हॉस्टल के दबंगों पर जिला प्रशासन भी सख्त

Allahabad Updated Tue, 06 Nov 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रावासों में वर्षों से जमे दंबगों को हटाने के लिए जिला प्रशासन ने भी सख्ती शुरू कर दी है। हाईकोर्ट केआदेश के मद्देनजर विश्वविद्यालय और जिला प्रशासन के अफसरों की बैठक में अवैध लोगों के खिलाफ कार्रवाई की रणनीति तैयार की गई। अफसरों ने निर्धारित अवधि यानी, 14 नवंबर के बाद नियमित रेड का निर्णय लिया है। कार्रवाई के दौरान यदि कमरे में कोई दूसरा व्यक्ति पाया गया तो वैध छात्र औ अवैध दोनों के खिलाफ एफआईआर लिखाई जाएगी। साथ में इन्हें विश्वविद्यालय से भी निष्कासित कर दिया जाएगा। इस बाबत चीफ प्रॉक्टर ने कार्रवाई के दौरान वैध छात्रों को हॉस्टल में ही रहने की हिदायत दी है।
हाईकोर्ट ने दो अलग-अलग आदेशों में हास्टल को अवैध लोगों से खाली कराने को कहा है। साथ में इस बाबत जानकारी भी मांगी है। इससे पहले कोर्ट ने विश्वविद्यालय और जिला प्रशासन से इस संबंध में किए जा रहे प्रयासों को लेकर मंगलवार को जवाब भी मांगा है। इसी सिलसिले में अफसरों की बैठक हुई। जिला प्रशासन ने सोमवार को विश्वविद्यालय को पत्र लिखकर कार्रवाई के लिए फोर्स उपलब्ध कराने तथा इस बाबत शिड्यूल भी मांगा है।
विश्वविद्यालय प्रशासन को दूसरे केनाम पर हॉस्टल एलाट कराने की व्यापक शिकायतें मिली हैं। इस पर छात्रावासों के हर कमरे का भौतिक सत्यापन का निर्णय लिया है। कार्रवाई के दौरान वैध छात्र मौके पर नहीं पाए जाते हैं या कोई दूसरा मिलता है तो मुकदमा लिखाया जाएगा। इसलिए अंत:वासियों को वार्डेन-अधीक्षक तथा अखबारों के माध्यम से कार्रवाई की सूचना एक-दो दिन पहले दे दी जाएगी। ताकि, कार्रवाई के दौरान छात्र छात्रावास में मौजूद रहें। चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर माता अंबर तिवारी ने बताया कि कार्रवाई को लेकर जल्द ही वार्डेन और अधीक्षकों के साथ बैठक की जाएगी। उन्होंने कहा कि बाद में भी अवैध कब्जे नहीं होने पाए, इसके प्रबंध किए जा रहे हैं। इसलिए वार्डेन और अधीक्षक को ऐसी शिकायत पर एफआईआर लिखाने को कहा गया है। यदि वे मुकदमा नहीं लिखा पाते हैं तो इसकी सूचना प्रॉक्टर ऑफिस में दें। वह खुद एफआईआर लिखाएंगे।
धमकी की पहले से सूचना दें छात्र
यदि किसी वैध छात्र को धमकी मिल रही है या उसके कमरे में किसी दूसरे को रखने का दबाव बनाया जा रहा है तो वे इसकी सूचना तत्काल चीफ प्रॉक्टर को दें। चीफ प्रॉक्टर का कहना है कि ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी। साथ में इनका नाम भी गोपनीय रखा जाएगा।
नए ब्लाक की रखी आधारशिला
इलाहाबाद। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सर सुंदर लाल छात्रावास के छात्रों को अगले साल से बाहर खाना नहीं खाना पड़ेगा। हॉस्टल में ही मेस होगा। कुलपति प्रोफेसर एके सिंह ने सोमवार को हास्टल के नए ब्लाक का शिलान्यास किया। इसमें मेस के अलावा 53 कमरे भी बनेंगे। अफसरों का दावा है कि बारहवीं पंचवर्षीय योजना के तहत यह छात्रावास अगले साल तक बनकर तैयार हो जाएगा। पीआरओ प्रोफेसर पीके साहू ने बताया कि पीसीबी में भी मेस बनकर तैयार है। जल्द ही उसका उद्घाटन होगा। शिलान्यास के मौके पर डीएसडब्ल्यू प्रोफेसर आरके सिंह, प्रोफेसर एलएम सिंह, प्रोफेसर बीपी सिंह आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018