कोठापार्चा को अतिक्रमण से मुक्त कराइए

Allahabad Updated Sun, 07 Oct 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। कपड़े के बड़े और प्रमुख बाजारों में शामिल कोठापार्चा की सड़क और पटरी पर भी जबरदस्त अतिक्रमण है। कटरा, चौक की भांति यहां भी दुकानें रोड पटरी को घेर कर लगाई जाती हैं। दोपहर बाद जाम के कारण यहां से चारपहिया तो दूर दुपहिया वाहन निकालना भी मुश्किल होता है। यहां रेडीमेड कपड़े रोड पटरी पर स्टैंड लगाकर टांगे जाते हैं तो कपड़ों के गट्ठर रखकर पटरी को घेर लिया जाता है। सड़क पर अतिक्रमण के कारण धंधा भी चौपट हो रहा है।
कोठापार्चा शहर के प्रमुख बाजारों में एक है। यहां रेडीमेड कपड़े, साड़ी, सूट, बच्चों के कपड़े आदि की थोक एवं फुटकर दुकानें हैं। शहर के अलावा नैनी, करछना, झूंसी आदि से भी बड़ी संख्या में लोग यहां खरीदारी करने आते हैं। सुलाकी चौराहा से कोठापार्चा रेलवे ओवर ब्रिज तक सड़क की चौड़ाई तकरीबन 20 मीटर है लेकिन दुकानें खुलने के बाद यहां यहां की सड़क आधी से भी कम सात से आठ मीटर तक ही रह जाती है। यही हाल सम्मेलन मार्ग क्रासिंग से कोठापार्चा की ओर जाने वाली सड़क का भी है। दुकानें आगे बढ़ाने के साथ व्यापारी अपने वाहन भी रोड पटरी पर ही खड़े करते हैं। चारपहिया वाहनों के लिए दिन में 12 बजे के बाद कोठापार्चा बाजार से निकलना काफी मुश्किल हो जाता है। सड़क तक घेर कर लगाई गईं दुकानों के कारण एक भी कार, जीप उधर से गुजरी और सामने से दूसरा चारपहिया वाहन आ गया तो लंबा जाम लग जाता है।
कोठापार्चा डाट पुल के
चौराहा के चारों ओर कब्जा
इलाहाबाद। कोठापार्चा रेलवे डाट पुल चौराहा के चारों ओर रोड पटरी पर चाय, पान आदि की दुकानें लगती हैं। पास ही एक बड़ा निजी अस्पताल है और यहां आने वाले वाहन भी सड़क पर खडे़ होते हैं। ऐसे में रामबाग की ओर से कोठापार्चा की आने वाली सड़क पर हर वक्त लंबा जाम लगा रहता है। इस चौराहे पर पुलिस और ट्रैफिक के सिपाही भी हर वक्त रहते हैं लेकिन उनकी तरफ से अतिक्रमण रोकने के लिए आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।
बस, ऑटो से समस्या
इलाहाबाद। कोठापार्चा बाजार से बसें, टैक्सी विक्रम भी निकलते हैं। यहां सम्मेलन मार्ग पर चंद्रलोक सिनेमा के पीछे बड़ी संख्या में निजी बसें खड़ी होती हैं, जो यहां से मिर्जापुर, रीवां आदि मार्गों पर चलती हैं। इसके अलावा नैनी की ओर से टैक्सी, विक्रम भी बड़ी संख्या में इस सड़क से गुजरते हैं। सम्मेलन मार्ग, कोठापार्चा, बाई का बाग, बैरहना होकर चलने वाले इन वाहनों के कारण भी कोठापार्चा बाजार में जाम की गंभीर समस्या है।
बाजार की दुर्दशा पर व्यापारी भी चिंतित
इलाहाबाद। कोठापार्चा में धंधा फले-फूले इसके लिए व्यापारी भी चाहते हैं कि सड़क, पटरी अतिक्रमण मुक्त हो लेकिन दुकानें निर्धारित सीमा में रखने की पहले कौन करे, यह बड़ी समस्या है, क्योंकि ज्यादातर दुकानें एक-दूसरे की देखा-देखी बढ़ाई जाती हैं। अमर वैश्य मुन्ना भइया, तुफैल अहमद, रत्नेश गुप्ता जैसे ज्यादातर व्यापारी बाजार की दुर्दशा को लेकर चिंचित हैं। उनका कहना है कि सिर्फ एक व्यापारी के चाहने से कुछ नहीं होगा। बाजार को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए सभी को एकजुट होकर तय करना होगा कि सभी व्यापारी दुकानें निर्धारित सीमा में लगाएं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018