की पट्टी बांध ली है। आए दिन हादसों में छात्र-छात्राओं की जान जा रही है। नौसिखिए और नाबालिग वैन, विक्रम चालक मनमानी पर उतारू हैं। मानकों को दरकिनार कर स्कूली वैन में बच्चों को भूसे की तरह भरा जा रहा है। चालक को लेकर वैन और विक्रम में सात सवारी बैठाने की अनुमति है। इसके उलट वैन चालक एक दर्जन से अधिक बच्चों को भरकर फर्राटा भर रहे हैं। शहर के अलावा ग्रामीण इलाकों में बच्चों की जिंदगी से यूं ही खिलवाड़ किया जा रहा है।
शहर के सभी कान्वेंट, हाईस्कूल और इंटर कालेजों में छात्र-छात्राओं को लाने-ले जाने के लिए वैन और विक्रम का इस्तेमाल हो रहा है। नौसिखिए ड्राइवरों की वजह से हर रोज हादसे हो रहे हैं। सबसे बुरा हाल तो कान्वेंट स्कूलों में लगी वैन का है। ज्यादा बच्चे बैठाने के चक्कर में चालक गाड़ियों में बच्चों को जानवरों की तरह भरते हैं। बच्चों को एक दूसरे पर लाद दिया जाता है। भारी स्कूल बैग यूं ही बच्चों की सांसत बने हैं, ऐसे में एक वैन में भरे गए 12 से 13 बच्चों का सांस लेना भी दूभर रहता है। वैन और विक्रम का हाल यह रहता है कि तेजी से ब्रेक मारने पर बच्चे एक दूसरे से टकराते और गिरते हैं। मुसीबत में फंसे मासूम आंखें बंद कर सफर करने को मजबूर हैं। प्रशासन ने भी आंखें मूंद रखी हैं तो स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों ने भी बच्चों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है।
सिलेंडर से वैन, मौत को दावत
इलाहाबाद। ज्यादातर स्कूली वैन गैस सिलेंडर लगाकर चलाई जा रही हैं। सस्ती किट के सहारे गैस सिलेंडर लगाकर गाड़ियां दौड़ाने वाले चालकों को मासूमों की जान की फिक्र नहीं है। आए दिन वैन में आग लगने की घटनाओं से हंगामा मचता है। मासूमों को कूद फांदकर जान बचानी पड़ती है। अकेले सिविल लाइंस इलाके में ही गैस सिलेंडर से चलने वाली कई सौ गाड़ियां दौड़ रही हैं। करेली, मीरापुर, मुट्ठीगंज, कीडगंज, नैनी, धूमनगंज, झूंसी, तेलियरगंज आदि इलाकों में मौत के ये वाहन बेरोकटोक चल रहे हैं। हर रोज सैकड़ों मासूमों की जिंदगी ऊपर वाले केभरोसे होती है। चंडीगढ़, आगरा के दर्दनाक हादसों से किसी ने सबक नहीं लिया। पिछले तीन सालों में सिलेंडर लगी गाड़ियों की संख्या कई गुना बढ़ी है।
बची थी दर्जनों छात्राओं की जान
इलाहाबाद। कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मनमोहन पार्क के पास तीन महीना पहले स्कूली छात्राओं से भरी वैन में आग लगने से अफरातफरी मच गई थी। चलती वैन में धुआं उठा तो ड्राइवर ने गाड़ी रोक दी। क्षेत्रीय लोगों की मदद से वैन में सवार छात्राओं को बाहर निकाला गया वैन में गैस किट लगी थी। सिलेंडर फटने के डर से भगदड़ मच गई। हालांकि लोगों ने मशक्कत कर आग फैलने से पहले ही काबू पा लिया। वैन से निकलने और कूदने के चक्कर में दो छात्राएं गिर गईं। वैन में सेंट एंथोनी की छात्राएं सवार थीं।
हाल में हुए हादसे
0 शंकरगढ़ में स्कूली वैन ट्रक से भिड़ी, एक बच्चे की मौत
0 घूरपुर में वैन पटलने से दो मासूमों की जान गई
0 नैनी में विक्रम ट्रक से टकराई एक छात्र की मौत, तीन जख्मी
0 शिवकुटी में वैन विक्रम की टक्कर में छात्रा की मौत
0 करेली में वैन डिवाइडर से टकराई, छह बच्चे जख्मी
0 हंडिया में छात्राओं से भरी विक्रम पलटी, एक दर्जन जख्मी

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper