चिल्ड्रेन: मासूमों को थोड़ी राहत ज्यादा मुसीबत

Allahabad Updated Tue, 03 Jul 2012 12:00 PM IST
‘अमर उजाला’ की खबरों पर हाईकोर्ट की सख्ती से कुछ सुधार पर कई खामियां बरकरार
इलाहाबाद। चिल्ड्रेन हॉस्पिटल (सरोजनी नायडू बाल चिकित्सालय) में मासूमों केसाथ बेरहमी और बदइंतजामी पर ‘अमर उजाला’ के अभियान का असर दिखने लगा है। हाईकोर्ट की सख्ती से घबराए स्वास्थ्य विभाग की चेतावनी के बाद चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में कुछ सुधार हुए हैं। प्रमुख सचिव (चिकित्सा शिक्षा) की ओर से मिली तीन दिन की मोहलत सोमवार को खत्म हो गई। साथ ही मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज के प्राचार्य को लखनऊ में स्वास्थ्य महानिदेशालय में तलब किया गया है। हालांकि यह भी सच है कि तमाम सख्ती के बावजूद बच्चों की मुसीबत दूर नहीं हुई है। सोमवार को अमर उजाला टीम ने ‘चिल्ड्रेन’ का जायजा लिया तो कुछ सुधार और ज्यादा खामियां देखने को मिलीं।

एसी चालू हुए मगर दूसरे वार्ड बदहाल
इलाहाबाद। चिल्ड्रेन हॉस्पिटल के एक इमरजेंसी वार्ड में लगे चार एसी बरसों से शोपीस बने थे। हर साल गर्मी में मासूम तड़पते रहे पर एसी नहीं चले। अमर उजाला ने पिछले माह चिल्ड्रेन की बदहाली पर ‘जन्म लेते ही जिंदगी से जंग’ शीर्षक से खबर में एसी की खराबी का भी जिक्र किया था। खबर से खलबली मचने पर एसी सुधार दिए गए हैं। इससे इमरजेंसी वार्ड में भले राहत मिल गई हो लेकिन दूसरे वार्ड में मरीज और तीमारदार गर्मी-उमस से तड़प रहे हैं। रविवार शाम पांच बजे भी वार्ड नंबर पांच में भर्ती बच्चों को उनके परिवार के लोग गोद में लेकर बाहर टहलते मिले। पूछने पर कहा कि गर्मी में वार्ड में बैठना मुश्किल है तो क्या करें। बच्चे को बाहर निकालना मजबूरी है।

सुधार के सबूत लेकर प्राचार्य गए लखनऊ
इलाहाबाद। प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा और डीजी के आदेशों के बाद चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में कितना सुधार किया गया है? तीन दिन के अल्टीमेटम के बाद क्या कार्रवाई की गई? यह बताने के लिए सोमवार को मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.एसपी सिंह लखनऊ पहुंचे। वह अस्पताल में हुए सुधार और निर्माण कार्य की तस्वीर साथ ले गए। उन्होंने स्वास्थ्य महानिदेशालय को रिपोर्ट दी और यह भरोसा दिया कि चिल्ड्रेन में बाकी सुधार कार्य भी जल्द पूरे कर लिए जाएंगे।

ऑपरेशन में राहत पर वार्ड कब बनेगा?
इलाहाबाद। लगभग छह माह से मासूमों के लिए मुसीबत का सबब बने चिल्ड्रेन हॉस्पिटल के ऑपरेशन थिएटर को आनन-फानन में तैयार कर लिया गया। 10 रोज पहले अमर उजाला के पूछने पर विभागाध्यक्ष डॉ.पीसी मिश्र ने कहा था कि ओटी बनने में दो माह लग जाएंगे मगर इस बाबत खबर छपने पर हाईकोर्ट की सख्ती के बाद काम में ऐसी तेजी आई कि दो हफ्ते भी नहीं लगे। हॉस्पिटल स्टॉफ ने बताया कि ओटी तैयार है। एक-दो रोज में उसमें ऑपरेशन भी शुरू हो जाएगा। चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में सर्जरी शुरू होने पर बीमार बच्चों को बड़ी राहत मिलेगी क्योंकि अब उन्हें चेकअप के बाद सर्जरी के लिए एसआरएन नहीं ले जाना पड़ेगा पर दूसरा इमरजेंसी वार्ड अब भी नहीं बन सका है। सोमवार को इमरजेंसी वार्ड में निर्माण कार्य चलता रहा। ऐसे में इकलौते वार्ड के एक बेड पर दो-तीन बच्चे भर्ती करने पड़ रहे हैं।
---------------
बच्चा चोरी के शक में हंगामा, मारपीट
पति लेकर भाग रहा था बच्चा, लोगों ने चोर समझकर पीटा
भाभी पर भी छोड़े हाथ, करीब सवा घंटे तक भारी हंगामा
इलाहाबाद। बदहाली से सुर्खियों में आए चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में सोमवार शाम बच्चा चोरी के शक में लोगों ने एक युवक और महिला को घेरकर पीट दिया। इस पर खासा हंगामा हो गया। पता चला कि युवक उस बच्चे का पिता है। उसकी पत्नी ने बच्चे को भर्ती कराया था। आज मुंबई से आने पर वह बच्चे को अपनी पत्नी से छीनकर ले जा रहा था। खबर पाकर पहुंची कर्नलगंज थाने की पुलिस ने भीड़ को काबू में किया।
सिराथू के पास बरवा गांव का शकील का ब्याह पिछले साल फतेहपुर की रिजवाना के साथ हुआ था। 27 रोज पहले रिजवाना ने बेटे को जन्म दिया। तब से शकील मुंबई में था। बच्चा बीमार पड़ा तो रिजवाना अपने अब्बू वाजिद के साथ उसे चिल्ड्रेन हॉस्पिटल ले गई। शादी के बाद से रिजवाना और शकील के बीच पटरी नहीं बैठ रही है। शकील ने एक तरह से पत्नी से नाता ही तोड़ रखा है। सोमवार को वह मुंबई से लौटा फिर अपनी भाभी अफसाना को लेकर हॉस्पिटल पहुंच गया। वह बेड से बच्चे को उठाकर बाहर जाने लगा तो पत्नी रिजवाना चिल्लाते हुए पीछे भागी। वह मेरा बच्चा, मेरा बच्चा कहकर रो-चीख भी रही थी।
शकील रिजवाना को पीटकर भागने लगा तो लोगों को बच्चा चोरी का शक हो गया। कई लोगों मिलकर शकील को पीट दिया। फिर शकील और उसकी भाभी ने अपने बारे में बताकर लोगों को बुरा-भला कहा तो गुस्सा और बढ़ गया। वह जबरन बच्चा ले जाने लगा तो महिलाओं-पुरुषों ने घेर लिया। फिर उन दोनों की जमकर पिटाई कर दी। इस दौरान हॉस्पिटल के दोनों सिक्योरिटी गार्ड और बाकी कर्मचारी तमाशा देखते रह गए। खबर पाकर पहुंची कर्नलगंज थाने की पुलिस ने बच्चा लेने आए शकील और उसकी भाभी को हॉस्पिटल से बाहर किया।

Spotlight

Most Read

National

राजनाथ: अब ताकतवर देश के रूप में देखा जा रहा है भारत

राज्य नगरीय विकास अभिकरण (सूडा) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से नया आयाम मिला है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में लगी आग, कई टेंट जलकर हुए खाक

इलाहाबाद में चल रहे माघ मेले में रविवार दोपहर आग लगने से दहशत फैल गयी। माना जा रहा है कि आग दीये से लगी। फायर बिग्रेड की टीम ने किसी तरह आग पर काबू पाया। आग से कई टेंट जलकर खाक हो गए वहीं इस हादसे में कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper