विज्ञापन
विज्ञापन
कुंडली के यह योग दिलाते है राजयोग, फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें क्या आपकी कुंडली में है यह योग ?
Kundali

कुंडली के यह योग दिलाते है राजयोग, फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें क्या आपकी कुंडली में है यह योग ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

अलीगढ़ : तीन अध्यादेशों के विरोध में नोएडा-दिल्ली बार्डर पर डटे अलीगढ़ के किसान

किसान विरोधी तीन अध्यादेशों के विरोध में 32 किसान संगठनों के दिल्ली जाम कार्यक्रम के तहत अलीगढ़ के भारतीय किसान यूनियन भानु के कार्यकर्ता लगातार दूसरे दिन भी दिल्ली नोएडा बार्डर पर डटे रहे। उन्होंने ऐलान किया कि जब तक बिलों में परिवर्तन नहीं किया जाता है तब तक धरना जारी रहेगा।

भारतीय किसान यूनियन किसान भानु द्वारा किसानों की माँग को लेकर नोएडा दिल्ली बॉर्डर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष ठा भानु प्रताप सिंह के नेतृत्व में अनिश्चितकालीन धरना दिया जा रहा है। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष योगेश प्रताप सिंह ने मांग की कि जब तक न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों के अनाज खरीदने को कानूनी रूप नहीं दिया जाएगा एवं किसान विरोधी तीनों बिलो मैं परिवर्तन नहीं किया जाएगा तब तक धरना जारी रहेगा। प्रदेश महासचिव डॉ. शैलेंद्र पाल सिंह ने कहा अब केंद्र सरकार से लड़ाई का शंख बज चुका है। जब तक किसान आयोग का गठन नहीं किया जाएगा।

आयोग में कृषि वैज्ञानिक एवं किसान ही उसके सदस्य होंगे और कोई राजनेता उसका सदस्य नहीं होना चाहिए एवं जब तक स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू नहीं किया जाएगा हम इस बॉर्डर से नहीं हटेंगे। दिल्ली नोएडा बार्डर पर हजारों की संख्या में किसान भाई दिल्ली की ओर जाने वाले रास्ते को घेर कर आंदोलन जारी रखे हुए हैं। इस दौरान राष्ट्रीय महासचिव प्रेमपाल सिंह चौहान, प्रदेश उपाध्यक्ष एस के सिंह राना, प्रदेश संगठन मंत्री श्रवण कुमार बघेल, प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक सिंह, मानवेंद्र सिंह, शुभेंदु सिंह एवं शुभम शर्मा सहित अलीगढ़ के सैकड़ों किसानों के साथ साथ विभिन्न राज्यों से हजारों किसान उपस्थित रहे।

किसानों का आक्रोश भड़का तो सरकार को पड़ जाएंगे लेने के देने
भारतीय किसान सेना के जिलाध्यक्ष नौशाद आलम ने कहा है कि सरकार द्वारा जन विरोधी बिल पास किए जाने के विरोध मे जिस प्रकार से देश ओर प्रदेश के किसानों में आक्रोश है। अगर केंद्र सरकार तुरंत तीनों अध्यादेश वापस नहीं लेती तो भाकियू किसान सेना देश के सभी संगठनों के साथ मिल कर केंद्र सरकार कि ईंट से ईंट बजा देंगे। उन्होंने सरकार को अध्यादेश वापस लेने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो चार दिसंबर को संगठन के पदाधिकारी व कार्यकर्ता गाजियाबाद के लिए कूंच करेंगे और अन्य संगठनों के साथ मिलकर आंदोलन को धार देंगे।

किसान आंदोलन के समर्थन में आया राष्ट्रीय लोकदल
राष्ट्रीय लोकदल ने किसान विरोधी तीन अध्यादेशों के विरोध में दिल्ली में किसान संगठनों के आंदोलन को समर्थन देने का एलान किया है। बुधवार को पार्टी पदाधिकारियों ने राजा महेंद्र प्रताप सिंह पार्क में एकत्र होकर दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में किसान बिल की तत्काल वापसी को लेकर एसीएम द्वितीय को राष्ट्रपति को संबोधित 3 सूत्री मांगों से संबंधितज्ञापन सौंपा।

जिला अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने कहा कि सरकार को किसान विरोधी बिल तत्काल वापस लेने की आवश्यकता है। यह बिल किसानों के तमाम हितों पर डाका डालता है। कोरोना महामारी के समय में भी सरकार द्वारा ऐसा बिल पारित करना सरकार की गलत नीयत को दर्शाता है। किसान बहुत तंग व परेशान है और इन परेशानियों के चलते वह सड़क पर आकर धरना प्रदर्शन कर रहा है। सरकार शांतिपूर्वक धरना देते लाचार और मजबूर किसानों के ऊपर भयंकर ठंड में पानी की बौछार आंसू गैस के गोले दाग रही है।

राष्ट्रीय लोक दल मांग करता है कि सरकार को तत्काल इस अध्यादेश को समाप्त कर किसानों की मांगों को मांग कर देश में शांति बहाली करनी चाहिए। किसानों का शोषण और उन पर अत्याचार को तत्काल रुप से बंद करना चाहिए। ऐसा न होने पर राष्ट्रीय लोक दल भी आंदोलन करने को बाध्य होगा। इस मौके पर प्रतीक चौधरी एड, अशोक कुमार वाल्मीकि, केपी सिंह, फूल सिंह धनगर, दिनेश, विनोद करन, सुमन दिवाकर, भगवान सिंह, मोहम्मद इरफान, कुमरपाल सिंह, विजय किशोर, रन सिंह, देवेंद्र सिंह फौजदार, सनी चौधरी, सुनीता मलिक, मीनू गुप्ता आदि लोग उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान सुदामापुरी में विरोध

नगर निगम एवं अलीगढ़ विकास प्राधिकरण द्वारा सुदामापुरी में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। इस दौरान कुछ व्यापारियों ने विरोध किया।
नाले पर अतिक्रमण के कारण कई क्षेत्रों में जल निकासी बाधित हो गई है। यातायात व्यवस्था भी प्रभावित होती है। बृहस्पतिवार को नगर निगम एवं एडीए द्वारा सुदामापुरी में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। अतिक्रमण कर नाले पर डाले गए स्लैब को जेसीबी के माध्यम से हटा दिया गया। स्लैब तोड़े जाने से नाराज कुछ दुकानदारों ने अभियान का विरोध किया। कुछ दुकानदार वक्त मांग रहे थे। हालांकि अधिकारियों ने समझाकर मामला शांत कराया।
एडीए के उपाध्यक्ष एवं नगर आयुक्त प्रेमरंजन सिंह ने कहा कि नाले और सड़क आम नागरिक की सुविधा के लिए है। इन पर अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। नगर निगम और अलीगढ़ विकास प्राधिकरण की संयुक्त टीमेें अतिक्रमण करने वाले लोगों को चिह्नित कर रही हैं। स्वयं अतिक्रमण हटा लें अन्यथा बलपूर्वक ध्वस्त करा दिया जाएगा। हर्जा खर्चा भी वसूला जाएगा। अभियान के दौरान प्रवर्तन दल प्रभारी कर्नल निशीथ सिंघल, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय कुमार राय, राजेश कुमार, एडीए के सहायक अभियंता केदार राम, मनोज शर्मा आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

गणेश शंकर विद्यार्थी के पास लगेगी अटल की मूर्ति

सेंटर प्वाइंट से गणेश शंकर विद्यार्थी की मूर्ति नहीं हटेगी। गणेश शंकर विद्यार्थी के पास ही अटल बिहारी वाजपेयी की मूर्ति लगेगी। पूर्व प्रधानमंत्री की मूर्ति लगने के बाद सेंटर प्वाइंट का नाम बदलकर अटल चौक किया जाएगा।
नगर आयुक्त प्रेम रंजन सिंह ने बृहस्पतिवार को सेंटर प्वाइंट का निरीक्षण किया और अटल चौक का काम शुरू करने का निर्देश दिया। पूर्व नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल के समय में सेंटर प्वाइंट से गणेश शंकर विद्यार्थी की मूर्ति हटाकर दूसरे स्थान पर लगाने की चर्चा हुई थी। इसका विरोध हुआ था। नए नगर आयुक्त प्रेमरंजन सिंह ने शहर विधान सभा क्षेत्र के विधायक संजीव राजा, कोल विधान सभा क्षेत्र के विधायक अनिल पाराशर एवं व्यापारियों से बातचीत कर बीच का रास्ता निकाल लिया है।
किसी को एतराज भी नहीं है। नगर आयुक्त प्रेम रंजन सिंह ने बताया कि गणेश शंकर विद्यार्थी की मूर्ति अपने स्थान पर लगी रहेगी। वहीं पर पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की मूर्ति लगेगी। मूर्ति लगने के बाद सेंटर प्वाइंट पर अटल चौक का बोर्ड लग जाएगा। उन्होंने बताया कि वह काम इस तरह कराना चाहते हैं कि सेंटर प्वाइंट का कारोबार किसी भी तरह प्रभावित न हो और काम हो जाए।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर ने किया महिला एसपीओ से दुष्कर्म, निलंबित

पुलिस की क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर राकेश यादव पर दुष्कर्म का आरोप लगा है। सासनी गेट थाने की महिला एसपीओ (विशेष पुलिस अधिकारी) को दहेज उत्पीड़न से जुड़े मुकदमे की विवेचना के नाम पर रामघाट रोड के होटल में बुलाकर यह कृत्य किया। इसके बाद वह महिला को ब्लैकमेल करने लगा। मगर, मुकदमे में मदद नहीं मिली तो वह शिकायत करने एसएसपी के सामने पहुंच गई। शिकायत के साथ बतौर साक्ष्य बातचीत के ऑडियो भी पेश किए। इस पर एसएसपी ने इंस्पेक्टर को तत्काल निलंबित करते हुए मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। इसके बाद क्वार्सी थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

सासनी गेट की अनुसूचित जाति की महिला एसपीओ के अनुसार, उसके परिवार की युवती का दहेज उत्पीड़न का मुकदमा वर्ष 2018 से सासनी गेट में दर्ज है। इसकी विवेचना क्राइम ब्रांच में तैनात निरीक्षक राकेश यादव द्वारा की जा रही है। वाकया 29 अक्तूबर की दोपहर करीब साढ़े तीन बजे का है। निरीक्षक ने उसे रामघाट रोड के एक होटल के कमरा नंबर 102 में कागज दिखाने के बहाने बुलाया। 

इस दौरान उसके साथ दुष्कर्म किया और धमकी दी कि अगर किसी को बताया तो मुकदमे में कोई कार्रवाई नहीं होगी। मजबूरी में उसने चुप्पी साध ली और इंस्पेक्टर इसका फायदा उठाते हुए उससे फोन पर अश्लील बातें करने लगा। आए दिन उसी होटल में बुलाकर अश्लील हरकत करता। मगर मुकदमे में कोई मदद नहीं की तो महिला ने दो दिन पहले एसएसपी से शिकायत की और बताया कि एक दिसंबर को थाना सासनी गेट थाने के सामने बुलाकर उसे धमकाया भी गया है। साथ में अश्लील बातचीत के ऑडियो दिए। इसके आधार पर क्वार्सी थाने में दुष्कर्म, छेड़खानी, एससीएसटी एक्ट आदि धाराओं में क्राइम ब्रांच निरीक्षक राकेश यादव मूल निवासी बेहंता मैनपुरी हाल निवासी आगरा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। साथ में इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है। 

सासनी गेट के एक दहेज उत्पीड़न के मुकदमे की विवेचना कर रहे क्राइम ब्रांच निरीक्षक राकेश यादव पर दुष्कर्म व फोन पर आपत्तिजनक बातचीत का आरोप लगा है। निलंबन के साथ मुकदमा दर्ज किया गया है। बाकी जांच जारी है। महिला के बयान व जांच के आधार पर आगे कार्रवाई होगी। इंस्पेक्टर शिकायत की जानकारी होने के बाद से ही फरार है। उसकी तलाश कराई जा रही है।-मुनिराज जी एसएसपी

तत्कालीन महिला इंस्पेक्टर पर भी लगाया था आरोप
इस महिला एसपीओ का मुकदमा जिस वक्त सासनी गेट थाने में दर्ज हुआ था। उस वक्त यहां एक महिला इंस्पेक्टर तैनात थीं। उनके यहां से दूसरे थाने चले जाने के बाद इस महिला एसपीओ ने उन पर भी आरोप लगाया था, जिसकी शिकायत अधिकारियों से की थी। महिला इंस्पेक्टर पर आरोप था कि मुकदमे में मदद के नाम पर उन्होंने घर में काम कराया है और फिर दुर्व्यवहार भी किया है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

बिना शर्त आए हैं, टिकट कहां से मिलेगी, इसका कोई मतलब नहीं : जमीरउल्लाह

पूर्व सांसद चौधरी बिजेंद्र सिंह और पूर्व विधायक जमीरउल्लाह का बृहस्पतिवार को समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर जोरदार स्वागत हुआ। जिलाध्यक्ष की मौजूदगी में दोनों नेताओं में पार्टी में आस्था जताई। इससे पहले पूर्व विधायक जमीरउल्लाह मुंबई से ट्रेन से मथुरा पहुंचे। मथुरा से अलीगढ़ के रास्ते में बेसवां इगलास आदि स्थानों पर स्वागत हुआ। शहर में सासनी गेट, सिविल लाइन, दोदपुर, केला नगर, रामघाट रोड, क्वारसी चौराहे आदि पर कार्यकर्ताओं में स्वागत किया।
कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में पूर्व सांसद चौधरी बिजेंद्र सिंह ने कहा कि अपने पूरे 36 वर्षों के राजनीतिक तजुर्बे का लाभ समाजवादी पार्टी को मजबूत करने में लगाएंगे। 2022 में सभी सीटों पर समाजवादी पार्टी को विजयी बनाने के लिए काम करेंगे और खासतौर से इगलास विधानसभा क्षेत्र में वह समाजवादी पार्टी को मजबूत करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में चापलूसों और गद्दारों का दबदबा हो गया है, इसलिए पार्टी की स्थिति में लगातार गिरावट आ रही है।
पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्लाह ने कहा कि वह बिना शर्त के समाजवादी पार्टी में वापस आए हैं। सिर्फ एक मकसद है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाना है और फिर प्रधानमंत्री। जो लोग कह रहे हैं कि टिकट कहां से मिलेगी या टिकट के लिए दावेदारी कहां से होगी? अब इन सब बातों का कोई मतलब नहीं है। यह सब बातें पुरानी हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि वह लोग भी पार्टी में शामिल हुए हैं, जिनकी उसी विधानसभा क्षेत्र से दावेदारी है, जिससे वह विधायक रह चुके हैं तो इन बातों का कोई अर्थ नहीं है।
पूर्व महानगर अध्यक्ष अज्जू इसहाक, सगीर रोशनी, शान मियां, जस्सू शेरवानी, एमए खान गांधी, यूनुस मलिक, यामीन पार्षद, पार्षद असलम नूर, पार्षद अफजाल हमीद, हाफिज, सोहेल राइन, आस मोहम्मद आशु, पार्षद अकरम, कपिल शर्मा, ममता चौहान आदि मौजूद थे।
अपमान नहीं भूलेगा ब्राह्मण समाज, 2022 में जवाब देगा : रत्नाकर पांडे
अलीगढ़। समाजवादी पार्टी के नेता रत्नाकर पांडे ने कहा कि ब्राह्मण समुदाय का मौजूदा सरकार में दमन किया जा रहा है। यह अपमान ब्राह्मण समुदाय नहीं भूलेगा और 2022 में विधानसभा चुनाव में अपने वोट के माध्यम से इस बात का जवाब देगा। वर्तमान सत्ता नेतृत्व यह दावा करता है कि अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई बिना किसी भेदभाव के की जा रही है। लेकिन आंकड़े बताते हैं कि किस को निशाना बनाया जा रहा है और किस पर इनायत बरती जा रही है।
जफर आलम और राकेश सिंह के गैर मौजूद रहने पर उठे सवाल
कार्यक्रम के दौरान पूर्व विधायक जफर आलम और ठाकुर राकेश सिंह के मौजूद न होने को लेकर सवाल उठे। इस पर जिला अध्यक्ष गिरीश यादव ने कहा कि विधान परिषद चुनाव में मतगणना का कार्य चल रहा है। इस चुनाव में सभी लोगों को कुछ न जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं। दोनों ही पूर्व विधायक पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता हैं। इनको मतगणना कार्य के लिए जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिसके चलते ये समारोह में उपस्थित नहीं हो पाए हैं। इसके अलावा और कोई भी कारण नहीं है।
स्वागत रैली में कोविड प्रोटोकॉल उल्लंघन
मथुरा से लेकर अलीगढ़ और अलीगढ़ में विभिन्न स्थानों से लेकर समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय तक जगह-जगह हुए स्वागत और जुलूस के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन हुआ। इस पर पूर्व विधायक जमीरउल्लाह ने कहा कि हमने न कोई रैली की है और न किसी रैली के लिए अनुमति मांगी थी। वह मुंबई से मथुरा और फिर मथुरा से अलीगढ़ आ रहे थे। जनता को इस बात का पता लग गया और बीच-बीच में उन्होंने स्वागत कर दिया। पहले से कुछ भी तय नहीं था।
पूर्व सांसद बिजेंद्र सिंह, कपिल शर्मा के सपा में आने पर स्वागत करते जिलाध्यक्ष गिरीश यादव।
पूर्व सांसद बिजेंद्र सिंह, कपिल शर्मा के सपा में आने पर स्वागत करते जिलाध्यक्ष गिरीश यादव।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

दूल्हे के बहनोई ने कहा- खाने में नहीं है स्वाद, दुल्हन के भाई से हो गई लड़ाई, फिर पहुंची पुलिस...

अलीगढ़ के जवां क्षेत्र के गांव सिकंदरपुर कोटा में खाने के स्वाद को लेकर हुए विवाद ने ऐसा तूल पकड़ा कि बरात बिना दुल्हन के ही वापस लौट गई। इस दौरान दूल्हे के बहनोई ने खाना बेस्वाद होने का मुद्दा उठाया था जिसे लेकर विवाद बढऩे पर मारपीट तक हो गई थी और पुलिस को भी पहुंचना पड़ गया। इसके बाद जो बात बिगड़ी फिर नहीं बनी। दूल्हा पक्ष खाने के खर्च के रुपये देकर बिना दुल्हन के बरात वापस ले गया।

बुलंदशहर के खुर्जा से बुधवार को गांव सिकंदरपुर कोटा में बरात आई थी। मध्य रात्रि शादी की तमाम रस्में पूरी हो चुकी थीं। बराती डीजे पर डांस कर रहे थे। तभी दूल्हे के बहनोई ने खाने पर सवाल खड़ा करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे पर डीजे तक बंद कर दिया गया। तमाम रिश्तेदार बहनोई को समझाने लगे। दुल्हन का भाई भी उन्हें समझाने लगा। मगर बात बनने के बजाय बिगड़ने लगी और मारपीट तक हो गई। बस इसी बात पर बखेड़ा खड़ा हो गया और पुलिस को फोन कर दिया गया।

इस सूचना पर तत्काल पुलिस भी वहां पहुंच गई। पुलिस के पहुंचने पर भी विवाद शांत न हुआ तो दूल्हा, दूल्हा के बहनोई व दुल्हन के भाई को थाने ले जाया गया। बाद में परिवार व गांव के संभ्रांत लोग थाने पहुंच गए। जहां शादी की औपचारिकताएं पूरी कराने के लिए सलह का प्रयास किया गया। मगर काफी प्रयास के बाद भी बात नहीं बनी।

यहां दोनों पक्षों में इसी बात पर सहमति बनी कि अब शादी नहीं होनी है। इस पर दुल्हा पक्ष दावत में हुए खर्च को वापस किया। तब जाकर बात बनी और फिर बिना दुल्हन के ही बारात लौट गई। एसओ जवां अभय शर्मा ने इस विवाद की पुष्टि करते हुए बताया कि दोनों पक्षों की ओर से एक दूसरे पर कोई कार्रवाई नहीं करने का समझौता शादी टूटने पर ही बना। समझौता होने पर दोनों पक्षों को छोड़ा गया।
... और पढ़ें

गोशाला का 48 लाख का अनुदान लटकाने पर फंसीं तत्कालीन एसडीएम खैर

आशीष श्रीवास्तव
खैर की तत्कालीन एसडीएम अंजुम बी जट्टारी की पंजीकृत गोशाला का 48 लाख रुपए का अनुदान लटकाने के मामले में फंस गई हैं। जांच में दोषी पाए जाने पर कमिश्नर ने शासन को रिपोर्ट भेजते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति कर दी है। इस मामले में शहर विधायक संजीव राजा व कोल विधायक अनिल पाराशर ने मुख्यमंत्री से शिकायत की थी। मुख्यमंत्री कार्यालय से कमिश्नर को जांच कराने के आदेश दिए गए थे।
जट्टारी में श्री श्याम पुरुषोत्तम गोशाला समिति के नाम से पंजीकृत गोशाला है। इसमें करीब 600 गोवंश हैं। संचालक शिवदत्त शर्मा ने बताया कि इन गोवंश के चारे पानी समेत अन्य व्यवस्थाओं पर हर माह करीब सात लाख रुपये का खर्च आता है। गोशाला के 48 लाख के अनुदान की फाइल कई माह से लटकी थी। इस साल उन्होंने 23 मार्च को सारी औपचारिकता पूर्ण कराने के बाद फाइल भुगतान के लिए तत्कालीन एसडीएम खैर अंजुम बी के समक्ष प्रस्तुत की। लेकिन एसडीएम कोरोना महामारी की आड़ में भुगतान से कतराती रहीं। इसके चलते फाइल जून 2020 तक लटकी रही। 16 जुलाई को उन्होंने फाइल वापस की। तब तक भुगतान की अवधि खत्म हो चुकी थी।
विधायक शहर व कोल की भी नहीं सुनी
अलीगढ़। संचालक शिवदत्त शर्मा ने बताया कि भुगतान न होने पर उन्होंने विधायक शहर संजीव राजा और विधायक कोल अनिल पाराशर से शिकायत की। अन्य वरिष्ठ नेताओं तक भी मामला पहुंचाया। दोनों विधायकों ने एसडीएम से बात भी की, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया।
मुख्यमंत्री से की शिकायत
अलीगढ़। विधायक कोल अनिल पाराशर ने बताया कि उन्होंने इस मामले में मुख्यमंत्री से शिकायत की थी। वहां से कमिश्नर को जांच के आदेश किए गए।
पंजीकृत श्री श्याम पुरुषोत्तम गोशाला समिति जट्टारी गोशाला का भुगतान लटकाने के मामले में शासन से तत्कालीन एसडीएम खैर अंजुम बी के खिलाफ जांच के निर्देश आए थे। जांच में वे बेवजह भुगतान की फाइल लटकाने की दोषी पाई गई हैं। उनके खिलाफ शासन को रिपोर्ट भेज दी गई है।
- जीएस प्रियदर्शी, कमिश्नर अलीगढ़ मंडल
... और पढ़ें

एमएलसी चुनाव: जैन पीछे खिसके, मानवेंद्र के परिणाम का इंतजार

विधान परिषद के आगरा खंड स्नातक एवं शिक्षक चुनाव पर शहरवासियों की निगाहें टिकी हैं। शिक्षक निर्वाचन में लगातार चार बार के विधायक जगवीर किशोर जैन के पीछे चलने की खबर सुनकर उनके प्रशंसक हैरान हैं। वहीं, स्नातक सीट पर भाजपा के स्थानीय प्रत्याशी मानवेंद्र प्रताप सिंह को लेकर लोग देर रात तक अपडेट लेते रहे। मगर, कोई सूचना नहीं मिल पा रही थी।
शिक्षक निर्वाचन की मतगणना दिन में शुरू हो गई। भाजपा जिलाध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह एवं महानगर अध्यक्ष डॉ. विवेक सारस्वत ने बताया कि शिक्षक चुनाव में भाजपा प्रत्याशी डॉ. दिनेश वशिष्ठ और निर्दल प्रत्याशी आकाश अग्रवाल के बीच मुकाबला बना हुआ है। देर रात तक परिणाम जारी होने की उम्मीद थी। देर शाम तक दोनों नेताओं के अनुसार, दिनेश कुछ मतों से आगे थे। मगर देर रात समाचार लिखे जाने के समय तक आकाश आगे आ गए थे और भाजपा के दिनेश पीछे हो गए।
यह खबर सुनकर भाजपाई हैरान थे। वहीं, इस सीट पर अलीगढ़ के ही दिग्गज शिक्षक नेता जगवीर किशोर जैन लगातार चार बार से काबिज हैं। उनके तीसरे स्थान पर होने की खबर सभी को हैरान कर रही थी। देर रात तक लोग आगरा फोन कर चुनाव परिणाम की जानकारी हासिल करने का प्रयास करते रहे। स्नातक चुनाव का बंडल बन कर तैयार हो गए थे। उसकी गिनती रात में शुरू होने की उम्मीद है। स्नातक निर्वाचन के प्रत्याशी डॉ. मानवेंद्र प्रताप सिंह भी अलीगढ़ के निवासी है। उनके चुनाव परिणाम को लेकर भी लोगों में जिज्ञासा बनी हुई है।
... और पढ़ें

कोरोना की गाइड लाइन का उल्लंघन करने पर बिजेंद्र, जमीर, अज्जू सहित तमाम सपाइयों पर मुकदमा दर्ज

सपा में शामिल होने के बाद बृहस्पतिवार को सपाइयों के स्वागत और शहर में जुलूस निकाले जाने को लेकर पुलिस ने इसे कोविड-19 गाइडलाइन का उल्लंघन माना है। इसे लेकर पूर्व विधायक जमीरउल्लाह, पूर्व सांसद चौ.बिजेंद्र सिंह, पूर्व महानगर अध्यक्ष अज्जू इशहाक सहित तमाम सपाइयों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मुकदमा क्वार्सी थाने में लिखा गया है।
इंस्पेक्टर क्वार्सी छोटेलाल के अनुसार कोविड काल में बिना अनुमति जुलूस निकालने और स्वागत के दौरान न तो सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया और न कोरोना गाइड लाइन का ध्यान रखा गया। इसे लेकर निषेधाज्ञा उल्लंघन, महामारी अधिनियम के तहत पूर्व विधायक जमीरउल्लाह, पूर्व सांसद चौ.बिजेंद्र सिंह, सपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष अज्जू इशहाक, गुलिस्ताना, संजू, आशू, बबलू होल्कर, राशिद, संतोष यादव, शेर मोहम्मद, प्रवेश यादव, सरताज, हिमांशु रावत, उमेश, आदित्य जुनूनी, जैकी ठाकुर, इसरार, अफजाल पार्षद सहित 31 नामजद व अन्य अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया गया है। कोरोना पुलिस नोडल एसपी क्राइम डॉ. अरविंद के अनुसार इनके द्वारा जहां से जुलूस निकाला गया है, वहां से लेकर क्वार्सी तक की गतिविधियों की जानकारी की जा रही है। कहीं और भी यह तथ्य सामने आएगा तो वहां भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
... और पढ़ें

हाथरस कांड: आरोपियों के परिजन बोले- हमें नहीं मालूम कि कहां हैं हमारे बच्चे, कोई संपर्क नहीं हुआ

कोल विधायक सहित 21 लोग कोरोना संक्रमित

कोल विधान सभा क्षेत्र के विधायक अनिल पाराशर और दो चिकित्सक सहित 21 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। वहीं, 25 लोग कोरोना को पराजित कर अस्पताल से घर पहुंच गए हैं। जनपद में 344 संक्रमित मरीज हो गए हैं। अब तक संक्रमितों की संख्या 10688 और स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 10296 तक पहुंच गई है। 3.49 लाख लोगों की अब तक जांच हो चुकी है।
जेएन मेडिकल कॉलेज, पं. दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय, प्राइवेट लैब एवं एंटीजन जांच में 21 लोग संक्रमित पाए गए हैं। विधायक अनिल पाराशर को दो दिन पहले तेज बुखार एवं खांसी हुई थी। उसके बाद उन्होंने कोरोना टेस्ट कराया था।
धनात्मक रिपोर्ट आने के बाद वह पंडित दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती हो गए हैं। विधायक के सरकारी अस्पताल में भर्ती होने की शहर में खूब चर्चा है। सभी उनके फैसले की तारीफ कर रहे हैं। विधायक ने संपर्क में आए लोगों से कोरोना जांच कराने का आग्रह किया है। एक हेल्थ केयर सेंटर के दो चिकित्सक, गीता विहार कॉलोनी के 4 लोग भी संक्रमण की चपेट में आए हैं। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि संक्रमितों को कोविड अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। परिजन एवं संपर्क में आए लोगों की जांच के लिए नमूना लिया जाएगा।
... और पढ़ें

दोस्ती... फिर प्यार और शादी के बाद युवती उत्पीड़न का शिकार

स्वर्ण जयंती इलाके के कारोबारी घराने की बेटी दोस्ती, प्यार और शादी के बाद उत्पीड़न का शिकार हुई है। 29 अक्तूबर को युवती द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर सिविल लाइंस पुलिस ने मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। मगर, अब नई तहरीर देकर युवती ने जबरन धर्म बदलकर निकाह करने, दुष्कर्म करने जैसे गंभीर आरोप भी मढ़ दिए हैं, जिनकी पुलिस स्तर से विवेचना की जा रही है। साथ ही युवती के कोर्ट में बयान दर्ज कराने की भी तैयारी है।
जानकारी के अनुसार, वर्ष 2016 में युवती की मुलाकात सिविल लाइंस दोदपुर निवासी युवक से हुई। युवक ने खुद को जामिया उर्दू के मालिकाना परिवार से जुड़ा होना बताया और एएमयू कुलपति से करीबी बताकर उसकी नौकरी लगवाने का झांसा दिया। एएमयू ड्रामा क्लब में एक्टिंग के दौरान नजदीकियां होने पर दोनों में प्यार हुआ। युवती का आरोप है कि उसने उसे कुछ इस तरह का खिलाना पिलाना शुरू कर दिया कि वह भला बुरा न सोचने की स्थिति में आ गई। दिल्ली में हजरत निजामुद्दीन इलाके में उसने उसका जबरन धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कर लिया। युवती का नाम भी बदला गया।
बाद में उसके परिवार, दोस्तों ने उसका उत्पीड़न शुरू कर दिया। दहेज के लिए उसे पीटा जाने लगा। उसके साथ गंदा काम किया जाता। पिस्तौल के बल पर उसकी अश्लील वीडियो बनाई जाती। उसका गर्भपात भी कराया गया। 17 अक्तूबर को वह वह गुरुग्राम स्थित अपने दफ्तर गई तो पति दिल्ली स्थित घर से उसके रुपये, जेवर लेकर गायब हो गया। आरोप है कि पति के एएमयू छात्र नेता दोस्तों ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया।
इसके बाद उसने यहां दीवानी न्यायालय में तलाक का मुकदमा दायर कर दिया है। 29 अक्तूबर को इसी मुकदमे की पैरवी के सिलसिले में युवती यहां आई तो उसके साथ दीवानी में मारपीट की गई। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस रविंद्र दुबे के अनुसार, दीवानी में हुई मारपीट की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। उसी दिन की घटना की युवती द्वारा दी गई तहरीर पर दोदपुर निवासी पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। अब युवती ने नई तहरीर दी है, जिसमें पति व उसके साथियों पर दुष्कर्म सहित अन्य तमाम गंभीर आरोप लगाए हैं। युवती पति के घर में ही रह रही है। नामजद गायब है। जांच की जा रही है। युवती के बयान अदालत में कराए जाएंगे। जो तय होगा, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

खेतों से आलू निकला नहीं... और सौदेबाजी शुरू

आशीष श्रीवास्तव
किसानों का आलू खेतों से निकला नहीं है, लेकिन सौदेबाजी अभी से शुरू हो गई है। आलू के आसमान छूते दाम और भविष्य में भी इसके महंगा रहने की संभावना के चलते दिल्ली, पंजाब समेत अन्य राज्यों की बड़ी कंपनियों और खरीदारों ने अभी से खरीद-फरोख्त शुरू कर दी है। किसानों से सीधे संपर्क करके 1400 से 1600 रुपये क्विटल के हिसाब से सौदे हो रहे हैं। ऐसे में मार्च में होने वाली आलू की खुदाई के बाद भी आलू के दाम कम होने के आसार नहीं हैं।
क्या कहते हैं किसान
- दिल्ली की एक पार्टी ने संपर्क किया था। 1400 रुपये प्रति क्विंटल में 600 पैकेट आलू का सौदा हुआ है। फरवरी में आलू खुदाई शुरू होते ही वे खेत से ही माल उठा लेंगे।
- विनीत, किसान, गाँव महुआ
- बाहर की पार्टियों ने तो नहीं, जिले के ही कुछ आढ़तियों और बिचौलियों ने आलू खरीदने के लिए संपर्क किया था। उन्हें मना कर दिया है। किसानों के आलू की असल खरीद आगरा में होती है। अलीगढ़ में यह सौदेबाजी पहली बार सुनी है। - रूपन सिंह, किसान, गाँव खेड़िया
- बाहर की कंपनी और बिचौलिए गांव में आकर किसानों से आलू के लिए सौदेबाजी कर रहे हैं। गांव में आपस में भी सौदे हो रहे हैं। -- संजय चौहान, किसान, गाँव हरदुआ
मंडी में आलू 40 रुपया प्रति किलो
अलीगढ़। धनीपुर मंडी के सब्जी आढ़ती बाबू भाई ने बताया कि इस समय चिप्सोना 1 श्रेणी के आलू के दाम 40 रुपये प्रति किलो हैं। जबकि बाजार में आलू 50 रुपये किलो तक बिक रहा है।
- इस साल आलू का दाम अच्छा है। अगले साल भी आलू के दाम ज्यादा ही रहने के आसार हैं। कच्चे माल के दाम भी 1400 रुपया प्रति पैकेट चल रहे हैं। यदि ऐसा ही हाल रहा तो आलू की खुदाई के समय माल कम रह जाएगा और इसके चलते आलू के दाम बढ़े रहेंगे। कई किसानों ने बताया है कि उनसे दिल्ली समेत अन्य राज्यों की कंपनियों ने आलू खरीद के लिए सौदा किया है।
- गिर्राज गोदानी, अध्यक्ष, जिला कोल्ड स्टोरेज एसोसिएशन
... और पढ़ें
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X