मैंने तो शालू को आईएएस बनने भेजा था : पिता

Allahabad Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे पिता, नाना, मामा समेत परिवार के अन्य लोग
इलाहाबाद। मऊ के छोटे से व्यवसायी प्रमोद यादव का सीना गर्व से चौड़ा था। आखिर हो भी क्यों नहीं, बेटी शालू छात्रसंघ भवन के प्राचीर से उपाध्यक्ष पद की शपथ जो ले रही थी। बेटी ने वह कर दिखाया है, जिसके बारे में इस परिवार ने कभी सोचा भी नहीं था। कभी यहीं के छात्र रहे प्रमोद के लिए बेटी को गौरवशाली इतिहास वाले इस छात्रसंघ का हिस्सा बनते देखना काफी भावुक करने वाला लम्हा था।
हालांकि प्रमोद अब भी बेटी को आईएएस बनते देखना चाहते हैं लेकिन यदि राजनीति में कॅरियर संवारती है तो रोकेंगे भी नहीं। शपथ ग्रहण समारोह में प्रमोद के अलावा शालू के नाना गांधी यादव, नाना के छोटे भाई योगेंद्र प्रताप यादव, मामा हर्षवर्धन और भाई हेमंत भी मौजूद रहे। प्रमोद का कहना है, वह शुरू से ही मेधावी रही है और उसे आईएएस बनाना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि परिवार में पहली सदस्य है जिसने राजनीति में इतनी दूर तक की सफर तय किया है। निश्चित ही पूरे परिवार के लिए गौरव करने वाला पल है। गांव में भी मिठाइयां बंटीं। उन्होंने कहा, इच्छा है कि शालू इस पद का पूरी ईमानदारी से निर्वहन करते हुए पढ़ाई पर ध्यान दे। नाना गांधी तथा परिवार के अन्य लोग भी शालू की इस उपलब्धि पर काफी उत्साहित थे। नाना का कहना है कि उसे इसी उम्र में खुद को साबित किया है। अब उसे कोई नहीं रोकेगा।
शुरू से ही राजनीति में जाना चाहता था दिनेश
अध्यक्ष पद चुने गए दिनेश यादव का बचपन से ही राजनीति के प्रति रुझान रहा। यही कारण रहा कि परिवार ने भी पूरी छूट दे रखी है। शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद भाई उमेेश सिंह यादव ने बताया कि कक्षा छह में ही उसमें नेतृत्व के गुण दिखने लगे थे। इसलिए उसे राजनीति करने से कभी नहीं रोका गया लेकिन लगातार नसीहत दी जाती रही कि ध्येय राष्ट्रहित हो। उसने लंबे संघर्ष के बाद यह उपलब्धि हासिल की है। उम्मीद है छात्र-छात्राओं से किए गए वादे पूरा करेगा। उन्होंने यह भी उम्मीद जताई कि जिस विचारधारा के साथ वह राजनीति में आया है उसे और आगे बढ़ाएगा।
समारोह में ही सामने आ गई खेमेबाजी
शपथ ग्रहण समारोह के दौरान सामने आई खेमेबाजी से यह तय हो गया है कि छात्रसंघ का संचालन आसान नहीं होगा। छात्रसंघ भवन से संबोधन के दौरान अध्यक्ष दिनेश यादव ने एक खास वर्ग से जुड़े नेताओं का नाम लिया तो विरोध में शालू यादव के साथ आई छात्राओं और आइसा कार्यकर्ताओं ने हूटिंग भी की। छात्राओं ने ‘महिला आरक्षण का विरोध करने वालों की नहीं चलेगी’ जैसे नारे लगाकर यह भी जता दिया कि विचारधारा को लेकर भी संघर्ष होगा।
इस विरोध को देखते हुए छात्रसंघ के मनोनीत होने वाले सदस्यों का चुनाव भी आसान नहीं दिखाई दे रहा। कार्यकारिणी के लिए अलग-अलग वर्ग से प्रतिनिधियों का मनोनयन होना है। इसमें छात्रसंघ चयनित पदाधिकारियों की सहमति भी जरूरी है। इसके अलावा महिला सलाहकार परिषद के लिए भी दो छात्रा प्रतिनिधि का चुनाव करना है लेकिन अभी से शुरू खींचतान को देखते हुए इस सहमति आसान नहीं दिखती।
चुनाव में धांधली का आरोप
प्रत्याशियों ने छात्रसंघ चुनाव में धांधली का भी आरोप लगाया है। इनका कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने कुछ लोगाें को मदद पहुंचाने की कोशिश की तो आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसको लेकर प्रत्याशियों ने मंगलवार को बालसन चौराहा पर 10 बजे से मौन व्रत की घोषणा की है। इसके विपरीत अजीत यादव, अभिषेक शुक्ला, अखिलेश गुप्ता, जिया कौनैन रिजवी आदि ने नव निर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई दी है।

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए उमड़े लाखों श्रद्धालु

मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए लाखों श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंच चुके हैं। संगम तट पर चल रहे माघ मेले के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए हुए हैं।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper