बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
कुंभ 2021 में करें पूर्वजों को प्रसन्न, सम्पूर्ण सफलता हेतु कराएं पितृ पूजन
Astrology

कुंभ 2021 में करें पूर्वजों को प्रसन्न, सम्पूर्ण सफलता हेतु कराएं पितृ पूजन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

विकास भवन में छह अधिकारियों समेत 17 कर्मचारी गैरहाजिर मिले

मुख्य विकास अधिकारी अंकित खंडेलवाल ने शुक्रवार सुबह सवा दस बजे विकास भवन का औचक निरीक्षण किया, जिससे सभी कार्यालयों में अफरातफरी मच गई। कर्मचारियों ने आननफानन में फोन कर इसकी जानकारी साथियों को दी। इसके बावजूद छह अधिकारियों समेत लगभग 17 लोग गैरहाजिर मिले। सरकारी कर्मियों की लापरवाही का ये आलम तब है, जबकि सीडीओ पहले ही निरीक्षण करने का संकेत दे चुके थे। सीडीओ ने कहा कि यह उनका प्रथम निरीक्षण है, आगे भी वह ऐसे दौरे करते रहेंगे।
निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत राज अधिकारी पारुल सिसौदिया, आरईडी एक्सईएन अनिल शर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी मनीष वर्मा, परियोजना अधिकारी नेडा फिरोज अहमद, एआर कोआपरेटिव संजीव तिवारी, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी संजय कुमार अनुपस्थित मिले। इनके साथ ही जिला पंचायत राज कार्यालय के पांच, एनआरएलएम के चार एवं बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, पिछड़ा वर्ग के एक-एक कर्मचारी अनुपस्थित मिले।
सीडीओ ने परिसर का भ्रमण कर साफ-सफाई, उचित रखरखाव का जायजा लिया। परिसर में निष्प्रयोज्य खड़े वाहनों को देखकर नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा कि अधिकारी अनुबंधित वाहनों को प्राप्त कर आराम से हैं। कंडम खड़े वाहन और निष्प्रयोज्य सामग्री से विकास भवन परिसर की छवि पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। सरकार को राजस्व की क्षति हो रही है। परिसर में पीछे की तरफ बने शौचालयों की जीर्ण-शीर्ण दशा को सुधारने के साथ ही शौचालय की दीवारों पर रंगाई पुताई के निर्देश दिए। प्रेरणा कैंटीन भी पहुंचे और यहां के संचालकों को खाद्य एवं पेय पदार्थों की गुणवत्ता बनाए रखने के साथ स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने की चेतावनी दी। इस दौरान जिला विकास अधिकारी भरत कुमार मिश्रा, परियोजना निदेशक सचिन यादव, डीसी एनआरएलएम जनार्दन प्रसाद समेत जिला सूचना अधिकारी संदीप कुमार उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

पंचायत चुनावः जिले में 198 केंद्र संवेदनशील, 253 अतिसंवेदनशील

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन की ओर से संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केंद्रों की सूची तैयार की गई है। इन केंद्रों पर अतिरिक्त पुलिस बल के साथ पीएसी लगाने के लिए एसएसपी व पीएसी के अधिकारियों को जिला प्रशासन की ओर से कहा गया है। जिले में कुल 1401 मतदान केंद्रों में से 769 केंद्र सामान्य श्रेणी के हैं तो 198 केंद्र संवेदनशील और 253 अतिसंवेदनशील श्रेणी के हैं।
जिला प्रशासन की ओर से तैयार की गई सूची के मुताबिक गंगीरी से सबसे अधिक अतिसंवेदनशील केंद्र हैं। यहां कुल 158 केंद्र हैं, इनमें से 41 केंद्र अतिसंवेदनशील श्रेणी के हैं। वहीं, बिजौली में 111 मतदान केंद्रों में से 28 अतिसंवेदनशील प्लस की श्रेणी में हैं। अतरौली व चंडौस में 20-20 मतदान केंद्र अतिसंवेदनशील प्लस की श्रेणी में हैं। जिला प्रशासन के मुताबिक जहां किसी अपराधी का आतंक है। वोटर केंद्र पर आते नहीं है या फिर दबाव में वोट डालते हैं, उन केंद्रों को अतिसंवेदनशील की श्रेणी में रखा जाता है। इसके साथ ही इन केंद्रों पर मारपीट, बवाल और बूथ कैप्चरिंग की आशंका को देखते हुए वीडियोग्राफी की भी व्यवस्था कराई जाएगी। अतिरिक्त पुलिस बल के साथ ही पीएसी भी यहां तैनात रहेगी।
... और पढ़ें

सड़क पर दौड़ रहे हर दूसरे वाहन का चालान, मालिक अनजान

राहुल कुमार
जिले की सड़कों पर दौड़ रहे दोपहिया और चार पहिया वाहनों में से औसतन हर दूसरे वाहन का ई-चालान कटा हुआ है। मगर, वाहन स्वामियों को अपने वाहन का चालान कटने के विषय में जानकारी ही नहीं है। दरअसल, वाहन स्वामियों ने अपनी गाड़ी की आरसी (रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट) में मोबाइल नंबर नहीं दर्ज करा रखा है। इसको लेकर करीब एक लाख वाहन स्वामियों को अब तक पुलिस स्तर से नोटिस जारी किए जा चुके हैं, लेकिन पता बदलने के कारण करीब 20 प्रतिशत नोटिस वापस हो गए हैं। ट्रैफिक पुलिस की ओर से चालान नोटिस भेजे जाने के बाद भी जिन लोगों ने जुर्माना नहीं भरा है, उनके चालान कोर्ट भेज दिए गए हैं। कोर्ट स्तर पर वर्तमान में 3.50 लाख चालान भुगतान के अभाव में लंबित हैं। ट्रैफिक कार्यालय की बात की जाए तो यहां भुगतान के अभाव में 54774 चालान लंबित हैं।
आरसी में खुद ही कर सकते हैं मोबाइल नंबर दर्ज
आरटीओ प्रवर्तन फरीदउद्दीन ने बताया कि जनता की सुविधा के लिए परिवहन विभाग में सभी सेवाओं को ऑनलाइन कर दिया है। परिवहन.जीओवी.इन वेबसाइट पर जाकर आरसी अपडेट का विकल्प आता है। उस लिंक पर जाने के बाद मोबाइल नंबर अपडेट का विकल्प दिया गया है। उक्त विकल्प का चयन कर लोग अपना मोबाइल नंबर अपनी वाहन संख्या के साथ दर्ज करा सकते हैं। मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन के लिए ओटीपी भेजा जाता है। ओटीपी दर्ज करते ही मोबाइल नंबर आरसी से लिंक हो जाता है। उसके बाद गाड़ी से संबंधित सभी जानकारी और ई-चालान की जानकारी वाहन स्वामी को संदेश के जरिये मिल जाएगी।
अलीगढ़ में निजी कार और दोपहिया वाहन
- करीब 5.50 लाख दोपहिया वाहन
- करीब 80 हजार कार
ये है चालान की स्थिति
2020 में काटे गए ई-चालान - 349178
2021 में 31 मार्च तक काटे गए ई-चालान - 56319
अप्रैल 2021 में काटे गए ई-चालान - 8043
कोर्ट स्तर पर भुगतान के अभाव में लंबित चालान - 3.50 लाख
एसपी ट्रैफिक स्तर पर भुगतान के अभाव में लंबित चालान - 54774
... और पढ़ें

फेसबुक पर विनय वार्ष्णेय को लिखा आतंकी, भाजपाइयों ने थाना घेरा

महानगर के बाबरी मंडी में हुए तारिक हत्याकांड में आरोपी भाजपा नेता विनय वार्ष्णेय को लेकर गैर समुदाय के युवकों के फेसबुक ग्रुप पर अशोभनीय टिप्पणी ने बखेड़ा खड़ा कर दिया। फेसबुक पर विनय के प्रति आतंकी जैसे शब्द लिखे जाने पर भड़के भाजपाइयों ने शुक्रवार देर रात सासनी गेट थाना घेर लिया। कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा किया। बाद में पुलिस के मुकदमे के आश्वासन पर ही शांत होकर लौटे।
सासनी गेट पटेल नगर निवासी नितिन वार्ष्णेय के अनुसार शुक्रवार को वे फेसबुक चला रहे थे। तभी गैर समुदाय के युवकों के फेसबुक ग्रुप पर एक युवक की ओर से पोस्ट आई, जिसमें विनय वार्ष्णेय को आतंकी लिखा गया। जेल में ही सजा होने, हत्यारा लिखे जैसे उल्लेख थे। यह देख लोग भड़क गए। देर रात पूर्व मेयर शकुंतला भारती, ब्रजेश कंटक, भाजपा महानगर अध्यक्ष विवेक सारस्वत, गौरव शर्मा, हरिओम अग्रवाल, गजेन्द्र, कैप्टन विशाल देशभक्त, हर्षद हिंदू व विहिप और बजरंगदल के कार्यकर्ता थाने पहुंच गए। उन्होंने कहा कि इस तरह की पोस्ट से समाज में वैमनस्यता फैलती है और माहौल बिगड़ता है। ऐसे लोगों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए। बाद में इंस्पेक्टर की ओर से नितिन की तहरीर पर मुकदमा व गिरफ्तारी का आश्वासन दिया गया। तब जाकर लोगों का गुस्सा शांत हुआ। इंस्पेक्टर ने बताया कि देर रात फेसबुक एकाउंट के आधार पर शारिक खान आदि के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।
... और पढ़ें
विनय वार्ष्णेय के खिलाफ की गयी पोस्ट के विरोध में थाने में बैठे भाजपाई। विनय वार्ष्णेय के खिलाफ की गयी पोस्ट के विरोध में थाने में बैठे भाजपाई।

एएमयू : वर्ष 2021-22 की प्रवेश परीक्षाएं स्थगित

कोरोना महामारी के चलते अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) द्वारा शैक्षिक सत्र 2021-22 के लिए होने वाली विभिन्न पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है। परीक्षा कंट्रोलर मुजीब उल्ला जुबेरी द्वारा जारी की गई सूचना के अनुसार प्रवेश परीक्षाओं की संशोधित तारीख बाद में घोषित की जाएगी। वहीं, 2020-21 की सेमेस्टर परीक्षाएं आनलाइन होंगी, जिसका शेड्यूल जल्द जारी किया जाएगा।
हाल ही में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अल्लामा इकबाल हॉल में कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा दे रहे तीन छात्र संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद विश्वविद्यालय प्रशासन महामारी से बचाव के संबंध में सतर्क हो गया। विश्वविद्यालय में बाहरी लोगों के प्रवेश को प्रतिबंधित किया गया। साथ ही कार्यालयों में मास्क और सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी किए गए। विश्वविद्यालय प्रशासन का मानना है कि विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश परीक्षा के लिए परिस्थितियां अनुकूल नहीं है। इसलिए उनको स्थगित करने का फैसला लिया गया है।
इस बीच, कुलपति की अध्यक्षता में विभिन्न फैकल्टी के डीन, कालेजों और पालीटेक्निक के प्राचार्यों और अन्य अधिकारियों की एक सलाहकार बैठक में यह निर्णय लिया गया कि शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए विभिन्न फैकल्टी की कक्षाएं सेमेस्टर के समाप्त होने तक पुराने और नए छात्रों के लिये आनलाइन तरीके से ही चलेंगी। इसके अलावा 2020-21 की सेमेस्टर परीक्षाएं भी आनलाइन होंगी, जिसका शेड्यूल जल्द ही जारी किया जाएगा।
... और पढ़ें

शादी समारोह के लिए अनुमति नहीं, सिर्फ थाने पर दें सूचना

शादी समारोह के आयोजन से पूर्व अब जिला प्रशासन के क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट से अनुमति लेना अनिवार्य नहीं होगा। सिर्फ थाने में आयोजन व उसके स्थल के संबंध में पत्र के माध्यम से जानकारी देनी होगी। हालांकि, शादी में 100 मेहमानों को ही शामिल करने का नियम लागू रहेगा। आयोजकों की सुविधा को देखते हुए जिला प्रशासन ने यह फैसला किया है। अब उनको अनुमति के लिए भागदौड़ नहीं करनी पड़ेगी।
एडीएम सिटी राकेश कुमार मालपाणी ने बताया कि शादी समारोह के लिए किसी को प्रशासनिक अनुमति लेने की जरूरत नहीं है। अनुमति के नियम को छोड़कर बाकी के अन्य कोविड नियम पहले की तरह की लागू रहेंगे। मजिस्ट्रेट अपने-अपने इलाके में मैरिज होम्स, लॉज में आयोजित समारोह पर निगाह रखेंगे और कोविड नियमों का पालन हो रहा है या नहीं, इसको लेकर निरीक्षण करेंगे। आयोजकों को सिर्फ अपने संबंधित थाने में एक पत्र के माध्यम से आयोजन के संबंध में जानकारी देनी पड़ेगी।
हॉटस्पॉट/कंटेनमेंट जोन में मैरिज होम तो नहीं होगा आयोजन
कोविड-19 नियमों के मुताबिक अगर कोई मैरिज होम, लॉन हॉटस्पॉट/कंटेनमेंट जोन में आता है तो वहां पर आयोजन नहीं होंगे। नियम के मुताबिक अगर किसी इलाके में कोरोना के अधिक केस मिलते हैं और उसे हॉटस्पॉट/कंटेनमेंट जोन में तब्दील किया जाता है। उक्त दायरे में अगर मैरिज होम्स आता है तो उसमें होने वाले आयोजन नहीं होंगे।
शादी में बाहर से आने वाले रिश्तेदारों की कोरोना जांच जरूरी
शादी समारोह में अगर कोई रिश्तेदार बाहरी जिले या राज्य से आ रहा है तो उसकी कोरोना जांच करना सुनिश्चित कर लें। वैसे तो प्रशासन बार्डर पर जांच करा रहा है। इसके बाद भी अगर कोई बॉर्डर पर चेकिंग के दौरान जांच कराने से बच जाता है तो आयोजक की जिम्मेदारी है कि उसकी कोरोना जांच कराएं। इसके साथ ही डीएम ने स्वास्थ्य विभाग व सभी क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट को भी सतर्क करते हुए कहा कि वह अपने-अपने क्षेत्र में होने वाले शादी समारोह पर निगाह रखें।
... और पढ़ें

नरसिंहानंद के खिलाफ कार्रवाई को प्रदर्शन, नोकझोंक

पैगंबर-ए-इस्लाम को लेकर विवादित टिप्पणी करने वाले नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जमालपुर ईदगाह के सामने मुस्लिम समाज ने प्रदर्शन किया। नरसिंहानंद के पुतले को चप्पल मारने की बात पर उपनिरीक्षक श्रवण कुमार यादव और रालोद के युवा नेता राजा भैया के बीच तीखी नोकझोंक हो गई। बाद सीओ अनिल समानिया के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ।
जुमे की नमाज के बाद नरसिंहानंद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर विरोध मार्च निकाला गया। मार्च में शामिल लोगों ने नरसिंहानंद के विरोध में नारेबाजी की। विरोध प्रदर्शन में शामिल रालोद के युवा नेता व छात्र नेता राजा भैया ने प्रशासन के सामने नरसिंहानंद के पोस्टर पर चप्पल मारने के लिए कहा तो वहां मौजूद उपनिरीक्षक श्रवण कुमार यादव ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया और उन्हें जेल भेजने की धमकी दी। इस बात को लेकर लोग आक्रोशित हो उठे। मामला बिगड़ता देख सीओ अनिल समानिया को हस्तक्षेप करना पड़ा। उन्होंने ज्ञापन लिया। राजा ने कहा कि विरोध करना उनका संवैधानिक हक है, जो पुलिस उनसे छीनने की कोशिश कर रही है। पुलिस का भी पुतला फूंकने से गुरेज नहीं करेंगे। शनिवार को मुस्लिम समाज के वरिष्ठ लोगों के लेकर उपनिरीक्षक के खिलाफ एसएसपी कार्यालय का घेराव करेंगे, तब तक नरसिंहानंद और उनके सहयोगी श्रवण कुमार पर कार्रवाई नहीं होगी, तब तक विरोध करते रहेंगे।
उधर, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तिहादुल मुस्लिमीन के युवा महानगर अध्यक्ष रिजवान अहमद के नेतृत्व में नरसिंहानंद सरस्वती की गिरफ्तारी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया। ज्ञापन सीओ अनिल समानिया को दिया गया। ओवैसी यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष सैयद नाजिम अली ने कहा कि अभी तक नरसिंहानंद सरस्वती की गिरफ्तारी इसलिए नहीं की जा रही है, क्योंकि नरसिंहानंद सरस्वती को सरकार व पुलिस का संरक्षण प्राप्त है। ज्ञापन देनेे वालों में साहिल सिद्दीकी, मोहम्मद नदीम, कामिल कुरैशी, शाहिद अब्बास, शानू सैफी, आबिद राजपूत, तालिब खान, इमरान अल्वी, खुर्रम पठान, चौधरी जाहिद आदि मौजू रहे।
... और पढ़ें

युवती को गुमराह कर गैर समुदाय के युवक ने की शादी

जमालपुर ईदगाह पर विरोध प्रदर्शन कर लोगों को रोकती पुलिस।
दिल्ली में रहने वाली छत्तीसगढ़ की युवती संग गैर समुदाय के युवक ने खुद को हिंदू बताकर शादी कर ली। अब दो साल बाद युवती जब अपने पति संग यहां उसकी रिश्तेदारी में आई तो उसके गैर समुदाय का होने का भेद खुला। इसके बाद शुक्रवार को प्रकरण ने तूल पकड़ लिया। पूर्व मेयर सहित तमाम लोग युवती के समर्थन में लोधा थाने पहुंच गए। जहां युवती की तहरीर पर युवक व उसकी बहनों के खिलाफ मुकदाम दर्ज किया गया है।
घटनाक्रम के अनुसार मूल रूप से छत्तीसगढ़ के ठेड़ गम्हरिया थाना बगीची की रहने वाली पूजा सोनी कई साल से दिल्ली के जन्नत अस्पताल में आया की नौकरी करती है और अपनी रिश्तेदार महिला के पास सिकंदरपुर दिल्ली में रहती है। इसी दौरान फोन के जरिये उसकी एक युवक से बातचीत शुरू हुई, जिसने खुद का नाम अशोक राजपूत बताया और दोनों में मुलाकात के बाद प्यार हो गया। दोनों ने सिकंदरपुर के ही एक मंदिर में 25 मार्च 2019 को शादी कर ली। दोनों वहीं साथ रहने लगे। दंपती को एक बेटी भी हुई।
अब 22 मार्च को अशोक उसे अपनी बहनों के घर लोधा के गांव राइट लेकर आया तो उसे पता चला कि युवक हिंदू नहीं मुसलिम है। उसका असल नाम अफजल पुत्र अली हसन है और विवाहित बहनों का नाम बानो व नाजमा है। उसने यह देख जब ऐतराज जताया तो आरोप है कि उसके साथ मारपीट की गई। इतना ही नहीं, यह भी कहा गया कि अगर उसे रहना है तो उनके तौर तरीके सीखने होंगे और उनके अनुसार रहना होगा। इस दौरान उसे पीटा भी गया। बाद में उसे युवक वहीं छोड़कर भाग गया। मगर महिला विरोध करती रही। किसी तरह महिला शुक्रवार को बन्नादेवी थाने पहुंची। वहां से उसे लोधा भेजा गया। इसी बीच शाम को खबर पर पूर्व मेयर शकुंतला भारती आदि भी पहुंच गए। जहां प्रकरण समझने के बाद पहले तो उसकी बच्ची को लेकर आया गया। बाद में महिला की ओर से दी गई तहरीर पर मारपीट व 3/5 विधि विरुद्ध विवाह धर्म अधिनियम 2020 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। सीओ गभाना करमवीर सिंह के अनुसार मुकदमे के बाद युवती को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है। साथ में अन्य कार्रवाई जारी हैं।
योगी सरकार के अधिनियम का जिले में पहला मुकदमा
धर्म छिपाकर शादी करने के मामले में प्रदेश सरकार ने 3/5 विधि विरुद्ध विवाह धर्म अधिनियम 2020 लागू किया था। यह उस अधिनियम के तहत जिले में पहला मुकदमा है।
... और पढ़ें

बिना मास्क मिले तो कटेगा चालान, अभियान आज से

कोविड के प्रसार को कम करने की योजना पर काम करने के लिए जिला प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के बीच शुक्रवार को समीक्षा बैठक हुई। बैठक में एसएसपी ने बताया कि आज से जिले में बिना मास्क घूमने वालों का चालान काटा जाएगा। प्रथम बार में 100 रुपये और दूसरी बार में चालान राशि 500 रुपये होगी। डीएम चंद्रभूषण सिंह ने निर्देश दिया कि कोरोना संक्रमित मरीज के कम से कम 25 संपर्कियों की जांच की जाए। कोविड जांच को जाने वाली टीम के साथ पुलिस भी रहेगी। थानावार एक नोडल अफसर तैनात किया जाएगा।
जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक में उन्होंने निर्देश दिया कि विदेश व अन्य राज्यों से आने वाले व्यक्ति कोविड कंट्रोल रूम के नंबर 05712420100, 05712420101 पर अपने विषय में सूचना अवश्य दें। शहर व प्रत्येक गांव में निगरानी समिति सक्रिय की जाएं। सभी एमओआईसी अपने-अपने स्वास्थ्य केंद्र पर लक्ष्य के अनुसार कोविड की जांच कराएं। कोरोना कंट्रोल रूम से निगरानी की जाए।
मोहन लाल गौतम महिला चिकित्सालय के सीएमएस को सभी व्यवस्थाएं पूर्ण रखने, सीडीओ व एसडीएम कोल को दीनदयाल कोविड अस्पताल, एडीएम वित्त को मोहन लाल गौतम महिला चिकित्सालय व एडीएम सिटी को मलखान सिंह जिला अस्पताल का नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिए।
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि शहर में नगर मजिस्ट्रेट, अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम/द्वितीय सभी एसडीएम पुलिस क्षेत्राधिकारी से समन्वय स्थापित करें। जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले लोगों को समय पर एवं शांतिपूर्ण ढंग से कोविड चिकित्सालयों में दाखिल करने व उनकी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए चिकित्सा विभाग/प्रशासन के सहयोग के लिए थाना स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं, जिससे कोरोना संक्रमण को रोका जा सके। आज से जिले में मास्क न पहनने वालों के खिलाफ भी चौराहा-बाजार में अभियान चलेगा। पुलिस उनके चालान काटेगी।
... और पढ़ें

राशन वितरण : होम डिलीवरी और टोकन व्यवस्था फिर से होगी लागू

शहर के उस्मानपाड़ा के मोहल्ला कुरैशियान के चार लोगों को बीते साल राशन डीलर की दुकान से लगे कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद होम डिलीवरी और टोकन सिस्टम की जो व्यवस्था लागू की गई थी, उसे इस साल फिर से लागू करने पर विचार किया जा रहा है।
जिला पूर्ति अधिकारी राजेश कुमार सोनी के मुताबिक होम डिलीवरी, और टोकन सिस्टम का प्लान फिर से तैयार किया गया है। राशन डीलर के माध्यम से संबंधित 50 साल से अधिक उम्र वाले लाभार्थियों की सूची तैयार कराई जाएगी। इन सभी के घर तक राशन पहुंचाने की योजना है। वहीं, 50 से कम उम्र वाले लाभार्थियों को एक दिन पहले टोकन बांटा जाएगा। टोकन एक-एक घंटे की अवधि के होंगे। मसलन सुबह 10 बजे से 11 बजे के बीच के टोकन जिन लोगों के पास होंगे, वही राशन लेने आएंगे। इनकों भी दुकानदार पांच-पांच की संख्या में फोन कर दुकान पर बुलाएगा। जो लोग बिना कॉल किए आएंगे, उनको राशन नहीं दिया जाएगा। इस व्यवस्था का उद्देश्य लोगों के बीच दूरी बनाए रखने का है। साथ ही जनता से भी अपील है कि वह राशन लेने के लिए हड़बड़ी न दिखाएं। जिला प्रशासन के पास पर्याप्त मात्रा में राशन उपलब्ध है।
... और पढ़ें

बेटे के हाथ कराएंगे मां के कत्ल में सुराग का मिलान

अभिषेक शर्मा
महानगर के क्वार्सी क्षेत्र के एटा चुंगी से सटी सरोज नगर कालोनी में हुई ज्वैलर्स के घर लूट व पत्नी की हत्या की वारदात में पुलिस विवेचना चार्जशीट की ओर बढ़ रही है। खास बात है कि लूट व कत्ल के जुर्म में ज्वैलर्स दंपती का बेटा, उसका दोस्त और दोनों की प्रेमिकाएं जेल में हैं । पुलिस अब इस वारदात में मजबूत साक्ष्य करने की दिशा में दोनों मुख्य आरोपियों के हाथों के फिंगर प्रिंट संकलित करने की तैयारी में है। इसके लिए जल्द न्यायालय से अनुमति लेकर प्रक्रिया पूरी की जाएगी। फिर घर से संकलित किए गए फिंगर प्रिंटों को दोनों के फिंगर प्रिंटों से मिलान कराकर विवेचना में शामिल किया जाएगा।
वाकया 19 फरवरी की दोपहर का है, जब कुलदीप ज्वैलर्स के स्वामी के घर एक करोड़ से अधिक के जेवरात की लूट और उनकी पत्नी कंचन वर्मा की हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया। वारदात के खुलासे में पुलिस ने दो दिन में ही पाया कि कोई और नहीं, बल्कि अपनी प्रेमिका से शादी कर घर से अलग रह रहा बेटा ही मुख्य आरोपी है। पुलिस ने बेटा, उसके दोस्त, उसकी कथित पत्नी और दोस्त की प्रेमिका को गिरफ्तार कर लूटा गया माल बरामद किया था। चारों को 21 फरवरी को जेल भेजा था। चूंकि नियमानुसार गिरफ्तारी के 90 दिन में चार्जशीट दाखिल करनी होती है। इसलिए पुलिस अब जल्द चार्जशीट दायर करने की तैयारी में है। इसी कड़ी में सबसे अहम काम पुलिस का शेष है, वह है फिंगर प्रिंट के मिलान का।
विवेचक इंस्पेक्टर क्वार्सी छोटेलाल के अनुसार घटना के वक्त घर की तिजोरी से जो फिंगर प्रिंट फील्ड यूनिट से संकलित किए थे। वे हमारे पास सुरक्षित हैं। अब उनका मिलान मुख्य आरोपी योगेश व उसके दोस्त के फिंगर प्रिंट से होना है। इसके लिए न्यायालय से अनुमति लेकर जेल से दोनों के फिंगर प्रिंट संकलित किए जाएंगे और फिर पहले से मौजूद प्रिंटों से उनका मिलान कराकर उन्हें केश डायरी का हिस्सा बनाकर चार्जशीट के साथ कोर्ट में पेश किया जाएगा। बाकी विवेचना का काम लगभग पूरा हो चुका है। बस माल की शिनाख्त भी शेष है। वह भी जल्द पूरी करा दी जाएगी।
बेटे की कथित पत्नी की जमानत अर्जी दायर
मामले में मुख्य आरोपी योगेश की कथित पत्नी सोनम उर्फ चित्रा की ओर से सत्र न्यायालय में जमानत अर्जी दायर की गई है, जिस पर सुनवाई के लिए सोमवार की तारीख न्यायालय स्तर से तय की गई है और पुलिस से कमेंट भी मांगे हैं।
ये हैं आरोपी
- योगेश उर्फ राजा सरोज नगर एटा चुंगी क्वार्सी (आरोपी बेटा)
- सोनम उर्फ चित्रा नगला मसानी देहली गेट (बेटे की कथित पत्नी)
- तनुज चौधरी देवनगर खैर बाईपास बन्नादेवी(बेटे का दोस्त)
- शेहजल चौहान उर्फ रिनी गूलर रोड बन्नादेवी (दोस्त की प्रेमिका)
... और पढ़ें

सवा साल बाद चालू हुई 46 साल पुरानी 110 मेगावाट यूनिट

आशीष निगम
हरदुआगंज तापीय परियोजना, कासिमपुर में 46 वर्ष पुरानी 110 मेगावाट की सात नंबर यूनिट में सवा साल बाद शुक्रवार को उत्पादन ट्रायल शुरू हो गया। जनवरी 2020 में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देश पर बिजली उत्पादन की ऐसी छोटी यूनिटों को प्रदूषण का हवाला देकर बंद करा दिया गया था, लेकिन हाल ही में इनको वर्ष 2025 तक चलाने का निर्देश दिया गया है। एक दो दिन में ये पूर्ण क्षमता से उत्पादन करने लगेगी। इसके साथ ही 250 मेगावाट की 9 नंबर यूनिट में बिजली उत्पादन हो रहा है। इस तरह वर्तमान में पॉवर हाउस में दो यूनिटों से 360 मेगावाट बिजली बनी रही है। जुलाई में जब चारों यूनिट अपनी पूरी क्षमता से उत्पादन करेंगी तो यहां पर 1270 मेगावाट बिजली बनने लगेगी।
नई बनी 660 मेगावाट की यूनिट में वाष्पीकरण हो रहा है। ये यूनिट मई में सिंक्रोनाइज होगी और जुलाई तक उत्पादन पर आएगी। 250 मेगावाट की 8 नंबर यूनिट में भी मरम्मत के बाद उत्पादन मई तक शुरू होने की उम्मीद है। सबकुछ ठीक रहा तो जुलाई तक प्लांट पूरी क्षमता के साथ बिजली का उत्पादन करने लगेगा, जिससे यहां की चार यूनिटों में लगभग 1270 मेेगावाट बिजली पैदा होगी।
110 मेगावाट की सात नंबर यूनिट को वर्ष 1975 में बीएचईएल ने लगाया था। वर्ष 2010 में इसको आधुनिक मशीनों से लैस कर इसकी क्षमता 110 से 120 मेगावाट करने का काम शुरू हुआ। इस कारण ये वर्ष 2014 तक बंद रही और क्षमता भी नहीं बढ़ाई जा सकी। वर्ष 2015 में ये दोबारा चली और 2020 की शुरुआत तक उत्पादन हुआ। जनवरी 2020 में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने देश की ऐसी सभी छोटी यूनिटों को बंद करने का निर्देश दिया, जिसमें कोयले से बिजली उत्पादन हो रहा था। इसका कारण प्रदूषण को बताया गया था। हाल ही में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इन यूनिटों को वर्ष 2025 तक चालू करने का नया निर्देश दिया है, जिसके बाद यहां उत्पादन शुरू कराया गया है।
110 मेगावाट की सात नंबर यूनिट 46 वर्ष पुरानी है। इसे बृहस्पतिवार से सिंक्रोनाइज किया गया है। एक दो दिन में ये उत्पादन पर आ जाएगी। नई 660 मेगावाट यूनिट और 250 मेगावाट की आठ नंबर यूनिट के चालू होने के बाद यहां लगभग 1270 मेगावाट का उत्पादन शुरू हो जाएगा।
- रवींद्र कुमार वाही, महाप्रबंधक हरदुआगंज तापीय परियोजना कासिमपुर।
वर्तमान विद्युत उत्पादन की स्थिति
1- 110 मेगावाट की 7 नंबर यूनिट में उत्पादन शुरू
2- 250 मेगावाट की 9 नंबर यूनिट में उत्पादन जारी
3- 250 मेगावाट की 8 नंबर यूनिट में मरम्मत, मई में होगी चालू
4- 660 मेगावाट की नई यूनिट में वाष्पीकरण, जुलाई तक होगी चालू
... और पढ़ें

निर्माण कार्य के चलते प्रभावित रहेगा रेल संचालन

दिल्ली-गाजियाबाद-टूंडला रेलवे खंड पर सुदृढ़ीकरण एवं चिपियाना बुजुर्ग व गाजियाबाद के मध्य बन रहे ओवरब्रिज निर्माण व रेग्युलेशन कार्य के चलते रेल संचालन बाधित रहेगा। सीपीआरओ अजीत कुमार ने बताया कि 10,12, 13,14, 18, 20, 22 व 23 अप्रैल को गाजियाबाद- अलीगढ़ के रास्ते चलने वाली दैनिक गाड़ियां प्रभावित रहेंगी।
संगम एक्सप्रेस कानपुर सेंट्रल, टूंडला, अलीगढ़, गाजियाबाद की बजाय खुर्जा, मेरठ सिटी सहारनपुर के रास्ते संचालित होगी। इसी तरह दरभंगा नई दिल्ली कानपुर सेंट्रल से टूंडला, अलीगढ़, खुर्जा, हापुड़ गाजियाबाद, दिल्ली रूट पर चलेगी। पुरी नई दिल्ली मारीपत स्टेशन पर इन तारीखों में मारीपत व टूंडला के मध्य 50 मिनट के लिए रेग्यूलेट किया जाएगा। गया- नई दिल्ली, कामाख्या दिल्ली, सीतामढ़ी -आनंद विहार टर्मिनल सहरसा नई दिल्ली, मालदा टाउन दिल्ली, कानपुर सेंट्रल भिवानी, दरभंगा -नई दिल्ली, मऊ आनंद विहार, प्रयागराज संगम को अलग-अलग समय के लिए रेग्यूलेट किया जाएगा। ब्यूरो
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X