कर्नलगंज बाजार से गायब हुई पटरी

Allahabad Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। चौक, कोठापार्चा, कटरा की तरह कर्नलगंज की सड़क और रोड पटरी भी पूरी तरह अवैध कब्जे में है। सबसे खराब हाल आर्य समाज से हनुमान मंदिर और वहां से कर्नलगंज चौराहा होकर आनंद भवन की तरफ जाने वाली सड़क का है। आर्य समाज से हनुमान मंदिर तक सड़क के दोनों ओर रोड पटरी गायब हो गई है। यहां दर्जनभर से ज्यादा दुकानें लगती हैं। इसमें मिट्टी और प्लास्टिक के बर्तन, सब्जी और चाय, पान की दुकानें शामिल हैं। इसके आगे कर्नलगंज चौराहा के पास रोड पटरी पर दूध, दही, पनीर, मिठाई, चाट वालों का कब्जा है। बची जगह स्थायी दुकानदार घेर लेते हैं। ऐसे में वाहन चालकों या पैदल चलने वालों के लिए उधर से निकलना किसी मुसीबत से कम नहीं है।
तिनमुहानी एसबीआई चौराहा से आर्य समाज और वहां से कर्नलगंज हनुमान मंदिर तक सड़क की चौड़ाई तकरीबन 15 मीटर है लेकिन आर्य समाज से हनुमान मंदिर के बीच में सड़क कभी भी 8-10 मीटर से ज्यादा नहीं रही। यहां मिट्टी और प्लास्टिक के बर्तन, लकड़ी, कोयला की दर्जनभर दुकानें रोड पटरी पर ही लगती हैं। इसके बाद इतनी ही सब्जी की दुकानें रोड पटरी पर हैं। मिट्टी और प्लास्टिक का बर्तन बेचने वालों की पक्की दुकानें भी हैं, बावजूद इसके पूरी रोड पटरी घेर सामान हमेशा बाहर रखा रहता है। रात में दुकान बंद करने के लिए सामान के चारों तरफ बांस का टट्टर लगा दिया जाता है। यही हाल सब्जी और फल बेचने वालों का है। रोड पटरी पर लंबी चौड़ी जगह घेर कर दुकानें लगाने के कारण दिन भर जाम की स्थिति रहती है। यहां एक स्थान पर रोड पटरी पर महीनों से मलबे का ढेर लगा हुआ है।
कमोबेश यही हाल हनुमान मंदिर, कर्नलगंज चौराहा होकर आनंद भवन की ओर जाने वाली सड़क का भी है। हनुमान मंदिर से कर्नलगंज चौराहा के बीच सब्जी, फल आदि के ठेले लगते हैं तो कपड़े, जूते आदि के दुकानदार अपना सामान रोड पटरी घेरकर रखते हैं। कर्नलगंज चौराहे पर दूध, दही, पनीर, चाट आदि की आधा दर्जन से ज्यादा दुकानें हैं। यह दुकानें भी रोड पटरी पर सजती हैं। यहां के दुकानदार अपने वाहन भी रोड पटरी पर खड़े करते हैं। यहां आने वाले ग्राहक अपने वाहन कहां खड़े करें, यह सबसे बड़ी समस्या है। ऐसे में उधर से चारपहिया वाहन निकलने पर जाम लग जाता है।
बगल में थाना फिर भी सड़क पर कब्जा
इलाहाबाद। कर्नलगंज थाने से बमुश्किल 200 मीटर दूर इस बाजार की रोड पटरी पर जबरदस्त अतिक्रमण है, लेकिन पुलिस वालों को यह नहीं दिखता, तभी तो बरसों से रोड पटरी पर कब्जा जमाए मिट्टी और प्लास्टिक के बर्तन बेचने वालों को हटाने के लिए पुलिस ने आज तक कुछ नहीं किया। हालांकि नगर निगम ने एक-दो बार कार्रवाई की लेकिन दस्ते के जाते ही दुकानें फिर से सज जाती हैं।
एक व्यापारी के दुकान पीछे करने से नहीं होगा भला
इलाहाबाद। ऐसा नहीं है कि व्यापारी रोड पटरी पर कब्जा कर दुकानें लगाना ही चाहते हैं लेकिन सीमित दायरे में करने की पहले कौन करे, यह बड़ी समस्या है। ज्यादातर व्यापारियों ने एक-दूसरे की देखा-देखी दुकानों को रोड पटरी तक लगाया है। ऐसे में एक व्यापारी के दुकान पीछे करने से कुछ नहीं होगा। नाम न लिखने की शर्त पर मिट्टी का बर्तन बेचने वाले एक दुकानदार ने बताया कि कई बार पड़ोसियों से सीमित दायरे में दुकानें करने को कहा गया लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं हैं। मजबूरी में वह भी रोड पटरी से दुकान नहीं हटा रहा।
कटरा में कार्रवाई, कर्नलगंज को छोड़ा
इलाहाबाद। कर्नलगंज थाने की पुलिस ने पिछले चार-पांच दिनों में कटरा में कार्रवाई कर दुकानों को रोड पटरी से पीछे कराया लेकिन कर्नलगंज बाजार क ो छोड़ दिया, जबकि कटरा जाने के लिए पुलिस की गाड़ी तिनमुहानी एसबीआई के सामने से होकर जाती है।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले पकड़े गए 83,753 बोगस स्टूडेंट्स

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू होने से ठीक पहले ये बात सामने आई है कि परीक्षा आवेदनों में करीब 84 हजार बोगस स्टूडेंट हैं।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper