अटाला के अलम, मेहंदी में उमड़े शैदाई

Allahabad Updated Sat, 24 Nov 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। माहे मुहर्रम की आठवीं तारीख यानी शुक्रवार को अटाला का अलम, मेहंदी और कीडगंज से शेर का जुलूस निकाला गया। ‘या अली, या हुसैन’ की सदाओं के बीच अजाखानों से भी जुलूस निकाले गए। मजलिसों में हजरत इमाम हुसैन और उनके 71 साथियों की शहादत बयां की गई। वहीं बहादुरगंज स्थित इमामबाड़े से दुल्लेशाह की मेहंदी निकाली गई।
अटाला इमामबाड़े से शुरू अलम का जुलूस काजी जी की मस्जिद, दायराशाह अजमल, नखासकोहना चौराहा, स्टेशन, जानसेनगंज चौराहा से वापस घंटाघर, कोतवाली, नखासकोहना, दायराशाह अजमल ढाल से होकर इमामबाड़ा पर पहुंचकर पूरा हुआ। ताजियादार मुहम्मद शमीम की सरपरस्ती में निकले जुलूस में लाठियों के हैरतअंगेज करतब से सभी हैरत मे रहे। जुलूस में पार्षद सरफराज अहमद, फहद उस्मान, मुहम्मद अनीस, अकीलुर्रहमान, डॉ.असलम, हफीज खां, जियाउबैद खां, मजहरुल हक, हाजी शमशेर आदि शामिल थे। वहीं अटाला की मेहंदी रोशनबाग पार्क से उठकर बैंक ऑफ बडौदा, नखासकोहना चौराहा से मुड़ने के बाद दायराशाह अजमल के ढाल से उतरकर अटाला इमामबाड़ा लाकर रखी गई।
कीडगंज से निकला शेर का जुलूस
इलाहाबाद। आठवीं मुहर्रम को कीडगंज थाने वाली सड़क स्थित इमामबाड़े से फहद उस्मान की सरपरस्ती में शेर का तारीखी जुलूस निकाला गया जो सीमेट्री रोड से मुड़कर बीच वाली सड़क, मुट्ठीगंज चौराहा, हटिया चौराहा, सुलाकी चौराहा, बजाजा पट्टी, बड़ा ताजिया के बाद वापस सब्जीमंडी, नखासकोहना होते हुए कीडगंज इमामबाड़े पर पहुंचकर पूरा हुआ।
रानीमंडी से उठी मेंहदी
इलाहाबाद। मोहर्रम की आठ तारीख पर शनिवार की रात रानीमंडी की मेंहदी पूरी अकीदत केसाथ उठाई गई। या अली या हुसैन की सदाओं के साथ मेंहदी को कदीमी रास्तों पर गश्त कराया गया। मुमताज हुसैन और परवेज अख्तर अंसारी की अगुवाई में मेंहदी
में काफी भीड़ उमड़ी।
झूला, बड़ा ताजिया आज, उमडे़गी भीड़
इलाहाबाद। मोहर्रम की नौ तारीख पर शनिवार की रात मासूम अली असगर का एतिहासिक झूला अकीदत के साथ उठाया जाएगा। इसी रात बड़ा ताजिया भी कदीमी रास्तों पर गश्त के लिए ले जाया जाएगा। झूला और बड़ा ताजिया में भारी भीड़ उमड़ती है।
इलाहाबाद मोहर्रम झूला कमेटी के संयोजक गुलाम रसूल के मुताबिक, मासूम अली असगर का झूला हर साल की तरह शनिवार की रात साढ़े दस बजे चक रौजा बहादुरगंज से उठेगा। झूला जीटी रोड, बादशाहीमंडी, ऊंचामंडी, गुडमंडी, लोकनाथ, कोतवाली से होते हुए सब्जीमंडी, ठठेरी बाजार से नखासकोहना चौराहा ले जाया जाएगा। देर रात झूला गढीसरांय इमामबाड़े पर रख दिया जाएगा। गुलाम रसूल के मुताबिक, दसवीं को सुबह ग्यारह बजे झूले का फूल करबला जाएगा। बड़ा ताजिया के अध्यक्ष रेहान खां के मुताबिक, शनिवार की रात एक बजकर 35 मिनट पर बड़ा ताजिया इमामबाड़े से उठाया जाएगा। ताजिया लीडर रोड से खारीकुंइया, शाहगंज होते हुए नखासकोहना, कोतवाली, ठठेरी बाजार और जानसेनगंज में गश्त के बाद वापस इमामबाड़े पर रखा जाएगा। मुतवल्ली इमरान खां के मुताबिक, दसवीं पर रविवार की दोपहर दो बजकर पांच मिनट पर बड़ा ताजिया करबला के लिए ले जाया जाएगा।
वाहनों से न करें लंगर, ताजिया से दूर रखें ऊंट
इलाहाबाद। झूला कमेटी के गुलाम रसूल और बड़ा ताजिया कमेटी के रेहान खां ने शनिवार और रविवार को ताजिया के दौरान वाहनों से लंगर करने को मना किया है। गुलाम रसूल का कहना है कि झूले के आगे वाहनों से लंगर करने वालों को रोका जाएगा। झूला और ताजिया के आगे ऊंट नहीं लाने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मोहर्रम गमे हुसैन है, इसकेजरिए राजनीति की कोशिश न की जाए। प्रशासनिक इंतजाम का हर कोई सहयोग करे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में फिर शुरू हुई डीजीपी की रेस, ओपी सिंह को केंद्र ने नहीं किया रिलीव

उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए उमड़े लाखों श्रद्धालु

मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए लाखों श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंच चुके हैं। संगम तट पर चल रहे माघ मेले के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए हुए हैं।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper