विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

भाजपा की नजर सियासी बागवानी पर, मंत्रिमंडल विस्तार के सहारे एक साथ कई संदेशों पर काम

मंत्रिमंडल के सहारे भाजपा की तैयारी सिर्फ 2022 का चुनाव ही नहीं, बल्कि सियासी बागवानी की भी है। पार्टी ने इस अकेले काम के सहारे कई संदेश देने की कोशिश की है।

25 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अलीगढ़

रविवार, 25 अगस्त 2019

जेलमें जन्मे कान्हा को नहीं मिली नंद के घर शरण

मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण जिला कारागार में निरुद्ध महिला बंदी के नवजात बेटे को पालने के लिए आगरा के राजकीय शिशु गृह में भेजा गया था। इस शिशु गृह ने उसे अपने यहां शरण देने से मना कर दिया। वहां के अधिकारियों का कहना है कि बालक अनाथ नहीं है, उसकी मां जिंदा है। इस कारण बालक को यहां नहीं रखा जा सकता। बिहार की मूल निवासी बच्चे की मां पर अपहरण का आरोप है।
दूसरी ओर सात दिन के इस नवजात की मां को भी बनारस के मानसिक आरोग्यशाला में भेजने की तैयारी हो रही थी, लेकिन बच्चे के वापस लौट आने के चलते इस प्रक्रिया को भी रोक दिया गया है। इससे पहले जेल प्रशासन ने आगरा और बनारस स्थित दोनों संस्थानों के प्रमुखों को शुक्रवार को पत्र लिखा था। कृष्ण जन्माष्टमी पर हुए इस घटनाक्रम को लेकर जेल प्रशासन के साथ साथ अन्य बंदियों में भी चर्चा है। मूल रूप से बिहार के नालंदा के थाना थरधारी के कस्बा अस्ता खज्जमा के रहने वाले रवि रंजन की पत्नी पुष्पलता को सासनी गेट थाने में दर्ज अपहरण के मुकदमे में जिला कारागार में 28 जुलाई को निरुद्ध किया गया था।
16 अगस्त को महिला ने जिला अस्पताल में पुत्र को जन्म दिया। महिला की मानसिक स्थिति पहले से ही ठीक नहीं थी। प्रसव के बाद उसकी हालत और अधिक बिगड़ गई। वह बात-बात पर चीखने लगती है। कई साथी बंदियों-कैदियों को दांतों से काट भी खा चुकी है, जिसके चलते इस महिला को उपचार के लिए बनारस के मानसिक चिकित्सालय में जाना था। उसके बच्चे को आगरा की विष्णु कालोनी, शाहगंज में बने राजकीय शिशु गृह भेजा गया लेकिन वहां की अधीक्षिका ने नियमों के चलते बालक को अपने यहां पर रखने में असमर्थता व्यक्त कर दी। इसके बाद बच्चे को वापस अलीगढ़ ले आया गया।
ऐसा यह पहला मामला आया है। इस संबंध में विधिक राय ली जाएगी। साथ ही अलीगढ़ की संस्थाओं से भी बालक के लालन पालन के संबंध में संपर्क किया जाएगा।
- आलोक सिंह, जेल अधीक्षक
... और पढ़ें

चार जिलों से मिलाकर भी नहीं बन सकी क्रिकेट टीम

अलीगढ़, एटा, बुलंदशहर, कासगंज में क्रिकेट के लिए अच्छी खबर नहीं है। इन चारों जिलों से भी अंडर-16 क्रिकेट टीम नहीं बन सकी। वजह, 45 में से 38 खिलाड़ी अधिक आयु के चलते मेडिकल टेस्ट में फेल हो गए। नतीजतन पहली बार अलीगढ़ जोनल की टीम इंटर जोनल क्रिकेट टूर्नामेंट में शामिल नहीं हो सकी। बाकी बचे 7 खिलाड़ियों को अलग टीम से खिलाया गया।
उत्तर प्रदेश की अंडर-16 की टीम बनाने के लिए उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (यूपीसीए) की ओर से गाजियाबाद में इंटर जोनल क्रिकेट टूर्नामेंट हो रहा है। इसमें मथुरा, फिरोजाबाद व गाजियाबाद की टीम हिस्सा ले रही है, जबकि अलीगढ़ जोनल टीम के बजाय सात खिलाड़ी गाजियाबाद जोनल टीम से खेल रहे हैं। यूपीसीए ने अंडर-16 जोनल मैच की शुरुआत वर्ष 2015 में की थी, यह पहला मौका है जब अलीगढ़ जोनल टीम नहीं खेल रही है। हैरत की बात यह कि जिस अलीगढ़ ने पीयूष चावला, रिंकू सिंह जैसे खिलाड़ी देश को दिए हैं, वह इस बार जोनल की टीम के लिए 15 खिलाड़ी न जुटा सका। चारों जिलों से 15 खिलाड़ी ऐसे नहीं चुने जा सके, जिनकी उम्र 16 वर्ष से कम हो।
चयन प्रक्रिया में खिलाड़ी भी कम दोषी नहीं हैं, क्योंकि ज्यादा उम्र होने के बाद भी वह सर्टिफिकेट व आधार कार्ड के सहारे ट्रायल में शामिल हो जाते हैं। जानकारों का कहना है कि जिन खिलाड़ियों को दो वर्ष पहले ओवर ऐज करार दिया गया था, उन्हें टीम में कैसे जगह मिल गई। अलीगढ़ स्पोर्ट्स एसोसिएशन के सचिव अब्दुल वहाब ने कहा कि कई खिलाड़ी मेडिकल टेस्ट में फेल हो गए हैं।
उसैद, विशाल, यश का शानदार प्रदर्शन
गाजियाबाद में जोनल क्रिकेट टूर्नामेंट में गाजियाबाद टीम से खेलते हुए विशाल ने तीन, उसैद ने एक विकेट व 23 रन बनाए, जबकि यश उपाध्याय ने 50 रन की पारी खेली।
... और पढ़ें

पीएम आवास योजना में मकान दिलाने के बहाने किया सामूहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज

प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास दिलाने के नाम पर इगलास की अनुसूचित जाति की महिला संग कार सवारों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। घटना को बुधवार देर शाम मडराक क्षेत्र के निजी कॉलेज के पीछे खेतों में बने टिनशेड में अंजाम दिया और आरोपी महिला को धमकी देकर वहीं छोड़कर भाग गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल करते हुए तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। प्रथम दृष्टया पुलिस घटना को संदिग्ध मान रही है।

ये भी पढ़ें- 
रेलवे स्टेशन से बच्ची को लेकर शातिर महिला फरार, जांच में जुटी पुलिस

इगलास के एक चाय विक्रेता के यहां खैर के बलीपुर निवासी हीरो उर्फ रवेंद्र जाट का आना जाना था। आरोप है कि इसी दौरान हीरो ने उसे पीएम आवास योजना के तहत मकान दिलाने का भरोसा दिलाया था। आरोप के अनुसार बुधवार को दोपहर 11 बजे आरोपी कार लेकर उसकी दुकान पर पहुंचा। उस समय दुकानदार वहां नहीं था, बल्कि उसकी पत्नी मौजूद थी। मकान भी पत्नी के नाम आवंटित होने का भरोसा पहले से दिलाया जा रहा था।

इस दौरान आरोपी ने चाय विक्रेता की पत्नी से कहा कि तुम्हारा मकान आवंटित हो गया है। कागजी औपचारिकताओं के लिए आज तुम्हें अलीगढ़ चलना होगा। इस पर महिला ने कहा कि पति को आ जाने दो इसके बाद वह तुम्हारे साथ चलेगी। मगर हीरो ने जिद की तो वह उसके साथ कार में बैठकर उसी समय चल दी। 

आरोप है कि रास्ते में आरोपी ने अपने दो अन्य लोगों को भी बैठाया। इसके बाद दिन भर उसे अलीगढ़ में इधर-उधर घुमाया गया और बाद में शाम करीब साढ़े सात बजे वापस ले जाते समय मडराक क्षेत्र में मथुरा रोड के एक निजी कॉलेज के पीछे ले जाकर टिनशेड में उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध करने पर उसके साथ धमकी दी गई। बाद में आरोपी उसे वहीं छोड़कर चले गए।

महिला की सूचना पर उसका पति व थाना पुलिस वहां पहुंच गई। इंस्पेक्टर मडराक सुरेश चंद्र के अनुसार फिलहाल गैंगरेप व एससीएसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मौके पर कुछ चूड़ियां जरूर टूटी मिली हैं। बाकी घटनास्थल को देखने से प्रकरण संदिग्ध लग रहा है। जांच व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आगे कुछ तय होगा।
... और पढ़ें

आबकारी विभाग ने शराब पकड़ी

शराब तस्करों के खिलाफ आबकारी विभाग का अभियान जारी है। शनिवार को टीम ने हामिदपुर पलवल मार्ग पर चेकिंग के दौरान महेंद्रा बोलेरो मैक्स पिकअप गाड़ी से करीब 11 लाख रुपये की 140 पेटी हरियाणा निर्मित जुबली रेयर ब्रांड व्हिस्की पकड़ी। यह शराब अवैध रूप से फरीदाबाद से कानपुर जा रही थी। इस मामले में गाड़ी मालिक एवं चालक के खिलाफ टप्पल थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। इधर गत दिवस लेखराज सिटी जीटी रोड पर चेकिंग के दौरान 750 पेटी अरुणाचल निर्मित शराब के साथ गिरफ्तार चालक को जेल भेज दिया गया।
आबकारी टीम ने शनिवार को हामिदपुर पलवल मार्ग पर चेकिंग के दौरान महिंद्रा बोलेरो मैक्स पिकअप संख्या एचआर47 डी-5217 को रोका गया। चेकिंग के दौरान गाड़ी में रखी 140 पेटी हरियाणा निर्मित जुबली रेयर ब्रांड की व्हिस्की बरामद हुई। गाड़ी चालक मेवात हरियाणा निवासी चालक अरशद पुत्र सुलेमान के पास माल से संबंधित कागज नहीं मिले तो उसे हिरासत में ले लिया गया। पूछताछ में उसने बताया कि यह माल वह फरीदाबाद से कानपुर ले जा रहा था। जिला आबकारी अधिकारी धीरज ने बताया कि गाड़ी मालिक रेवाड़ी हरियाणा निवासी हुकुम सिंह पुत्र महेंदर व गाड़ी चालक के खिलाफ टप्पल थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि गत दिविस लेखराज सिटी जीटी रोड के पास चेकिंग में 750 पेटी अरुणाचल प्रदेश की शराब के साथ गिरफ्तार गाड़ी चालक जग्गा पुत्र श्री हाकम सिंह निवासी रावतसर थाना रावतसर जनपद हनुमानगढ़ राजस्थान को जेल भेज दिया गया है। इस मामले में चालक व गाड़ी स्वामी के खिलाफ सासनीगेट थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। टीम में आबकारी निरीक्षक विचित्र कुमार, मुकेश कुमार, जगदंबिका प्रसाद, धम्मदीप सिंह, अरविंद कुमार शर्मा, सतेंद्र कुमार, नौनिहाल सिंह, अंजेश शर्मा आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

चुनौतियां हैं पर ठान लेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी : आलोक

बिहार के डायरेक्टर जनरल (ट्रेनिंग एंड बिहार पुलिस अकादमी) आलोक राज ने विद्यार्थियों से कहा कि उनके सामने कठिन चुनौतियां हैं, अगर वह इन चुनौतियों से पार पाने को ठान लेंगे तो उन्हें सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।
शनिवार को आलोक राज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के कैनेडी हॉल में विद्यार्थियों से रूबरू थे। उन्होंने विद्यार्थियों को यूपीएससी की परीक्षा में सफल होने के मंत्र भी दिए। कहा, एएमयू में बेहतरीन लाइब्रेरी और माहौल है, उसका जरूर फायदा उठाएं। डीजी ने कहा कि इसी इदारे के छात्र जावेद उस्मानी वर्ष 1978 में यूपीएससी परीक्षा में टॉपर बने थे। इनके अलावा यहीं के छात्र मनोज यादव ने वर्ष 1988 में यूपीएससी की परीक्षा पास की थी, जो मेरे बैचमेट होने के साथ इस समय वह हरियाणा में डीजीपी भी हैं। एएमयू रजिस्ट्रार अब्दुल हमीद ने कहा कि यूपीएससी परीक्षा के पैटर्न भी बदल रहे हैं। लिहाजा, युवा अधिकारियों को सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के मध्य आमंत्रित कर उनका व्याख्यान भी कराना चाहिए। इससे पहले डीजी आलोक राज ने एएमयू के संस्थापक सर सैयद अहमद खां की मजार पर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद मौलाना आजाद लाइब्रेरी गए, जहां उन्होंने पांडुलिपि व इमारतें देखीं। उनके साथ एएमयू के जनसंपर्क कार्यालय के एसोसिएट मेंबर इंचार्ज डॉ. राहत अबरार भी थे। शाम को कैनेडी हॉल में डीजी आलोक राज ने पद्मभूषण गोपाल दास नीरज की गीतों अपने स्वर देकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। उन्होंने नीरज जी के चुनिंदा गीतों का एक एलबम भी तैयार किया है।
... और पढ़ें

भाभी संग घर से निकले युवक को पत्नी ने जीआरपी की मदद से दबोचा

गांधी पार्क थाना क्षेत्र की एक महिला शनिवार दोपहर अपने प्रेमी देवर संग घर छोड़कर निकल आई। जानकारी होने पर युवक की पत्नी पीछे-पीछे आ गई। उसने पति और जेठानी को जीआरपी की मदद से दबोच लिया।
गांधी पार्क थाना क्षेत्र के एक इलाके के युवक की छह साल पहले झारखंड के पारसनाथ जिले की महिला से शादी हुई थी। युवक नोएडा में कैब ड्राइवर का काम करता है। पत्नी ससुराल में पांच वर्ष के बेटे के साथ रहती है। महिला का अपने पति के चचेरे भाई के साथ चार साल से प्रेम संबंध हैं। एक साल पहले युवक की शादी हो गई। युवक की पत्नी को पति और जेठानी के प्रेम संबंधों का पता लगा तो कलह होने लगी। इससे तंग आकर देवर-भाभी ने घर छोड़ने की प्लानिंग कर ली। दोनों दोपहर को घर से निकल आए। युवक की पत्नी ने बताया कि शक होने पर स्टेशन आकर तलाश की। यहां दोनों को जीआरपी की मदद से पकड़ लिया। जीआरपी ने युवक से पूछताछ की तो वह भाभी को उसके मायके छोड़ने जाने की बात कहने लगा। जीआरपी इंस्पेक्टर के अनुसार युवक और महिला के परिजनों को बुलाया गया। उनके समझाने पर दोनों घर पर वापस चले गए।
... और पढ़ें

जनप्रतिनिधि के गनर ने किशनपुर तिराहे पर बाइक सवार को पीटा

महानगर के क्वार्सी इलाके के किशनपुर तिराहे पर शनिवार की शाम को एक बाइक में कार सवार ने पीछे से टक्कर मार दी। बाइक सवार ने विरोध किया तो कार सवार ने खुद को एक माननीय का गनर बताते हुए युवक को पीट दिया।
रजत यादव निवासी धनीपुर किसी काम से किशनपुर, क्वार्सी जा रहा था। किशनपुर तिराहा, रामघाट रोड पर बाइक में कार सवार ने पीछे से टक्कर मार दी। इस पर दोनों में विवाद हो गया। कार सवार ने खुद को एक माननीय का गनर बताते हुए युवक को थप्पड़ मार दिया। इसकी जानकारी युवक ने बरौली विधायक ठा. दलवीर सिंह के नाती छात्रनेता अजय सिंह को दे दी। मौके पर पहुंच अजय ने कार सवार को क्वार्सी पुलिस से पकड़वा दिया। बाद में माननीय को गनर के थाने में पहुंचने की जानकारी हुई तो वह भी थाने पहुंच गए। दोनों पक्षों में आपसी सुलह कराने की कोशिश की गई। मगर, बाइक सवार ने गनर के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। इंस्पेक्टर क्वार्सी के समझौता न होने की सूरत में युवक की तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने नकली सिपाही दबोचा

महानगर के सिविल लाइंस इलाके के कठपुला पुल पर शनिवार को वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस टीम के हत्थे एक नकली सिपाही चढ़ गया। उसके पास से एक फर्जी आईकार्ड बरामद हुआ है। सिविल लाइंस पुलिस ने आरोपी को जेल भेज उसकी मोटर साइकिल को भी सीज कर दी है।
सीओ सिविल लाइंस अनिल समानिया ने बताया कि एसआई उमेश कुमार टीम के साथ कठपुला पुल पर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। तभी घंटाघर की ओर से आते एक मोटर साइकिल सवार को चेकिंग के लिए रोका गया। बाइक पर आगे पर पीछे पुलिस का लोगो लगा था। बाइक सवार मुन्ने खां पुत्र अलीशेर खां निवासी मुल्लापाड़ा, भुजपुरा, नगर कोतवाली ने खुद को यूपी पुलिस का सिपाही बताते हुए ऊपरकोट कोतवाली में तैनात बताया। साथ ही अपना आईकार्ड भी दिखाने लगा। एसआई को शक हुआ तो उसने कड़ाई से पूछताछ की। साथ ही कोतवाली पुलिस से भी तस्दीक की। कोतवाली पुलिस ने उक्त नाम के किसी भी सिपाही की तैनाती नहीं होने की पुष्टि की। इस पर टीम युवक को थाने पर ले आई। यहां पूछताछ में वह टूट गया। उसने बताया कि वाहन चेकिंग और टोल टैक्स पर बचने के लिए उसने फर्जी आईकार्ड बनवाया था। एक वर्दी में फोटो कराकर उस पर चस्पा किया ताकि किसी को शक न हो। युवक को सुसंगत धाराओं में पाबंद कर जेल भेज दिया है। गाड़ी सीज कर दी है।
... और पढ़ें

विकास प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में एक अरब का बजट पास

थाना सिविल लाइन पुलिस द्वारा पकड़ा गया खुद को पुलिस का सिपाही बताने वाला आरोपी।
विकास प्राधिकरण की 74वीं बोर्ड बैठक में एक अरब का बजट पास किया गया। कमिश्नर की अध्यक्षता में प्राधिकरण के लिए मुसीबत बनी स्वर्ण जयंती विस्तार परियोजना को मुक्त करने पर सहमति बनी। अब प्राधिकरण मय ब्याज आवंटियों को पैसा वापस करेगा। यही नहीं असदपुर कयाम की भूमि को भी छोड़ने पर सहमति बनी है। बजट में अधिकतम धनराशि ट्रांसपोर्ट नगर पर खर्च करने पर सहमति बनी है। कुल मिलाकर 13 प्रस्ताव पारित हुए। सबसे अहम निर्णय संपत्ति के दाम न बढ़ाना रहा। इस दौरान आगामी वित्तीय वर्ष के 268 करोड़ के प्रस्तावित आय और 168 के प्रस्तावित व्यय पर भी मुहर लगाई गई।
शनिवार को प्राधिकरण सभागार में कमिश्नर अजय दीप सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में वित्तीय वर्ष 2019-2020 का संशोधित बजट के अंतर्गत राजस्व प्राप्तियां 8004.75 लाख, पूंजीगत प्राप्तियां 17503 लाख, राजस्व व्यय 4579 लाख एवं पूंजीगत व्यय 12284 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की गयी। प्राधिकरण द्वारा संचालित आवासीय योजनाओं में पुनरीक्षित दरों को वर्ष 2018-19 में स्वीकृत दरों के अनुसार यथावत् रखे जाने का भी निर्णय लिया गया। कमिश्नर ने कहा कि प्राधिकरण से संबंधित विचाराधीन वादों में पैरवी हेतु नियुक्त अधिवक्ताओं की फीस में संशोधन गाजियाबाद, मेरठ एवं आगरा विकास प्राधिकरण के अनुरूप दरें निर्धारित की जाएं। उन्होंने ग्राम असदपुर क्याम के अंतर्गत प्राधिकरण द्वारा अर्जित 53.213 हेक्टेयर आवासीय योजना को छोड़ने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी। तर्क दिया गया कि यह परियोजना न्यायालय में विचाराधीन केसों के चलते प्राधिकरण के हित में नहीं है। कमिश्नर ने यह मामला शासन को भेजने को कहा। उन्होंने प्रधानमंत्री आवासीय योजना, शहरी के अंतर्गत बरौला जाफराबाद योजना में निर्माणाधीन भवनों के विचलन का प्रस्ताव अनुमोदित किया। इस दौरान आगामी वित्तीय वर्ष के 268 करोड़ के प्रस्तावित आय और 168 के प्रस्तावित व्यय पर भी मुहर लगाई गई।
एडीए अध्यक्ष ने औद्योगिक भूखंडों हेतु भू आच्छादन एवं तल क्षेत्रफल अनुपात समेत अन्य कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए आउट सोर्सिंग के माध्यम से कंप्यूटर ऑपरेटर एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी स्थानीय सरकारी एजेंसी के माध्यम से रखे जाने पर सहमति दी। उन्होंने तहसील कोल के ग्राम किशनपुर व स्वर्ण जयंती नगर विस्तार योजना के अंतर्गत 0.530 हेक्टेयर एवं 0.657 हेक्टेयर भूमि को अर्जन मुक्त किये जाने की स्वीकृति प्रदान की। प्राधिकरण सचिव डीएस भदौरिया ने बताया कि इस योजना में प्राधिकरण आवंटियों को मय ब्याज पैसा वापस करेगा। कमिश्नर ने तहसील कोल के ग्राम ल्हौसरा विसावन में ट्रांसपोर्ट नगर योजना की स्वीकृति के साथ एक माह के अंदर प्रथम फेज शुरू करने का निर्देश दिया। रामघाट रोड स्थित अवंतिका प्रथम योजना में एचआईजी भूखंड का भू उपयोग परिवर्तित किये जाने के संबंध में निर्धारित प्रक्रिया के अधीन स्वीकृति प्रदान की। इस मौके पर बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद रहे।
इन्हें मिली सैद्घांतिक सहमति
- तहसील कोल के ग्राम पड़ियावली अंतर्गत होटल निर्माण
- मथुरा बाईपास स्थित ग्राम अलहादपुर नीवरी के बारात घर
- तहसील कोल के ग्राम हरदासपुर में बनने वाले स्वीमिंग पूल
... और पढ़ें

यूपी: मधुमक्खियों से भरी 80 पेटियां लूटने वाला गिरोह गिरफ्तार

गंगीरी क्षेत्र के भदरोई में 10 अगस्त की रात एक बाग से मधुमक्खी पालक को बंधकर बनाकर नकदी और कई लाख रुपये कीमत की मधुमक्खियों से भरी 80 पेटियां लूटने वाले गिरोह को पुलिस ने शुक्रवार रात दबोच लिया। दबोचे गए गिरोह से लूटा गया माल तो बरामद हुआ ही है। साथ में पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गिरोह सरगना मुदित शर्मा ने हाथरस के एक प्रॉपटी डीलर की हत्या के लिए पांच लाख की सुपारी तय कर रखी थी। अगले सप्ताह हत्या को अंजाम दिया जाना था।

पुलिस ने दबोचे गए बदमाशों को जेल भेज दिया है। एक फरार बदमाश की तलाश जारी है। वहीं हाथरस के प्रापर्टी डीलर की सुपारी के संबंध में हाथरस पुलिस को अवगत करा दिया है। यह सुपारी हाथरस के ही दूसरे प्रापर्टी डीलर द्वारा दी गई थी।

एसपी देहात मणिलाल पाटीदार ने शनिवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता में बताया किया कि शुक्रवार रात गंगीरी पुलिस और एसओजी ने सूचना के आधार पर चितरासी बंबा पर घेराबंदी कर एक बुलेरो पिकअप कार में सवार पांच लोगों को मुठभेड़ के बाद दबोच लिया। इस दौरान एक बदमाश फरार हो गया। पकड़े गए गिरोह का सरगना मुदित शर्मा उर्फ लकी पुत्र अरविंद शर्मा निवासी मानसरोवर कालोनी, पन्नी नगर, कोतवाली बुलंदशहर है।

हाल में यह बन्नादेवी इलाके में रह रहा था। पूछताछ में इसने मधुमक्खी पालक को लूटने की बात कुबूल की। गिरोह के कब्जे से चार तमंचे, कारतूस, लूटी गई 78 मधुमक्खियों से भरे बॉक्स, एक बुलेरो पिकअप बरामद की है।

मुदित सहित अन्य पांच बदमाशों के खिलाफ 29 मुकदमे दर्ज हैं। मुदित के खिलाफ रेप, हत्या जैसे संगीन आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। फरार बदमाश दिनेश की तलाश में दबिश दी जा रही है। सभी के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें

शर्मनाक:  टीबी पीड़िता किशोरी को इंजेक्शन लगा स्वास्थ्य कर्मी ने किया दुष्कर्म

सरकारी एमडीटीबी अस्पताल में एक शर्मनाक घटना सामने आई है। अस्पताल के एक कर्मी ने एक अन्य कर्मचारी के सहयोग से अस्पताल में भर्ती टीबी की बीमारी से पीड़ित किशोरी को पहले बेहोशी का इंजेक्शन लगाया और उसके बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। उसने इस घटना को अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक के ऑफिस में अंजाम दिया। होश आने पर पीड़िता ने इस बारे में अपनी मां को जानकारी दी।

ये भी पढ़ें- 
बेटे से रेती खोई तो मां को जलाकर मारा, सास-ससुर के खिलाफ मामला दर्ज

शनिवार की सुबह कोतवाली हाथरस गेट में शिकायत की गई। पुलिस ने इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर दोनों आरोपियों शिवनंदन और विशाल को गिरफ्तार कर लिया। पीड़िता का चिकित्सकीय परीक्षण कराया गया है। इधर, सीएमओ डॉ. बृजेश राठौर ने आरोपी स्वास्थ्य कर्मी शिवनंदन को निलंबित कर दिया है।

बागला संयुक्त जिला अस्पताल परिसर में ही एमडीटीबी अस्पताल है। तीस शैय्या का यह अस्पताल भी सरकारी है। यहां टीबी के मरीजों का उपचार होता है। गंभीर मरीज यहां दाखिल भी किए जाते हैं। इस जिले के ही थाना चंदपा क्षेत्र के एक गांव की 17 वर्षीय किशोरी भी क्षय रोग से पीड़ित है। उसका भी इस अस्पताल में उपचार चल रहा है। दो दिन पहले जब उसकी हालत बिगड़ी तो परिजन उसे इस अस्पताल में ले आए। उसे इस अस्पताल में दाखिल कर लिया गया। पूर्व में भी वह इस अस्पताल में भर्ती रह चुकी है।

शुकवार की रात्रि में इस अस्पताल में वार्ड बॉय के रूप में शिवनंदन की ड्यूटी थी। उसके साथ एक सफाई कर्मचारी विशाल भी था। जानकारों की मानें तो विशाल एक एजेंसी का कर्मचारी है, जो अस्पताल से संबद्ध है। शुक्रवार को किशोरी की देखरेख में उसकी मां उसके साथ मौजूद थी।

आरोप है कि दोनों जब सो रहे थे तो रात्रि 11 बजे के लगभग शिवनंदन वहां आया और किशोरी से यह बोला कि उसके इंजेक्शन लगेगा। अस्पताल के वार्ड में और भी मरीज भर्ती थे। उसने अलमारी खोली और किशोरी से यह बोला कि यहां इंजेक्शन खत्म हो गए हैं। वह उसके साथ नीचे चले। यह कहकर वह किशोरी को नीचे ले आया।
... और पढ़ें

सराय रहमान में भीड़ ने तीन कथित बच्चा चोरों को पकड़ा

बन्नादेवी के सराय रहमान में शनिवार को भीड़ ने तीन कथित बच्चा चोरों को बच्चा चोरी की अफवाह पर पकड़ लिया। भीड़ का आरोप है कि यह लोग पड़ोसी के एक दो साल के बेटे को चुराकर ले जा रहे थे। तीनों को मारपीट कर भीड़ ने पुलिस के हवाले कर दिया है। बालक के पिता ने तीनों के खिलाफ तहरीर दी है।
वाकया दोपहर ढाई बजे करीब का है। सराय रहमान निवासी गुलशन का दो साल का बेटा अली मुमताज घर से निकल 50 मीटर दूर स्थित अपने पिता की स्टेशनरी की दुकान पर पैसे लेन पहुंच गया। पिता ने पैसे देकर बालक को वापस घर भेजा तो कथित तौर पर उसे एक किशोर व दो युवकों ने खिलाने के बहाने गोद में ले लिया। इसके बाद उसे लेकर चलने लगे। इलाके के लोगों ने अनजान लोगों के हाथ में बच्चे को देख शक जताया और तीनों को पकड़ लिया। बालक के पिता बुला लिया। मौके पर भीड़ जमा हो गई। भीड़ ने पुलिस को सूचना दे दी। इधर, कुछ लोगों ने पुलिस के पहुंचने से पहले तीनों को धुन दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस तीनों को साथ ले आई। बालक के पिता गुलशन के अनुसार पुलिस को तीनों के खिलाफ तहरीर दे दी है। इंस्पेक्टर बन्नादेवी रविंद्र कुमार दुबे के अनुसार तीनों से पूछताछ जारी है। हिरासत में लिए तीनों आरोपियों के नाम और पते की पुष्टि कराई जा रही है। तफ्तीश में स्थिति साफ होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

जेल में जन्मे 'कान्हा' को नहीं मिली 'नंद' के घर शरण, भावुक करने वाला है यह मामला

अलीगढ़ की जिला जेल में निरुद्ध महिला बंदी के नवजात बेटे को पालने के लिए आगरा के राजकीय शिशु गृह में भेजा गया, लेकिन शिशु गृह ने उसे अपने यहां शरण देने से मना कर दिया। शिशु गृह के अधिकारियों का कहना है कि बालक अनाथ नहीं है, उसकी मां जिंदा है। इस कारण बालक को यहां नहीं रखा जा सकता। 

जेल में निरुद्ध सात दिन के नवजात की मां पर अपहरण का आरोप है। उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। उसे बनारस के मानसिक आरोग्यशाला में भेजने की तैयारी हो रही थी, लेकिन बच्चे के वापस लौट आने के चलते इस प्रक्रिया को भी रोक दिया गया है। 

इससे पहले जेल प्रशासन ने आगरा और बनारस स्थित दोनों संस्थानों के प्रमुखों को शुक्रवार को पत्र लिखा था। कृष्ण जन्माष्टमी पर हुए इस घटनाक्रम को लेकर जेल प्रशासन के साथ साथ अन्य बंदियों में भी चर्चा है। 
... और पढ़ें

यूपी: बहाने से बुलाकर ले गया था प्रेमी, दूसरे दिन खेत में मिली लाश

नगर के मोहल्ला नगाइचपाड़ा में प्रेम प्रसंग के चलते एक युवती की उसके प्रेमी ने अपने साथी के सहयोग से गोली मारकर हत्या कर दी। युवती की शादी की बात अन्य जगह चलने व उसके परिजनों की बंदिश से वह नाराज था। युवती गुरुवार शाम से लापता थी।

ये भी पढ़ें- 
गोरखपुर: चेकिंग के बहाने फर्जी पुलिस वालों ने लूट लिए महिला के गहने

शुक्रवार दोपहर उसका शव बाजरा के खेत में पड़ा मिला। दोनों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। देर शाम एसपी देहात मणिलाल पाटीदार ने गिरफ्तारी के बाद दोनों अभियुक्तों को प्रेस कांफ्रेंस में पेश कर बताया कि हत्या में इस्तेमाल तमंचा भी बरामद कर लिया गया है। 

नगाइचपाड़ा निवासी दिनेश कुमार की चार साल पहले मृत्यु हो चुकी है। उनकी पत्नी सुनीता देवी अपनी बेटी शालू, प्रीति, सत्यम, दिव्यांश व काजल को साथ लेकर दिल्ली में रह कर सिलाई कढ़ाई का कार्य करतीं थीं। इस कार्य में शालू व प्रीति भी उनका हाथ बंटाती थीं। रक्षाबंधन पर पूरा परिवार अतरौली आया था।

सुनीता देवी को नगर पालिका की ओर से प्रधानमंत्री आवास योजना में धनराशि मिली है। आवास निर्माण कराने के लिए वह यहां रुकी हुई थीं। बुधवार को सुनीता देवी बेटी शालू (18) को लेकर सिलाई-कढ़ाई के कार्य का भुगतान लेने दिल्ली गई थीं। गुरुवार शाम चार बजे मां-बेटी दिल्ली से लौटी थीं।

सुनीता ने बताया कि मोहल्ले का अजय पुत्र कलक्टर व राधे उर्फ रामवतार पुत्र मलखान निवासी सूरतगढ़ शाम करीब आठ बजे उनके घर आए। दोनों शालू को बहाने से अपने साथ ले गए। देर रात तक शालू जब घर नहीं लौटी तो खोजबीन की, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला।

शुक्रवार सुबह मोहल्ले के ही राजवीर सिंह नंबरदार अपने खेत में बाजरा की फसल में निराई करने गए तो शालू की लाश उनकी चीख निकल गई। सूचना मिलने पर चेयरमैन पवन वर्मा व कोतवाली पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree