कनेक्शन और रेट से गैस उपभोक्ताओं में अफरातफरी

Allahabad Updated Fri, 28 Sep 2012 12:00 PM IST
इलाहाबाद। रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ने, बैंक खातों की जानकारी मांगने और नए कनेक्शन पर रोक से ग्राहकों में अफरातफरी मची हुई है। कीमतों और बैंक खाते के विवरण को लेकर बृहस्पतिवार को पूरे दिन गैस एजेंसियों पर चिकचिक होती रही। ज्यादातर ग्राहक इस बात को लेकर परेशान थे कि सप्ताहभर या 10 दिन पहले बुकिंग कराने के बाद भी अब तक गैस नहीं पहुंची है। अब गैस लेने पर उन्हें बढ़ी कीमत देनी पड़ सकती है। सब्सिडी वाले सिलेंडरों की गणना का आधार क्या होगा? सब्सिडी वाले सिलेंडर पुराने दाम यानी 407 रुपए में ही मिल जाएंगे तो बैंक खातों की क्या जरूरत है? कीमत बढ़ने के बाद तीन सिलेंडर छूट पर मिलेंगे या नहीं। इन सवालों से गैस एजेंसियों के कर्मचारी दिनभर जूझते रहे। बताते हैं कि बड़ी संख्या में ग्राहकों ने आईओसी कार्यालय में भी फोन किए लेकिन इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी कि छूट वाले सिलेंडर पुराने दाम में दिए जा रहे हैं तो बैंक के विवरण क्यों मांगे जा रहे हैं। दूसरी ओर दाम बढ़ते ही गैस की कालाबाजारी करने वालों के रेट भी बढ़ गए हैं। बिना कनेक्शन वाले लोगों से 850-900 रुपए प्रति सिलेंडर वसूले गए। इसे लेकर हॉकरों से कहासुनी भी हुई।
लाइव एक। समय-अपराह्न 3.35 बजे। बहुगुणा मार्केट स्थित मंजू चंद्रा गैस एजेंसी पर दर्जनभर लोग इकट्ठा थे। रामसजीवन, सुदेश सिंह और बाबूराम यादव की शिकायत थी कि सप्ताहभर पहले बुकिंग कराया सिलेंडर अब तक नहीं पहुंचा है। अब ज्यादा पैसा देना पड़ेगा। बार-बार पूछने पर कार्यालय में बैठे कर्मचारियों ने उसे झिड़क दिया। अन्य लोग छूट वाले सिलेंडर को लेकर परेशान थे कि इसकी गणना कैसे की जाए कि कब पूरा दाम देना पड़ेगा और कब कम।
लाइव दो। समय-अपराह्न 3.54 बजे। बेली चौराहे के पास स्टैनली रोड स्थित इंडेन की सामर्थ्य गैस सर्विस के कार्यालय में दो ग्राहक मौजूद मिले। एक व्यक्ति गैस की कीमत को लेकर कर्मचारियों से उलझे थे। दूसरे सूरज कुमार गैस की बुकिंग के लिए। उन्हें बताया गया कि बैंक का नाम, खाता संख्या और आईएफसीआई नंबर देने को कहा गया है। इसे सुन भड़के सूरज ने आशंका जताई कि खाते से एजेंसी वाले रकम ही न निकाल लें। किचकिच के बाद बड़बड़ाते हुए वह निकल गए।
लाइव तीन। समय-शाम 4.03 बजे। मम्फोर्डगंज स्थित त्रिवेणी गैस सर्विस के कार्यालय में करीब आधा दर्जन से ज्यादा लोग थे। इनमें से ज्यादातर लोग कर्मचारियों से सिलेंडर की कीमतों को लेकर उलझे मिले। लोग पूछताछ करते मिले कि अब सब्सिडी वाले सिलेंडर मिलेंगे या नहीं। गैस सिलेंडर के लिए कितने रुपए देने पड़ेंगे।
लाइव चार। समय-शाम 4.30 बजे। खुल्दाबाद गैस सर्विस के कार्यालय में एक भी ग्राहक नहीं मिले। एजेंसी के कर्मचारियों ने बताया कि एसएमएस बुकिंग के कारण अब ग्राहक नहीं आते। एजेंसी पर 400 ग्राहक गैस पाने की प्रतीक्षा सूची में हैं।
लाइव पांच। समय-शाम 4.55 बजे। ट्रैफिक लाइन के पास भारत गैस एजेंसी पर गैस कनेक्शन के नामांतरण को लेकर गहमागहमी रही। ग्राहकों में अफवाह रही कि अभी पेपर में अपना नाम चढ़ाने के लिए 850 रुपए लगते हैं लेकिन जल्द ही यह शुल्क बढ़कर 1500 रुपए हो जाएंगे। हालांकि, एजेंसी मालिक ने ऐसी किसी जानकारी से इनकार किया।
लाइव छह। समय-5.00 बजे। सिविल लाइंस स्थित विजय गैस सर्विस पर चार ग्राहक मिले। सभी गैस कीमतों की जानकारी लेने के लिए पहुंचे थे। एजेंसी से जुड़े करीब 450 ग्राहकों ने एसएमएस और आईवीआरएस से गैस बुकिंग कराई है।
हड़ताल टली, होम डिलेवरी रोकने की चेतावनी
रसोई गैस की नई कीमतों के बढ़ते ही गैस एजेंसियों ने एक अक्तूबर से हड़ताल से कदम वापस खींच लिया है। ऑल इंडिया एलपीजी फेडरेशन ने सफाई दी है कि हड़ताल से गैस उपभोक्ताओं को परेशानी खड़ी हो सकती है। फेडरेशन के महासचिव चंद्रप्रकाश ने कहा है कि अब हड़ताल पर जाने के बजाए होम डिलेवरी रोकने का फैसला किया गया है। इलाहाबाद गैस वितरक संघ के अध्यक्ष केपी मिश्रा ने कहा कि मौजूदा कमीशन में 25 रुपए की बढ़ोतरी न की गई तो होम डिलेवरी बंद कर दी जाएगी।
18002333555 दूर करेगा शिकायत
इलाहाबाद। उपभोक्ताओं की रसोई गैस सिलेंडर संबंधी किसी भी शिकायत के लिए इंडेन ने टोल फ्री 18002333555 नंबर की व्यवस्था कर रखी है। घटतौली, देरी और अन्य किसी भी तरह की शिकायत करने पर अगले 48 घंटे में शिकायत दूर करने की कोशिश होती है। इंडेन की वेबसाइट http://:indane.co.in पर जाकर भी आप इस तरह की शिकायत कर सकते हैं। माना जा रहा है कि गैस एजेंसियों की मनमानी रोकने के लिए ही इंडेन ने शिकायत और निस्तारण की यह व्यवस्था की है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले पकड़े गए 83,753 बोगस स्टूडेंट्स

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड में बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू होने से ठीक पहले ये बात सामने आई है कि परीक्षा आवेदनों में करीब 84 हजार बोगस स्टूडेंट हैं।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper