विज्ञापन
विज्ञापन

सुलेमसराय में दलदल के बीच से निकले दल

Allahabad Updated Mon, 17 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
इलाहाबाद। महीने भर की देरी के बाद रविवार को सुलेमसराय में दधिकांदो मेेला सजा लेकिन कीचड़, जलजमाव, दलदल, बिखरी गिट्टी, गड्ढों के कारण भारी अफरातफरी रही। दलदल के बीच से कई दल निकले। लाख रुपये का चांदी का जड़ाऊ मुकुट, रत्नजड़ित पोशाक पहने चांदी के हौदे पर सवार कान्हा-बलदाऊ को देखने के लिए लोग जुटे लेकिन बारिश और प्रशासनिक अव्यवस्था के कारण हुई परेशानी ने मेले में पहुंचे लोगों को आनंद नहीं उठाने दिया। दो दर्जन रोशनी कमेटियों की ओर से बिजली की रंगीन रोशनी से पूरा क्षेत्र सजा लेकिन सड़क पर भारी कीचड़ और पानी ने मजा किरकिरा कर दिया। मेला क्षेत्र की मुख्य सड़क पर ही कई जगह दलदल, जलजमाव, बिखरी गिट्टी और गड्ढों के कारण दल निकलने और लोगों के आने-जाने काफी असुविधा हुई। मेले के दौरान कई बार चौकियां असंतुलित हुईं तो तमाम लोग भी चुटहिल हुए। इधर रात करीब नौ बजे शुरू हुई बरसात ने हालात और भी बदतर कर दिए। फिर भी लोगों में उत्साह बरकरार रहा।
विज्ञापन
विज्ञापन
मेले में निकली दो दर्जन चौकियां
जगह-जगह लाउडस्पीकरों की धूम के बीच दो दर्जन कलात्मक चौकियां निकलीं। कान्हा की लीलाएं सभी को सम्मोहित करती रहीं। ठाकुरद्वारा पर सांसद शैलेंद्र द्वारा परंपरागत रूप से आरती पूजन के बाद हाथी पर रखे चांदी के हौदे पर सवार होकर कृष्ण बलदाऊ का दल निकला तो कमेटी के पदाधिकारी भी संग चले। पूरे रास्ते सेवक चांदी से बना चंवर-छत्र डुलाते रहे। जगह-जगह दल को रोककर आरती पूजन भी किया गया। दल मुंडेरा मंडी तक जाकर वापस हुआ और महिला ग्राम इंटर कालेज के पास पहुंचकर विसर्जित हो गया।
दल में दो लाख की रोशनी
चौफटका से लेकर मुंडेरा चुंगी तक तकरीबन पांच किलोमीटर का पूरा क्षेत्र रंगीन रोशनी में डूबा रहा। पूरे मेला क्षेत्र को तकरीबन दो दर्जन से ज्यादा रोशनी कमेटियों ने पांच कतारों में आकर्षक तरीके से सजाया। जलती-बुझती रंग बदलती ही नहीं धीमी और तेज होती रोशनी भी मेले को भव्य बनाती रही। शिवशंकर रोशनी कमेटी के राघवेंद्र, कन्हाई रोशनी कमेटी के राजेश सोनकर के मुताबिक प्रति कमेटी दस हजार से ज्यादा की सजावट की गई, ऐसे में मेले में सजावट पर दो लाख से ज्यादा खर्च हुए।
डांडिया, भांगड़ा की मस्ती भी
कान्हा-बलदाऊ के दल में ‘कान्हा तेरी मुरली की जो धुन बज जाए’ की धुन पर युवाओं की टोली ने जमकर डांडिया किया। दल में शामिल कलाकारों ने भांगड़ा की मस्ती भी बिखेरी। दल की रवानगी के साथ ही युवा कलाकारों की ओर से भांगड़ा और डांडिया की धूम मची तो मेले का लुत्फ ले रहे युवा भी उसमें शामिल हुए। नेहरूपार्क मोड़. ट्रांसपोर्ट नगर धर्मवीर मूर्तिस्थल सहित कई जगहों पर महारास, कान्हा की लीलाएं भी हुईं।
लुभाती रहीं गंगा, कान्हा प्रसंग की चौकियां
दल में गंगा प्रदूषण मुक्ति का संदेश देते हुए निकाली गई चौकी सभी के आकर्षण का केंद्र रही। इसके अतिरिक्त सुलेमसराय व्यापार मंडल के राकेश कुमार केसरवानी, हनुमान शृंगार कमेटी, लकी चौकी कमेटी, हरवारा के गुलाब सोनकर, प्रीतमनगर के दिनेश सोनकर, अन्ना कुशवाहा, मुन्नू भगत, उदय कुशवाहा आदि की ओर से दो दर्जन से ज्यादा कलात्मक चौकियां निकाली गईं। जब-जब चौकियों सामने से गुजरीं, विविध धार्मिक प्रसंगों ने सभी को मंत्रमुग्ध किया। कई चौकियों पर महारास की लीला भी हुई।
मखमली झूल, सुनहरी कलगी
कान्हा की सवारी, हाथी को अबकी मोतियों और कसीदाकारी के मखमली झूल से सजाया गया था। देवों के घोड़ों पर भी पड़े गोटेदार झूल दल की शोभा बढ़ाते रहे। घोड़ों को सुनहली कलगी ने अलग रंगत दी। दल में कमेटी के अध्यक्ष वीरेंद्र सोनकर, महामंत्री सुभाष केसरवानी सहित शोएब, सुशील, राजू, मुहर्रम अली सहित बड़ी संख्या में सदस्य शामिल थे।
जगह-जगह बच्चों के लिए झूले
पूरे मेला क्षेत्र में बच्चों के लिए कई जगहों पर छोटे-बड़े झूले और मनोरंजक खेल सजाए गए थे। नेहरू पार्क मोड़ पर बड़ा जमावड़ा रहा, यहां बड़े झूलों पर बच्चों के साथ बड़ों ने भी मेले का लुत्फ लिया। पेट्रोल पंप, धूमनगंज थाना, कन्हईपुर मोड़ आदि जगहों पर बच्चों के लिए मनोरंजन के साधन मौजूद थे।
पटरियों पर सजी खान-पान की दुकानें
दधिकांदो मेले में मुख्य सड़क के दोनों ओर पटरियों पर खान-पान की तमाम दुकानें सजीं। ठेलों पर भी लोग चाट, पकौड़ी को जुटे। मेले में फाफामऊ के रामकिशोर, झूंसी के समुझ, नैनी के निहाल सहित बड़ी संख्या में बाहर से आए कारोबारियों ने भी फास्ट फूड की अस्थायी दुकानें सजाईं।
लाउडस्पीकरों की फौज
सुलेमसराय के दधिकांदो मेले में दोनों छोर पर लाउडस्पीकरों की फौज डटी रही। अस्सी से सौ लाउडस्पीकर बांधे गए। आमने-सामने की टीमों के बीज लाउडस्पीकरों की जवाबी प्रतियोगिता शुरू हुई तो सुलेमसराय का दधिकांदो मेला भी परवान चढ़ा। एक ने भजन से शुरुआत की तो दूसरे ने उससे अच्छा भजन बजाया। प्रेम, पानी, मौसम, सावन, मेला जैसा कोई भी विषय किसी ने भी चुना तो दूसरे ने उससे बेहतर बजाने की कोशिश की। ताज्जुब यह कि सैकड़ों स्पीकरों और हार्न के शोर के बावजूद, उनके बीच खड़े होकर युवाओं ने जमकर डांस किया, ठुमके लगाए।

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Prayagraj

प्रयागराज में बाइक की टक्कर से दंपति घायल, मासूम बच्चे की मौत

थाना क्षेत्र के सधनगंज चौराहे पर रविवार सुबह दवा कराने जा रहे दंपति व चार माह की बच्चे...

26 मई 2019

विज्ञापन

अमर उजाला की महिला सशक्तिकरण की मुहिम ‘अपराजिता’ के तहत 500 महिलाओं ने डाली नाटी

हिमाचल प्रदेश के मंडी में जिलास्तरीय बालीचौकी मेले में बालीचौकी स्कूल मैदान में 500 से अधिक महिलाएं अमर उजाला की महिला सशक्तीकरण की मुहिम ‘अपराजिता’ के तहत एक साथ नाटी डालकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया।

26 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree