जर्मन दल ने लगाई संगम में डुबकी

Allahabad Updated Wed, 17 Oct 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। संगम नगरी का आकर्षण उन्हें सात समुंदर पार जर्मनी से यहां तक खींच लाया। बर्लिन से आए इंटरनेशनल योग फेस्टिवल के आयोजकों ने इलाहाबाद पहुंचने पर संगम में डुबकी लगाई और योग की साधना को एकाग्र करने वाला संगीत भी सीखा। डुबकी के बाद उन्हें ऐसा लगा जैसे बरसों की मुराद पूरी हुई। वहीं दरभंगा घराने की गायकी भी उन्हें मंत्रमुग्ध कर गई।
सदस्यों ने सुबह संगम में डुबकी लगाने के बाद बड़े हनुमान मंदिर, आनंद भवन, विश्वविद्यालय, संग्रहालय जैसी जगहें भी घूमीं। इसी क्रम में वे फेस्टिवल का न्योता देने प्रो.मल्लिक के घर भी पहुंचे जहां उन्होंने शास्त्रीय संगीत की बारीकियां भी सीखीं। ‘अमर उजाला‘ से मुलाकात में टीम के स्टीफन, मरियन, मिशेल, राबर्ट स्विट्ज. हैडीमेरी कॉपिन, एंजिला रेफ ड्र्यिू, साइलेक्स बेकर, टोबियॉस शील आदि ने जय गंगे के उद्घोष के साथ गायत्री मंत्र भी सुनाया।
स्टीफन ने कहा, योग के लिए मन और तन दोनों का पवित्र होना जरूरी है। सुना था, गंगा तन-मन का आनंदित करती है, डुबकी के बाद हमें भी ऐसा लगा। वहीं मरियन ने कहा, योग फेस्टिवल में रागों से चिकित्सा और मन की शांति का सूत्र भी बताया जाएगा। उम्मीद है भारत की आध्यात्मिक ऊर्जा और जर्मनी की तकनीक दोनों को समृद्ध करेगी।
फेस्टिवल में फ्रांस, इटली, स्विटजरलैंड आदि देशों के सदस्य भी शामिल होंगे। हरिद्वार से आए दल के सदस्य गंगा में डुबकी के क्रम में दोपहर बाद वाराणसी के लिए रवाना हो गए। बातचीत के दौरान प्रोफेसर मल्लिक सहित प्रशांत मल्लिक, निशांत मल्लिक, प्रियंका मल्लिक, रश्मि मल्लिक भी मौजूद थीं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018