मनचलों के डर से स्कूल ने रोक दी बेटियों की पढ़ाई

Allahabad Updated Sat, 06 Oct 2012 12:00 PM IST
बहरिया। बेटियों को विज्ञान की बागडोर थमाने के लिए देश भर के चुनिंदा वैज्ञानिक संगमनगरी में जुटे हैं। पढ़ाई और खासतौर पर विज्ञान की पढ़ाई में लड़कियों की रुचि देख उन्हें उम्मीद जगी है कि इनमें से सुनीता विलियम, कल्पना चावला निकलेंगी लेकिन यहीं के एक स्कूल ने लड़कियों की शिक्षा को लेकर ऐसा फैसला किया है जो बेहद शर्मिंदा करने वाला है। यह जानकर कोई भी हैरान हो जाएगा कि एक स्कूल ने बेटियों की पढ़ाई पर केवल इसलिए पाबंदी लगा दी क्योंकि वर्षों पहले एक छिछोरे ने एक छात्रा के साथ छेड़खानी कर दी थी।
छिछोरे युवक के खिलाफ कार्रवाई करने, उससे सख्ती से पेश आने के बजाय विद्यालय प्रबंधन ने लड़कियों का दाखिला लेना ही बंद कर दिया। संगमनगरी की बेटियां जब सायना नेहवाल और मैरीकॉम बनने का ख्वाब देख रही हैं, उसके लिए मेहनत कर रही हैं, तब एक स्कूल उनसे पढ़ाई का हक छीने, यह वाकई चिंताजनक है। यह शर्मनाक काम किया है बहरिया के केवीएम इंटर कालेज के प्रबंधतंत्र ने। लड़कियों की शिक्षा के लिए विद्यालयों में बेहतर माहौल बनाने को कौन कहे, उनकी पढ़ाई ही बंद करा दी, एडमिशन लेना बंद कर दिया।
1991 में हुई थी घटना
मामला भी ऐसा नहीं कि जिसे काबू में न किया जा सके। 1991 में छिछोरों ने छेड़खानी कर दी। मात्र इस एक घटना के बाद विद्यालय प्रशासन ने मनचलों के आगे समर्पण कर दिया। विद्यालय में इंटर तक को-एजूकेशन की व्यवस्था है लेकिन विद्यालय प्रशासन ने कक्षा आठ के बाद बालिकाओं के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी। तब से उनका प्रवेश नहीं लिया जा रहा है। ऐसे में अभिभावक चाहकर भी बेटियों को नहीं पढ़ा पा रहे हैं।
कमला नगर स्थित केवीएम इंटर कालेज बहरिया विकास खंड का एकमात्र विद्यालय है, जहां इंटर में साइंस का पाठ्यक्रम है। बारहवीं तक विज्ञान वर्ग की पढ़ाई के लिए क्षेत्र के बच्चे यहीं आते हैं। विद्यालय में सह शिक्षा की व्यवस्था है। 1991 में दसवीं की कक्षा में एक छात्र ने सहपाठी छात्रा का दुपट्टा खींच लिया। इसे लेकर खासा हंगामा हो गया। विद्यालय प्रबंधन की भी किरकिरी हुई लेकिन विद्यालय प्रशासन ने शोहदों की हरकतों पर अंकुश लगाने के बजाए उनके आगे घुटने टेक दिए। आननफानन में प्रबंधक-शिक्षकों और अन्य स्टाफ की बैठक बुलाई गई और छेड़खानी रोकने के लिए कक्षा आठ के बाद विद्यालयों में छात्राओं के प्रवेश पर रोक का फरमान जारी कर दिया गया। ताज्जुब तो यह कि इसे लेकर किसी जनप्रतिनिधि ने आवाज नहीं उठाई और शिक्षा विभाग ने भी कोई कदम नहीं उठाया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार, पक्ष में माहौल बनाने के लिए अपनाया ये तरीका

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र पर हुए जानलेवा हमले में पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

18 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए उमड़े लाखों श्रद्धालु

मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए लाखों श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंच चुके हैं। संगम तट पर चल रहे माघ मेले के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए हुए हैं।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper