करोड़ों की भीड़ में फर्राटा भरेंगी एंबुलेंस

Allahabad Updated Sat, 17 Nov 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। कुंभ मेले के दौरान प्रमुख स्नान पर्वों पर करोड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ मेला क्षेत्र में जुटेगी लेकिन मेला क्षेत्र में स्थापित स्वास्थ्य शिविरों से अस्पताल जाने वाले रास्तों पर एंबुलेंस आराम से फर्राटा भरेंगी। मेला क्षेत्र के अंदर बने रास्ते हों या मेला से शहर के अन्य इलाकों की तरफ जाने वाले रास्ते, प्रशासनिक वाहनों के लिए हर तरफ कोई न कोई रास्ता रिजर्व रखा जाएगा और इसी रास्ते से एंबुलेंस के आवागमन को भी मंजूरी दी जाएगी। इसके साथ ही हर सेक्टर में होम्योपैथिक, आयुर्वेदिक और एलोपैथिक अस्पताल भी एक शिविर में स्थापित किए जाएंगे ताकि इलाज के लिए मरीजों को भटकना न पड़े।
प्रशासन का अनुमान है कि कुंभ के दौरान तकरीबन 11 करोड़ श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंचेंगे। मुख्य स्नान पर्वों पर मेला क्षेत्र में पैर रखने की भी जगह नहीं होगी, ऐसे में किसी मरीज की हालत गंभीर हो गई तो उसे समय से अस्पताल कैसे पहुंचाना बड़ी चुनौती होगी। करोड़ों की भीड़ में एंबुलेंस का एक कदम आगे बढ़ना भी दुश्वार हो जाएगा। इस समस्या से निपटने के लिए प्रशासन ने निर्णय लिया है कि प्रशासनिक या वीआईपी वाहन के लिए जो रास्ते रिजर्व किए जाएंगे, उसी रास्ते से एंबुलेंस को भी आवागमन की मंजूरी दी जाएगी। वैसे तो इस बार मेला क्षेत्र में ही ईसीजी, ईको, एक्स-रे आदि की जांच के लिए मशीनें लगाई जा रही हैं लेकिन सीटी स्कैन सहित तमाम बड़ी जांचों के लिए मरीजों को मेला क्षेत्र से बाहर शहर के अस्पतालों तक ले जाना पड़ेगा। ऐसे में करोड़ों की भीड़ के बीच मेला क्षेत्र के अस्थायी अस्पतालों से शहर के हॉस्पिटल तक पहुंचना भी आसान नहीं होगा, सो मेला क्षेत्र से शहर जाने के लिए भी कोई कोई रास्ता आरक्षित रखा जाएगा। कमिश्नर देवेश चतुर्वेदी ने बताया कि मरीजों को एंबुलेंस से तत्काल अस्पताल पहुंचाया जा सके, इसके लिए रास्ते आरक्षित रहेंगे। साथ ही मेला में आने वालों को इलाज के लिए भटकना न पड़े, सो हेम्योपैथिक, आयुर्वेदिक, यूनानी और एलोपैथिक अस्पताल अलग-अलग सेक्टर में एक ही जगह स्थापित करने को कहा गया है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018